Chandrayaan3,क्या आपको पता है Chandrayaan3 moon mission में कौन-कौन सी कंपनियाँ शामिल हैं?

क्या आपको पता है Chandrayaan3 moon mission में कौन-कौन सी कंपनियाँ शामिल हैं?

1.Bharat Heavy Electricals Ltd (BHEL) भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल):-The economic times के अनुसाकर भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड ने Chandrayaan3 moon mission में बैट्रीज (batteries) की सप्लाई की है। और भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड के वेल्डिंग रिसर्च इंस्टीटूट (Welding Research Institute) ने bi-metallic adaptors सप्लाई किया है।

2.Larsen and Tourbo’s (L&T) लार्सन एंड टूरबो (एलएंडटी) का एयरोस्पेस विंग (aerospace wing) कंपनी  ने इस्सरो के लिए लॉन्च वाहन LVM3 M4 के लिए काम किया है।  Larsen and Tourbo’s ने अंतरिक्ष एजेंसी को महत्वपूर्ण बूस्टर सेगमेंट प्रदान किए, जो Chandrayaan-3 moon mission के लिए बहुत जरुई था ,

3.Tata Consulting Engineers Limited (TCE) टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड (टीसीई) ने भी Chandrayaan-3 moon mission के लिए काम किया है जैसे की प्रोपेलेंट प्लांट, वाहन असेंबली बिल्डिंग और मोबाइल लॉन्च पेडस्टल, और भी अन्य काम किया जो LVM3 M4 के लिए महत्वपूर्ण था। जो Chandrayaan-3 को पृथ्वी के ऑर्बिट में प्रक्षेपण करने में मदत हुआ।

4. Mishra Dhatu Nigam (मिश्र धातु निगम,) मिश्र धातु निगम, ने भो Chandrayaan-3 moon mission के लिए  महत्वपूर्ण योगदान दिया है। ये हैदराबाद

स्थित कंपनी है। ये Chandrayaan-3 moon mission में उपयोग किए जाने वाले LVM3 M4 लॉन्च वाहन के अलग अलग component में उपयोग होने वाले कोबाल्ट बेस मिश्र धातु, निकल बेस मिश्र धातु, टाइटेनियम मिश्र धातु और विशेष स्टील्स जैसी महत्वपूर्ण सामग्रियों की आपूर्ति  किया है।

5.MTAR Technologies, (एमटीएआर टेक्नोलॉजीज) The economic times के अनुसार Chandrayaan-3 के इंजन और बूस्टर पंप  एमटीएआर टेक्नोलॉजीज पर काम करने वोला कंपनी एमटीएआर टेक्नोलॉजीज जो ISRO के इस स्पेस mission में बहुत बड़ा योगदान दिया है। जो बहुत ही  महत्वपूर्ण साबित हुआ है। और आज हम  चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरकर इतिहास रच दिया है। और हम यह पहुंचने वाले पहले स्पेस agency बन गए है।

6.Godrej Aerospace और Ankit Aerospace; – अगर बात की जाइये गोदरेज एयरोस्पेस और अंकित एयरोस्पेस ने भी साबित दिया और भारत के स्पेस एजेंसी Chandrayaan-3 moon mission के लिए इंजन एंड थ्रस्टर्स का उत्पादन किया और इसके आलावा मिश्र धातु इस्पात, स्टेनलेस स्टील फास्टनर इत्यदि का सहयोग दिया।

7.Walchandnagar Industries (वालचंदनगर इंडस्ट्रीज) मीडिया रिपोर्ट The conomictimes indiatimes के अनुसार , वालचंदनगर इंडस्ट्रीज कंपनी ने इसरो के  Chandrayaan-3 moon mission के लिए महत्वपूर्ण बूस्टर सेगमेंट S200,फ्लेक्स नोजल कंट्रोल,टैंकेज और S200 फ्लेक्स नोजल हार्डवेयर की आपूर्ति किया।

Chandrayaan1

भारत का पहला chandrayaan mission 22 अक्टूबर 2008 सडीएससी शार, श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया गया था। जिसका उद्देश्य चंद्रमा की सतह से 100 किमी की दुरी पर परिक्रमा करना और चाँद के सतह के बारे में जानकारी इकठा करना था जैसे की रासायनिक, खनिज और भूगर्भिक मानचित्रण लेना। ये मिशन 29 अगस्त 2009 को अंतरिक्ष यान के साथ संचार टूट जाने के बाद इससे समाप्त हो गया।Total Mission cost 365 crore

