what is ce and pe in stock market?

 About CE & PE

दोस्तों अगर आप CE और PE के बारे में जानना चाहते है। तो इसका मतलब है आप कही न कही आप स्टॉक मार्केट में आने का सोच रहे है , या फिर आप स्टॉक मार्केट में  नये  निवेशक या ट्रेडर हो सकते है , जैसा की आपने question किया है  what is ce and pe in stock market?  दोस्तों मै यह बता दू , की यह CE and PE दोनों स्टॉक मार्केट के ऑप्शन ट्रेडिंग से relate करता है।

 

**स्टॉक मार्केट में CE और PE का मतलब (Meaning of CE and PE in the Stock Market) **

स्टॉक मार्केट में “CE” और “PE” दो महत्वपूर्ण शब्द होता  हैं।  जो निवेशकों के लिए अत्यधिक importance  रखता है।  “CE” का मतलब है ‘call  option ‘ और “PE” का मतलब है ‘put  option ‘

बात की जाइये इसके full form की तो CE का full फॉर्म Call European, और PE का full form” put European” होता है  इसलिए CE and Pe in stock market  used as  option trading .

 

Use of CE and PE in stock market

 

सबसे पहले जानते है CE का use, जैसा की आपको पता है यह  स्टॉक मार्केट के option ट्रेडिंग और investing में use किया जाता है।

CE यानि call ऑप्शन एक ऐसा विकल्प देता है।  जिसमे एक तरफ buyer और दूसरे तरफ seller होता है।

call सेलर को लगता है।  मार्केट  एक particular रेंज में रहेगा।  या मार्केट downtrend में  रहेगा तो।  कॉल सेलर option के Call को sell करता है।  और इसके विपरीत जो कॉल buyer होता है।  उससे लगता है की स्टॉक मार्केट आने वाले समय में ऊपर जायेगा  यानि मार्केट uptrend में रहेगा तो  वह कॉल को buy करता है।  और अगर मार्केट buyer और सेलर के विपरीत होता है।  तो profit और loss के दोनों भागीदार होते है।इससे आप समझ गाइये होंगे what is CE in stock market option trading.

 

Use of PE in stock market

 

जैसा की आप जानते है PE का मतलब होता है , PUT option , यह ट्रेडिंग और investing का एक ऐसा तरीका है।  जिस में इन्वेस्टर और ट्रेडर एक particular expire तक अपने स्टॉक को होल्ड कर सकते है। और expire बाद अपने स्टॉक को या तो रोल ओवर करना परता है या position से exit होना परता है।

Option के PE ट्रेडिंग में एक तरफ PE स्ट्राइक प्राइस का buyer होता है , और दूसरे तरफ PE seller होता है। Seller को लगता है की मार्केट ऊपर की तरफ जाइएगा और buyer को लगता है की मार्केट निचे आइयेगा। तो सेलर PE put option को सेल्ल करता है। और Buyer put buy करता है।

इस तरफ buyer और सेलर के बिच transition complete होता है। और ये दोनों प्रॉफिट और loss के भागीदार होते है।   इस तरह आप समझ सकते है what is ce and pe in stock market?

what is ce and pe in stock market

Most importance rule of what is CE and PE in stock market?

 

CE and PE दोनों स्टॉक मार्केट के Popular words है। और इन्ही दोनों words से आज कोई लाखो  करोड़ो कमा रहा है।  तो कोई रो रहा है।  अपने सारे पैसे गवा कर।

CE and PE यही दो words है जो लगो को बहुत आकर्षित करता है। और नई निवेश आते है। और बिना सीखे समझे स्टॉक मार्केट के सबसे danger जगह  कूद जाते है। सारा पैसा गवा बैठते है। और आखिर में स्टॉक मार्केट से बहार हो जाते है।

दोस्तों अगर आप भी नये है। सबसे पहले इससे जाने समझे और अच्छे learning करने के बाद small quantity में buy and sell करे। फिर आप success हो सकते है।

आइये जानते है CE and PE के most important point

CE and PE most important point

  1. PE and CE stock market के option trading में use होता है।
  2. PE and CE किसी भी stock और nifty-50 इंडेक्स और बैंक nifty इंडेक्स में होता है।
  3. किसी particular stock जिसमे F&O में इंडेक्स हो। यानि जिसमे option ट्रेडिंग facility available हो उसे में आप ट्रेडिंग कर सकते है।
  4. सभी option में buy या sell करने से पहले एक expire date fixed होता है। यदि आप option buy या sell करते है तो एक particular date तक आपको अपने trade को होल्ड कर सकते है , उसके बाद वह option जीरो हो जाता है। या expire हो जाता है।
  5. Option ट्रेडिंग में अगर आप sell करना चाहते है तो आपको ज्यादा पैसे देने होते है , लेकिन option seller का winning probability ज्यादा होती है। और buyer का winning probability कम होता है।

 

 

Example of a Call and Put Option  trading in stock market

example of CE and PE https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

 

 

 

 

मान लीजिए आप निफ़्टी-50 इंडेक्स में option ट्रेडिंग करना चाहते है। suppose मार्केट अभी 19700 पर trade कर रहा है। और 19700 का strike price 100 रुपए है। और आपको लगता है की मार्केट अब निचे की तरफ जाइएगा।

चुकी आप buyer है तो, आप उस समय 19700 strike prices का 100 रुपए का Put एक lot buy कर लेते है।