Chandrayaan2

chandrayaan2  मिशन एक बहुत ही जटिल मिशन था।  ये मिशन 22 जुलाई 2019 को लॉन्च किया गया था। इस मिशन में ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर तीनो शामिल था। इस मिशन का उदेश्य चन्द्रमा  के दक्षिणी ध्रुव  रोवर को भेजकर चाँद की सतह का रासायनिक संरचना,खनिज पहचान, भूकंप विज्ञान  और चन्द्रमा का कमजोर वातावरण का अधययन करने के लिए बनाया गया था। लेकिन 6 सितंबर 2019 को लैंडिंग करते वक्त क्रैश कर गया और ये मिशन यही समाप्त हो गया।                                                                                                                                                                              Total Mission cost: -978 crore.

Chandrayaan3 Mission

Chandrayaan-3 moon mission

Chandrayaan3 Moon मिशन 14 जुलाई 2023 को लॉन्च किया गया था। इसके साथ भी मिशन Chandrayaan2 की तरह  विक्रम नामक एक लैंडर और प्रज्ञान नामक एक रोवर शामिल है। इसका भी काम चाँद  दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र के पास उतरना था। मिशन दो के तरह ही इसका काम चाँद के सतह  पर मौजूद मिनरल्स ,खनिज पहचान, सतह रासायनिक संरचना, और चाँद का वतावरण के बारे में पता लगाना है।  इसके साथ और भी बहुत कुछ जो चाँद की सतह पर उपलबध है उसकी जानकी प्राप्त करना।

और finally भारत ने इतिहास रच दिया Chandrayaan3 मिशन  चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर 23 अगस्त 2023 को पहुंच गया और वहां पर उतरने वाला पहला देश बन गया और इसके साथ ही चन्द्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया।

U.S, Russia, China के बाद अब भारत सॉफ्ट लैंडिंग करने वोला देश बन गया है।

Total Cost of Mission: –   615 Crore

Bharat Heavy Electricals Ltd..फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                     ₹ 37,484.41 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return              105.6%

पिछले तीन  साल का CAGR Return            38.9%

पिछले पांच   साल का CAGR Return           6.5%

 

पिछले एक साल का Profit Growth            9.09%

पिछले तीन  साल का Profit Growth           32.07%

पिछले पांच  साल का Profit Growth           -11.11%

 

पिछले एक साल का Sales Growth             10.15%

पिछले तीन  साल का Sales Growth            2.88%

पिछले पांच  साल का Sales Growth            -4.11%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ ₹ 5,385 Cr. का है।

कंपनी के पास CASH ₹ 6,642.58 Cr का है।

Larsen & Toubro Ltd. फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                           ₹ 3,77,859.46 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return                  43.5%

पिछले तीन  साल का CAGR Return                40.0%

पिछले पांच   साल का CAGR Return              14.9%

 

पिछले एक साल का Profit Growth               -0.39%

पिछले तीन  साल का Profit Growth              5.53%

पिछले पांच  साल का Profit Growth              7.82%

 

पिछले एक साल का Sales Growth                  9.41%

पिछले तीन  साल का Sales Growth                10.28%

पिछले पांच  साल का Sales Growth                8.21%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ 18,151.09 Cr.का है।

कंपनी के पास CASH ₹ 4,569.64 Cr.का है।

Tata Consulting Engineers Limited (TCE) टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड अनलिस्टेड

ये कंपनी महारास्ट के मुंबई में है।

ये दिसंबर 1999 में स्टार्ट किया गया था। ये स्टॉक मार्किट अभी लिस्टेड नहीं है। इसका ट्रेडिंग नहीं होता  है।

For More Information

Facebook page Click here
Facebook group Click here
Telegram channel Click here
YouTube Click here
WhatsApp Click here
Instagram page Click here

 

Mishra Dhatu Nigam Ltd. फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                           ₹ 7,459.88 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return                  115.1%

पिछले तीन  साल का CAGR Return                  22.2%

पिछले पांच   साल का CAGR Return                 23.0%

 

पिछले एक साल का Profit Growth               6.02%

पिछले तीन  साल का Profit Growth              10.53%

पिछले पांच  साल का Profit Growth              6.9%

 