एक lot लेने  के लिए आपको लगभग 100×50 = 5000 रुपए देने पड़ेगा।

अगर आप सही  है और  market निचे आया तो आप के put का primum बढ़ जायेगा।   यदि मार्केट चला गया 19600 पर तो आपके Put का prices बढ़ कर 140 हो गया तो आप को एक lot पर 40×50 =2000 का प्रॉफिट हो जाता है।और यदि आप गलत हुए तो इतने ही loss भी हो सकता है।

 

इसी प्रकार आप Call option में भी ट्रेडिंग कर सकते है।  यदि आपको लगता है मार्केट ऊपर जाइयेगा तो आप call buy कर सकते है।

इस तरह दोस्तों आप समझ सकते है . what is ce and pe in stock market? लेकिन ये सब करने से पहले आपको option की knowledge होना चाइये।

For more information
Facebook page Click here
Facebook Group Click here
WhatsApp Group Click here
Telegram channel Click here
YouTube channel Click here

 

 

CE और PE का उपयोग क्यों करें (Why Use CE and PE

Why Use CE and PE

 

 

 

CE और PE का उपयोग निवेशक बहुत अच्छे से करते है। क्यों इसका use कर अपने position को हेज कर लेते है।  क्यों की जो long term investor होते है। उन्हें अपने portfolio को balance करने के लिए सबसे ज्यादा use करते है।  निवेशक हर समय अपने portfolio को देख कर निर्णय लेता है।  की कौन सा स्टॉक overvalue और कौन सा शेयर अंडर value है।  फिर option को buy या sell करते है।

जो रिटेल investor है अगर इसका use अपने position को हेज करने में करेंगे तो definitely अच्छा रिजल्ट आता है।

 

स्टॉक निवेश में CE और PE का तीन महत्वपूर्ण पॉइंट।

(Top 3 Importance of CE and PE in Stock Investing)

 

CE और PE का तीन महत्वपूर्ण पॉइंट जिसे use कर बड़े निवेशक बहुत सारा पैसा कमाते है। और आप आसानी से समझ सकते है what is ce and pe in stock market?

 

  1. Risk Management: – call और put का use कर आप अपने long term investing में अच्छा कमा सकते है। इसके द्वारा अपने potion को हेज  कर सकते है।  और अपने Risk को कम कर सकते है।

 

  1. Valuation of Prices CE और PE के माध्यम से निवेशक सही समय पर निवेश करने के फैसले ,ले  सकते  हैं। कॉल विकल्प का उपयोग नुकसान से बचाने और लाभ कमाने में मदद करता है, और PE अनुपात कंपनी की मूल्यों की तुलना करने में मदद कर सकता है।

 

  1. Investment Decisions CE और PE के माध्यम से निवेशक सही Investment Decisions लेने में मदत ले सकते है ,

 

 

सारांश  (Summary and Investment Insight)

 

दोस्तों CE और PE दोनों stock option और index option का पार्ट है।  इसके द्वारा आप अपने position को हेज कर सकते है।

साथ ही आप अपने position को option expire तक होल्ड कर सकते है।  यह तक आप इस सेगमेंट में intraday भी कर सकते है।  और प्रॉफिट और लॉस के भागीदार बन सकते है।

हाला की ऑप्शन ट्रेडिंग जितना आसान लगता है उतना आसान नहीं है।  लेकिन आप अपनी समझ और भुज के साथ इस सेगमेंट से अच्छा पैसा कमा सकते है।

क्यों की इस सेगमेंट यानि ऑप्शन ट्रेडिंग का खास बात ये है की ये ज्यादा तर ऑप्शन सेलर को प्रॉफिट देता है। और इस सेगमेंट में option सेलर की विनिंग probability ज्यादा होती है। इस तरह दोस्तों आप  उपरोक्त  सारांश से समझ सकते है what is ce and pe in stock market? 

Great FAQ for You

What is PE and CE in stock market?

PE का मतलब होता है put option से और इसका full फॉर्म होता है Call European, और CE का मतलब होता है Call option से जिसका full फॉर्म होता है Call European. ये दोनों टर्म स्टॉक मार्केट के option ट्रेडिंग से है।  जिसमे put buyer सोचता है , मार्केट निचे गिरे और call buyer सोचता है मार्केट ऊपर जाये जिन से उन्हें मुनाफा हो।

Best indicator for option trading?(ऑप्शन ट्रेडिंग के best indicter?)

Option ट्रेडिंग के लिए बहुत सरे indicator है but इनमे से सबसे ज्यादा important है। open interest, जो दिखाता है किस strike prices पर कितना option writing हुए है। और delta, gamma, theta, volume, and strike price ये सब बेसिक indicate है जो बहुत importance है option ट्रेडिंग के लिए।

delta kise kahate hain ? in option trading

Option trading में delta -1 से लेकर +1 तक होता है।  अगर किसी स्टॉक के strike  prices का  डेल्टा +1 है।   इसका मतब  अगर स्टॉक 1 पॉइंट moves करता है तो उसके option का premium जिसका डेल्टा +1 है 1 पॉइंट मूव कर जाइएगा। इस तरह जितना डेल्टा कम उतना option का premium कम move या fluctuate  करता है।

Option trading kaise sikhe?

option ट्रेडिंग सिखने के लिए सबसे पहले आपको बेसिक option ट्रेडिंग के बारे में पढ़े। चाहे आप ऑनलाइन या ऑफलाइन बहुत सारे ऑप्शन Available है. जो आपको आसनी से सीखा सकते है। और उसके बाद एक अच्छा डीमेट अकाउंट खोले। और एक lot से धीमे धीमे ट्रेडिंग करना सीखे।
For more information also read it:-

share market me paisa kaise lagaye

“शेयर मार्केट: एक लेखक के नजरिए से”share market me paisa kaise lagaye

अगर आप शेयर मार्केट में पैसे लगाने का सोच रहे है। या शेयर मार्केट में पैसे लगा रहे है। और जानना चाहते है पैसे कैसे लगाइए ,जिस से ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो  तो आप सही जगह पर  है  हम बातएंगे और सिखाएंगे share market me paisa kaise lagaye ?  जिस से हर एक रिटेल इन्वेस्टर को मुनाफा हो।

 

दोस्तों आज के डिजिटल युग में शेयर मार्किट का डिमांड बढ़ता ही जा रहा है अगर बात की जाइये  “जुलाई 2023 की तो   एक मिलियन नए डीमैट खाते खोले गए, जिसकी संख्या पिछले 18 महीनों में सबसे अधिक है। बात की जाइये CDSL और NSDL  डिपॉजिटरीज़ की तो इनके अनुसार जनवरी 2022 के बाद सबसे अधिक और  50 प्रतिशत ज्यादा है। पिछले 12 महीने में 2 मिलियन के करीब डीमेट अकाउंट खुले है।  जिसे से , डीमैट खातों की कुल संख्या अब 123.50 मिलियन के नए उच्च स्तर पर है। इस से पता चल रहा है की बहुत से रिटेल इन्वेस्टर मार्किट में आ रहे  है  और उन्हें पता नहीं है share market me paisa kaise lagaye ?

 

शेयर मार्किट से पैसा कामना बहुत आसान है ? लेकिन उस पैसे को बचा पाना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए हम आज आपको share market me paisa kaise lagaye इसका सबसे आसान तरीका बताएंगे जिससे नए रिटेल इन्वेस्टर को ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो। अगर स्टॉक मार्किट की इतिहास को देखा जाइये तो 90% रिटेल इन्वेस्ट स्टॉक मार्किट में अपने पैसे को लूज़ करते है।

वह अपनी गलती और जल्दी पैसे कमाने के लालच में अपना पैसा गवा बैठते है।और स्टॉक मार्किट को अलबिदा कर देते है। दोस्तों आपको ऐसा नहीं करना है आपको यहां  से पूरा नॉलेज मिलेगा जिस से  आप अपने पैसे को बचाने  के साथ साथ पैसा कमा भी सकते हो।

तो आगे इस ब्लॉग को बड़े ध्यान  पढ़े जिस से आप नुकसान से बच सको। और सीख सको की share market me paisa kaise lagaye?

 

“शेयर मार्केट: पारंपरिक परिचय और विशेषता – PART 1”

 

शेयर मार्केट का परिचय: जानिए इसका महत्व

 

शेयर मार्केट – एक आर्थिक दुनिया  है। जहां पैसो की कोई कमी नहीं बस लोगो को नॉलेज की कमी है  और  share market me paisa kaise lagaye उस से पहले एक छोटा परिचय जान लेते है। आखिर स्टॉक मार्किट क्या है ?

दोस्तो शेयर मार्किट का नाम तो आपने सुना होगा जहा पर कंपनी के शेयर को खरीद और बेच सकते है।  यह एक वित्तीय विनिमय की दुनिया का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस मार्किट में किसी भी कंपनी के शेयर को खरीद कर आप उस कंपनी के हिसेदार बन जाते है।  और उस कंपनी के लाभ और हानि के भागीदार बन जाते है।  अगर वह कंपनी बहुत अच्छा Preform करती है तो आपको लाभ मिलता है।  और कंपनी का शेयर prices बढ़ जाता है। इसके बिपरीत अगर कंपनी अच्छा perform नहीं करती है। तो इन्वेस्टर को हानि भी हो सकता है।

 

Share market me invest kaise kare? और share market me paisa kaise lagaye?

 

शेयर मार्किट में पैसे कैसे लगाते  है और कैसे इन्वेस्ट करते है? इस question का answer देने से पहले ये जानना जरुरी है की से पहले शेयर मार्किट कितने प्रकार के है?

  1. भारतीय स्टॉक मार्किट के दो मुख्य इंडेक्स है जिसे निफ़्टी-50, और सेंसेक्स कहा जाता है। ये NSE और BSE पर ट्रेड होते है जिस में भारत की टॉप कंपनी ट्रेड करती है। (BSE) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज,और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) , कोई भी आम आदमी किसी भी dement अकाउंट के द्वारा इस एक्सचेंज पर ट्रेड कर सकता है।

 

  1. commodity market सोना, चांदी, तेल, गैस, और अन्य कमोडिटीज का ट्रेड होता है। इसके अलावा कच्चा माल जैसे चीनी, कपास, कॉफी बीन्स आदि यह मार्किट में ट्रेड होता है। यह commodity मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (MCX) एक्सचेंज पर ट्रेड होता है।

इस में भी पैसे  किसी भी dement अकाउंट के द्वारा लगा कर इन्वेस्ट किया जा सकता है , लेकिन कमोडिटी मार्किट का नॉलेज होना चाइये।

  1. म्यूच्यूअल फंड स्टॉक मार्किट में जिसे स्टॉक की समझ कम हो और जिनके पास टाइम की कमी हो और वह स्टॉक मार्किट में पैसा लगाना चाहते है और स्टॉक मार्किट का फायदा लेना चाहते है , तो उन्हें म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करना चाइये। क्यों की यहां पर आप continue किसी भी फण्ड में इन्वेस्ट कर सकते हो अपने रिस्क प्रोफाइल के हिसाब से। अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

 

शेयर मार्केट में पैसे लगाने का तरीकाPART 2”

 

शेयर मार्केट में पैसा लगाने के कदम,“Strategies for Investing in the Stock Market,आइये जानते है share market me invest kaise kare?और share market me paisa kaise lagaye?