पिछले एक साल का Sales Growth                5.69%

पिछले तीन  साल का Sales Growth               6.53%

पिछले पांच  साल का Sales Growth               2.14%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ ₹ 267.58 Cr.का है।

कंपनी के पास CASH ₹₹ 62.58 Cr..का है।

MTAR Technologies Ltd.फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                              ₹ 7,089.78 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return                      40.0%

पिछले तीन  साल का CAGR Return                     27.1%

पिछले पांच   साल का CAGR Return                  15.5%

 

पिछले एक साल का Profit Growth                    70.95%

पिछले तीन  साल का Profit Growth                   49.23%

पिछले पांच  साल का Profit Growth                  74.59%

 

पिछले एक साल का Sales Growth                    78.05%

पिछले तीन  साल का Sales Growth                   38.94%

पिछले पांच  साल का Sales Growth                   29.63%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ ₹ 142.79 Cr.का है।

कंपनी के पास CASH ₹ 30.98 Cr…का है।

For More Information

Zomato share prices target 2030 Click here
Tata Elxsi share price target 2030 Click here

 

chandrayaan में निवेश करने वाली कंपनी की Sales और Profit

SALES GROUTH

PROFIT GROUTH

 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

Ankit Aerospace & Godrej Aerospace

Ankit Aerospace & Godrej Aerospace अभी तक स्टॉक मार्किट में लिस्टेड नहीं है। तो इन में भी अभी ट्रडिंग नहीं कर सकते है।

संक्षिप्त विश्लेषण:

BHEL की बड़ी CAGR Return दिखाती है, विशेषकर पिछले एक साल में। लाभ और बिक्री में भी वृद्धि दर्शाई जा रही है।

L&T ने भी पिछले कुछ सालों में अच्छे प्रदर्शन किया है, उनकी CAGR Return और बिक्री में वृद्धि है, हालांकि पिछले एक साल में लाभ थोड़ी कमी दिखाई देती है।

Mishra Dhatu ने भी बिक्री और लाभ में वृद्धि  है, विशेषकर पिछले एक साल में। CAGR Return भी तेज है।

CGR RETURN

बात की जाइये कंपनी के कर्ज की तो BHEL ,L&T ,और Mishra Dhatu का कर्ज अपने कॅश से कम है यानि ये कंपनी जब चाइये तब अपना पेमेंट पूरा कर सकती है।  इसका मतलब ये है ये तीनो कंपनी virtually debt free है।

DEBT FREE

आप  तीनो कंपनी में SIP के द्वारा थोड़े थोड़े पैसे इन्वेस्ट कर सकते है। और एक बड़ा wealth Create कर सकते है।

Note:-आप से कहना चाहुगा आप को भी इन्वेस्टमेंट करने से पहले अपने वित्तीय पेशेवर से सलाह लेना  चाहिए। मै  SEBI register adviser नहीं हू इन्वेस्ट करने से पहले खुद से अच्छे से जांच कर सोच समझ कर इन्वेस्ट करे। और ये आपका खुद का Decision होगा।

FAQ:-

 

chandayaan 3 कब तक काम करेगा ?

Chandrayaan3 Moon मिशन 14 जुलाई 2023 को लॉन्च किया गया था। ये चाँद की सतह पर 14 दिन तक काम करेगा। क्यों की चाँद की दक्षिणी ध्रुव पर Earth के सामान रात और दिन नहीं होता है। वहां earth के 14 दिन चाँद पर  एक दिन के सामान होता है। जैसे ही वहा रात होगा ठण्ड बहुत ज्यादा हो जाइएगा जिससे रोबर और लैंडर काम करना बंद कर देंगे।

Chandrayaan 2 क्यों हुआ फेल हुआ ?

Chandrayaan 2  का फ़ैल होने का सबसे बड़ा कारण टेक्निकल फॉल्ट था।   जब Chandrayaan 2 लैंड कर रहा था तब विक्रम लैंडर फिक्स 55 डिग्री के बजाय 410 डिग्री तक झुक गया था जिससे  चंद्रमा की कक्षा में  स्थापित होने से पहले ही संपर्क से टूट गया। जिससे चन्द्रमा की सतह पर जा कर क्रैश  कर गया।

Leave a comment

शेयर मार्किट से कमाना बहुत आसान है ? Zomato share price target 2024,2025 ,2026 ,2027,2028 ,2030 ,2040 ,2045 ,2050, 2055 to 2060 Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी, अगस्त बिक्री डेटा का असर।