हम यहां विस्तार से देखेंगे की शेयर मार्किट में पैसा कैसे लगाइये और कैसे इन्वेस्ट करे?

शिक्षण प्राप्त करें (Educate Yourself):

दोस्तों शेयर मार्किट में आने से  पहले  अपने आप को Educate करना पड़ेगा तभी आप शेयर मार्किट में successful हो सकते हो। शेयर की किताबें पढ़ें,  कम से कम बेसिक नॉलेज होना चाहिए।

*ऑनलाइन कोर्सेस*: –

ऑनलाइन कोर्स, और बहुत सरे ओपन sources है जहा से आप   शेयर मार्किट के बारे में नॉलेज ले सकते हो। और YouTube video भी अच्छा ऑप्शन हो सकता है। जहा से आप सिख सकते है।

*वित्तीय सलाह लें*: –

एक वित्तीय सलाहकार से  आप अपने इन्वेस्ट का नॉलेज और आपके वित्तीय लक्ष्यों के साथ निवेश की सलाह ले सकते है।

 

डीमैट खाता खोलें (Open a Demat Account):

शेयर मार्किट में निवेश करने का पहला स्टेप है एक अच्छा डीमेट अकॉउंट अगर आपके पास अच्छा डीमेट अकाउंट नहीं है तो ट्रेडिंग में आगे चलकर प्रॉब्लम हो सकता है।

डीमेट अकाउंट खोलने के लिए सबसे आसान तरीका ऑनलाइन है। इसके लिए आपको कुछ जरुरी डॉक्यूमेंट की जरुरत पड़ेगा। जैसे की

*आधार कार्ड *

*पेन कार्ड *

*बैंक अकाउंट*

ये तीनो डॉक्यूमेंट के साथ 24 hours में डीमेट अकाउंट खुल जाता है। बात की जाइये अच्छा डेमेन्ट अकाउंट की तो आपको Zerodha जो डिस्काउंट ब्रॉकर है जो भारत का नंबर 1 है। आप इसको consider कर सकते है। 

 

निवेश की योजना बनाएं (Create an Investment Plan):

निवेश की योजना बनाना भी एक बहुत बड़ा task है। इसके लिए आपको सबसे पहले वित्तीय लक्ष्य, निवेश की अवधि और आपकी रिस्क लेने की capacity जानना बहुत जरुरी है।

आइये ये उदाहरण से समझते है share market me paisa kaise lagaye? और इसकी  निवेश की योजना

उदाहरण के लिए

आपका लक्ष्य: – 1 करोड़ रुपए का है और ये पैसे आपको घर बनाने ,बच्चो की शादी या अन्य काम के लिए लक्ष्य बना सकते है।

इसके लिए आप अपने से भी निवेश कर सकते है। , और सलहकार की मदत भी ले सकते है। और एक सही फण्ड का चुनाव कर के इन्वेस्ट कर सकते है।

 

प्रारंभिक निवेश करें (Start with Initial Investments):

नए निवेशकों के लिए यह अच्छा तरीका होता है की वह शेयर मार्केट में छोटे छोटे अमाउंट से निवेश स्टार्ट करे। ताकि की वह शेयर मार्किट को अच्छी तरह समझ पाइये। और उसके के अंदर शेयर मार्किट के प्रति आत्म-विश्वास बढ़ जाये और फिर आसानी से share market me paisa kaise lagaye सिख जाइयेगे.

निवेश को मॉनिटर करें (Monitor Your Investments):

निवेश को नियमित रूप से ट्रैक करना  महत्वपूर्ण होता  है। जब आप निवेश करते है तो अपने निवेश की स्थिति और  नियमित अंतराल पर जांचना चाहिए और अगर आवश्यक हो तो उससे अपडेट करना चाहिए।


शेयर-मार्केट-में-पैसे-लगाने-का-तरीका

 

निवेश के लिए सलाह और टिप्स PART 3”

यदि आप को शेयर मार्केट का बेसिक और share market me paisa kaise lagaye ये पता है तो

शेयर मार्केट में पैसे लगाते समय निवेश की सलाह और टिप्स महत्वपूर्ण होता है। यहां कुछ महत्वपूर्ण सुझाव हैं

निवेश की सलाह लें (Seek Investment Advice):

यदि आप नए निवेशक हैं और स्टॉक मार्केट का बेसिक नॉलेज रखते है तो आपको एक वित्तीय सलाहकार का सलाह लेकर उचित निवेश करना चहिये।

निवेश की विविधिकरण करें (Diversify Your Investments):

यदि आप निवेश करना स्टार्ट कर दिए है तो अपने पोर्टफोलियो को Diversify चाहिए इससे आपका रिस्क कम हो जाता है। और प्रॉफिट का चांस ज्यादा बढ़ जाता है।

 

सब्र रखें (Exercise Patience):

शेयर मार्केट में सफलता पाना है और यदि आप सब्र रखना सिख चुके है और share market me invest kaise kare?और share market me paisa kaise lagaye? ये जानते  है।  तो आपको सफल होने से कोई रोक नहीं सकता है।

क्यों की स्टॉक मार्केट बहुत ही volatile होता है। यहां सब्र रखना बहुत important है।

For More Information

Join the Facebook page                                                                     click here

Join the Facebook group                                                                   click here

Join Telegram                                                                                     Click here

Join the WhatsApp                                                                            click here

Join Instagram                                                                                    click here

Join YouTube                                                                                       click here

 

 

निवेश में सफलता पाने के उपाय PART: -4

 

निवेश में सफलता पाने के लिए और Share market me kaise invest kare इसके उपायों को समझना बहुत महत्वपूर्ण है।

यहां कुछ उपायों को समझते है।

नियमित रूप से मार्केट का अध्ययन करें (Regularly Study the Market):

स्टॉक मार्किट को  नियमित रूप से अध्ययन करने से  स्टॉक का ट्रेडिंग पैटर्न्स, स्टॉक का ट्रेडिंग Nature ,और fundamental analysis  समझ कर अपने निवेश को भेहतर बना सकते है।

वित्तीय लक्ष्य तय करें (Set Financial Goals):

जब आप निवेश स्टार्ट करते है। अर्थात निवेश के प्रारंभ में ही आपको अपने वित्तीय लक्ष्य स्पष्ट  होना चाहिए इससे निवेश में सही दिशा में आगे बढ़ने में  मदत मिलता है।

अपने निवेश को नियमित रूप से मॉनिटर करें (Regularly Monitor Your Investments):

निवेश की स्थिति को नियमित रूप से अपडेट करना बेहद आवश्यक है।  चेक करते रहना चाहिए की आप का निवेश सही दिशा में जा रहा है की नहीं।

share market me paisa kaise lagaye

 

निवेश के बाद क्या करे ?(What After Investment) PART-5

Share market me nivesh करने के बाद Share market me paise को कैसे बढ़ाये ? और अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाने होंगे।

 

निवेश की स्थिति को मॉनिटर करें (Monitor the Investment):

सही समय पर लाभ निकालें (Withdraw Profits at the Right Time):

निवेश को विविधिकरण करें (Diversify Investments):

निवेश को बढ़ावा दें (Grow the Investment):

निष्कर्ष

दोस्तों अगर आपने शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने का मन बना लिया है। या फिर इन्वेस्टिंग स्टार्ट कर दिया है। अगर आप ऊपर समझाये हुए Point पर ध्यान देकर इन्वेस्ट करते है तो आप जरूर सफल होंगे। शेयर मार्किट में थोड़ा धैर्य बना कर इन्वेस्ट करना होता है। इससे आपको को प्रॉफिट का चांस  बढ़ जाता है।

और आप easily सिख जाते है Share market me invest kaise kare?

Could you read it?

जोमाटो शेयर Target

टाटा Elxsi शेयर Target

 

सूचना: यह लेख केवल निवेश से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से लिखा गया है और किसी भी निवेश निर्णय की सलाह नहीं है। साथ ही, निवेश के साथ आरंभिक जोखिमों को समझने और सलाहकार से परामर्श लेने की सलाह दी जाती है। इसलिए, निवेश करने से पहले एक वित्तीय सलाहकार से परामर्श लेना बेहद महत्वपूर्ण है।

शेयर मार्केट में कैसे पैसा लगाया जाता है?

1 . सबसे पहले एक डिस्काउंट ब्रोकर के पास डीमेट अकाउंट खोले
2 . थोड़ा बेसिक नॉलेज ले कैसे स्टॉक ख़रीदा और बेचा जाता है।
3 . उसके बाद डेमेन्ट अकाउंट में पैसा ऐड करे
4 . शेयर का चुनाव करे
5 . उसके बाद buy or sell करे।
6 . लेकिन ये सब करने के लिए स्टॉक मार्केट का बेसिक पता होना चाहिए वरना लॉस हो सकता है।

भविष्य में कौन सा शेयर सबसे ज्यादा रिटर्न देता है?

भविष्य में सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले शेयर की बात की जाइये तो ये कंपनी के फंडामेंटल पर डिपेंड करता है।
अगर कंपनी का fundamental ठीक है तो कंपनी फ्यूचर में ग्रो करेगी।
जैसे बात की जाइये टाइटन कंपनी जो year 2000 में 4 रुपए का था और आज वह कंपनी large cap कंपनी है।

मोबाइल से शेयर कैसे खरीदे?

मोबाइल से शेयर खरीदना आसान है , इसके लिए आप के पास अच्छा डेमेन्ट अकाउंट होना चाइये।
और आप मोबाइल से ट्रेडिंग कर सकते है। सभी ब्रोकर के पास मोबाइल APP होता है जिस से आप आसानी से शेयर buy और sell कर सकते है।

“लखपति दीदी योजना महिलाओं के लिए आत्मनिर्भरता का नया सफर”

Lakhpati Didi Yojana

 

Lakhpati Didi Yojana  भारत सरकार दौरा चलाई जा रही एक ऐसी योजना जिसका उदेश्य  महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाना जिस के अन्तर्गत भारत के उन सभी महिलाओ को Lakhpati Didi बनाया जाना है जो महिला अभी आत्म निर्भर नहीं है।और वह आत्मनिर्भर बनाना चाहती है। ये योजना का जिक्र प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा हाल में ही 15 अगस्त  2023 को  भारत के राजधानी नई दिल्ली से लाल किले से भाषण के दौरान किया गया था।  प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने बताया  Lakhpati Didi Yojana  महिलाओं के लिए एक कल्याणकारी योजना है।

अगर आप Lakhpati Didi Yojana के बारे में जानना चाहते है ? Lakhpati Didi Yojana क्या है ? इसका लाभ कैसे लिया जा सकता है ? और अगर आप सोच रहे है कैसे इसका आवेदन करे ? तो हमरा लेख आप के काम आ सकता  है।

Lakhpati Didi Yojana आसान भाषा में समझे 

भारत सरकार द्वारा और भारत के अलग अलग राज्य द्वारा शुरुआत की गई यह योजना  एक नई पहल जो भारत के महिलाओ को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाने का काम करेगा यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण मजबूत योजना है जिसका नाम  Lakhpati Didi Yojana है।  इसके द्वारा भारत के महिलाओ को रोजगार दिया जायेगा।

 

Lakhpati Didi Yojana द्वारा भारत सरकार, सेंट्रल गवर्नमेंट , नरेंद्र मोदी जी  द्वारा हाल में ही बताया गया है की 2 करोड़ महिलाओ को इसका लाभ मिलेगा जिसके अतर्गत महिलाओ को ट्रेनिंग प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। इस के द्वारा आवेदन करने वाली महिलाओ को एलईडी बल्ब निर्माण,ड्रोन पायलट,प्लंबिंग, इत्यादि की ट्रेनिंग दी जाएगी।

“उद्देश्य:-महिलाओं के लिए आत्मनिर्भरता और समाज के विकास की दिशा में Lakhpati Didi Yojana “

इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत के महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाना, विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार  देना।  ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाये आत्मनिर्भर बन सके और समाज में एक अच्छा जीवन और पहचान बना सके।

Lakhpati Didi Yojana महिलाओ के लिए एक वरदान साबित हो सकता है। क्यों की इसके माध्यम से महिलाये अपने सपनो को पूरा कर सकती है। और आत्म-साक्षर बनकर अपने दम पर कुछ  नया  कर सकती है।

 

lakhpati-Didi-Yojana-2023-to-2025

“Lakhpati Didi Yojana : महिलाओं के साथ सशक्तिकरण की ओर प्रधानमंत्री मोदी जी का कदम”

15 अगस्त 2023 को भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने दिल्ली के लाल किले से भाषण देते  हुए कहा भारत के महिलाओ को आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनाना बहुत जरुरी  है। इसके लिए एक योजना का जिक्र किया जिसे Lakhpati Didi Yojana कहा गया , इस योजना के द्वारा  2 करोड़ महिलाओ को लखपति बनाया जाइएगा।

 

नरेंद्र मोदी जी ने ये भी कहा आपने बैंक दीदी,आंगनबाड़ी दीदी,और  दवाई दीदी का नाम सुना होगा।  लेकिन आने वाले समय में आप को Lakhpati Didi का नाम सुने को मिलेगा। Lakhpati Didi Yojana से करोड़ो महिलाये Lakhpat बनेगी और अपने जीवन और  समाज को बेहत कर सकती है

Lakhpati-Didi-Yojana-आसान-भाषा-में-समझे

 

 

 

 

 

 

 

” Lakhpati Didi Yojana लाभ एवं विशेषताएं और आर्थिक 5 लाख रुपए की सहायता”

 

  • Lakhpati Didi Yojana का लाभ भारत के सभी महिलाओ के लिए है।
  • इस योजना के द्वारा फ्री स्किल ट्रैनिंग दी जायेगी उन महिलाओ को जो बेरोजगार है। जिस से उनका कौसल विकाश हो सके।
  • इसके साथ ही आवेदक महिलाओ को आर्थिक 5 लाख रुपए की सहायता दी जायेगी जिस से वह अपना स्व-रोजगार कर सकती है।
  • साथी ही मोदी जी ने 2025 तक का लक्ष्य रखा है जिस में 1.25 लाख महिलाओ को लखपति दीदी बनाए जाइयेगे।
  • महिलायों को कौसल विकाश , फ्री ट्रेनिंग के साथ साथ उन्हें सर्टिफिकेट भी दिया जाइएगा जीसे उन्हें ज्यादा से ज्यादा फायदा हो सके। इससे उन्हें नौकरी और अपना खुद का व्यवसाय करने में दिक्क्त नहीं होगा।
  • Lakhpati Didi Yojana से 2 करोड़ महिलाओ को प्रसिक्षित किया जाइएगा तथा ये 2 करोड़ महिलाओ के लिए एक अच्छा सुनेहरा अवसर है।
  • Lakhpati Didi Yojan से महिलाओ को अलग अलग क्षेत्र में ट्रेनिंग दी जायेगी। जैसे की एलईडी बल्ब निर्माण,ड्रोन पायलट,प्लंबिंग, इत्यादि की ट्रेनिंग दी जाएगी।

पात्रता (Eligibility) Lakhpati Didi Yojana “

 

  • भारत के सभी महिलाये जो भारत में निवास करते है वह सभी Lakhpati Didi Yojan के पात्र है।
  • फिलहाल में ये योजना भारत के अलग अलग राज्य द्वारा चलाई जा रही है।
  • राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना द्वारा आप जिस राज्य में रहते है। अभी इसका लाभ ले सकते है।
  • हर राज्य साकार का अपना अपना अलग अलग पैमाना है।

  और  जैसे ही Government के तरफ से ऑनलाइन आवेदन स्टार्ट होगा इस वेबसाइट के मध्यम से आप को अपडेट कर दिया जाइएगा

लखपति दीदी योजना दस्तावेज (Documents)

 

  • पेन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • फ़ोन नंबर
  • ईमेल
  • और पासपोर्ट साइज फोटो
FOR MORE UPDATE CLICK HERE
FACEBOOK PAGE CLICK HERE
FACEBOOK GROUP CLICK HERE
WHATSAPP GROUP CLICK HERE
TELIGRAM GROUP CLICK HERE
YOUTUBE CLICK HERE

 

 

 

 

“Lakhpati Didi Yojana सारांश”

लखपति दीदी योजना भारत सरकार द्वारा महिलाओ को फ्री स्किल ट्रैनिंग दी जायेगी उन महिलाओ को जो बेरोजगार है। जिससे उनका कौसल विकाश हो सके।

lakhapti didi yojana 1 1 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

 

FAQ:-

1.लखपति दीदी योजना कब शुरू हुई?

Lakhpati Didi Yojana का शुरुआत 4 नवंबर 2022 को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी द्वारा स्टार्ट किया गया था।
फिर 15 अगस्त 2023 को मोदी जी ने लाल किले से  कहा  केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2025 तक 1.25  लाख  महिलाओ को Lakhpati Didi योजना का लाभ मिलेगा.

2.लखपति दीदी योजना क्या है?

Lakhpati Didi Yojana भारत साकार की एक नहीं पहल है।  जिसके द्वारा भारत के महिलाओ को प्रशक्षित किया जाइएगा ,
महिलायों को कौसल विकाश किया जाइएगा  , फ्री ट्रेनिंग के साथ साथ उन्हें सर्टिफिकेट भी दिया जाइएगा।

3.उत्तराखंड में लखपति दीदी योजना क्या है?

उत्तराखंड के  लखपति दीदी योजना उत्तराखंड सरकार द्वारा चलाई जाती है।  यह योजना 2022 में लाई गई थी , इसके द्वारा  राज्य के 1.25  लाख महिलाओ को आर्थिक विकास का लक्ष्य रखा  गया है।

 

Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी, अगस्त बिक्री डेटा का असर।

Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी, अगस्त बिक्री डेटा का असर।

अगस्त में पैसेंजर वाहनों के सेगमेंट में Tata Motors ने 45,513 इकाइयाँ बेची, जो साल पहले माह की 47,166 इकाइयों के 3.5 प्रतिशत कम हैं। इसमें Tata Motors के पैसेंजर वाहनों और Tata Passenger Electric Mobility के बिक्री शामिल हैं।

Tata Motors के शेयर्स, जिन्होंने आज पहले दिन 614.80 रुपये के हाई पर पहुंचा, अगस्त बिक्री में समय पर फ्लैटिश वृद्धि की जानकारी देने पर गिर गए। Tata समूह की कंपनी ने कहा कि उसकी कुल घरेलू बिक्री अगस्त में 76,261 इकाइयों के खिलाफ आई, जिसमें पिछले साल के उसी माह में 76,479 इकाइयाँ थीं। वहीं, Maruti Suzuki ने अपने शेयर्स को 3 प्रतिशत की वृद्धि के रूप में देखा, कार निर्माण कंपनी ने अपनी सबसे अधिक मासिक बिक्री मात्र 3 प्रतिशत के वृद्धि के साथ पूरी की। जिस से Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी हुई।

 

“Tata Motors के शेयरों में कटौती,पैसेंजर वाहनों सेगमेंट में 5 प्रतिशत कम,Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी,

                         Important Key पॉइंट

  • पैसेंजर वाहनों के सेगमेंट में, Tata Motors ने अगस्त में 45,513 इकाइयाँ बेची, जो साल पहले माह की 47,166 इकाइयों के 5 प्रतिशत कम हैं इसी कारन Tata Motors के शेयरों में कटौती हुई।
  • इसमें Tata Motors के पैसेंजर वाहनों और Tata Passenger Electric Mobility के बिक्री शामिल हैं, जो कि Tata Motors की सहायक कंपनियों हैं।
  • वाणिज्यिक वाहन बिक्री वर्षों के समय में 2 प्रतिशत योय बढ़ी, Tata Motors ने कहा।
  • Antique Stock Broking ने उम्मीद की थी कि अच्छे प्रतिस्पर्धी प्रतिक्रिया के कारण Tata Motors की PV बिक्री 48,500 इकाइयों की होगी।
  • अगस्त में MH&ICV की घरेलू बिक्री, ट्रक और बसों सहित, 13,306 इकाइयों पर खड़ी रही, Tata Motors ने कहा।
  • Antique Stock Broking ने CV बिक्री की उम्मीद 33,500 इकाइयों की थी।
  • अगस्त में MH&ICV की कुल घरेलू और अंतरराष्ट्रीय व्यापार, ट्रक और बसों सहित, 13,816 इकाइयों पर खड़ी रही, Tata Motors ने कहा।

 

Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी, अगस्त बिक्री डेटा का असर।

Maruti Suzuki के शेयरों में बढ़ोतरी

वहीं, Maruti Suzuki के शेयरों में 3 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई, कार निर्माता ने कुल 1,89,082 इकाइयाँ बेची, जो कि उसकी सबसे अधिक मासिक बिक्री है। माह की कुल बिक्री में घरेलू बिक्री 1,58,678 इकाइयों की थी, अन्य OEM को 5,790 इकाइयों की बिक्री हुई, और निर्यात 24,614 इकाइयों में हुई, Maruti Suzuki ने एक बीएसई फाइलिंग में कहा।

इसके अलावा, निवेशकों को यह जानकर खुशी होगी कि Maruti Suzuki ने अपनी सबसे अधिक मासिक बिक्री का सामर्थ्य प्रमाणित किया ह

For More Information

Join WhatsApp group

Facebook group

Telegram group

YouTube channel

निष्कर्षण

Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी,Summery 

इस लेख में हमने देखा कि अगस्त में Tata Motors के पैसेंजर वाहनों के सेगमेंट में थोड़ी सी कमी आई है, जबकि Maruti Suzuki ने अपनी सबसे अधिक मासिक बिक्री की ओर बढ़त दिखाई है। इससे हम देख सकते हैं कि ऑटोमोबाइल उद्योग में संवेग और ब्रस्टीयोसिटी बनी हुई है, जब भी एक उत्पादक कंपनी बिक्री की बढ़ती मांग का सामना करती है। इस विपरीत में, एक अच्छी विवरण और समर्थन के साथ उत्कृष्ट ग्राहक सेवा प्रदान करने में सहायक कंपनियों के लिए संघर्ष करना महत्वपूर्ण होता है।

 

अस्वीकरण: “किसी भी परिस्थितियों में कृपया ध्यान दें कि इस प्लेटफ़ॉर्म पर दी गई जानकारी के आधार पर व्यापारिक निर्णय न लें। किसी भी वास्तविक निवेश या व्यापारिक निर्णय से पहले, कृपया किसी योग्य दलाल या अन्य वित्तीय सलाहकार से परामर्श लें। सभी जानकारी केवल शैक्षिक और सूचना के उपयोग के लिए है। Wealth Bazzars इसके सभी सामग्री के खिलाफ किसी भी प्रकार की गारंटी, स्पष्ट या अंतर्निहित, देने का दावा नहीं करता और इससे संबंधित सभी वारंटीज को यहाँ से अस्वीकार करता है।”

 

 

For more read

Zomato shares Prices Target

Tata Elxsi share prices target 

Chandrayaan3,क्या आपको पता है Chandrayaan3 moon mission में कौन-कौन सी कंपनियाँ शामिल हैं?

क्या आपको पता है Chandrayaan3 moon mission में कौन-कौन सी कंपनियाँ शामिल हैं?

1.Bharat Heavy Electricals Ltd (BHEL) भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल):-The economic times के अनुसाकर भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड ने Chandrayaan3 moon mission में बैट्रीज (batteries) की सप्लाई की है। और भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड के वेल्डिंग रिसर्च इंस्टीटूट (Welding Research Institute) ने bi-metallic adaptors सप्लाई किया है।

2.Larsen and Tourbo’s (L&T) लार्सन एंड टूरबो (एलएंडटी) का एयरोस्पेस विंग (aerospace wing) कंपनी  ने इस्सरो के लिए लॉन्च वाहन LVM3 M4 के लिए काम किया है।  Larsen and Tourbo’s ने अंतरिक्ष एजेंसी को महत्वपूर्ण बूस्टर सेगमेंट प्रदान किए, जो Chandrayaan-3 moon mission के लिए बहुत जरुई था ,

3.Tata Consulting Engineers Limited (TCE) टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड (टीसीई) ने भी Chandrayaan-3 moon mission के लिए काम किया है जैसे की प्रोपेलेंट प्लांट, वाहन असेंबली बिल्डिंग और मोबाइल लॉन्च पेडस्टल, और भी अन्य काम किया जो LVM3 M4 के लिए महत्वपूर्ण था। जो Chandrayaan-3 को पृथ्वी के ऑर्बिट में प्रक्षेपण करने में मदत हुआ।

4. Mishra Dhatu Nigam (मिश्र धातु निगम,) मिश्र धातु निगम, ने भो Chandrayaan-3 moon mission के लिए  महत्वपूर्ण योगदान दिया है। ये हैदराबाद

स्थित कंपनी है। ये Chandrayaan-3 moon mission में उपयोग किए जाने वाले LVM3 M4 लॉन्च वाहन के अलग अलग component में उपयोग होने वाले कोबाल्ट बेस मिश्र धातु, निकल बेस मिश्र धातु, टाइटेनियम मिश्र धातु और विशेष स्टील्स जैसी महत्वपूर्ण सामग्रियों की आपूर्ति  किया है।

5.MTAR Technologies, (एमटीएआर टेक्नोलॉजीज) The economic times के अनुसार Chandrayaan-3 के इंजन और बूस्टर पंप  एमटीएआर टेक्नोलॉजीज पर काम करने वोला कंपनी एमटीएआर टेक्नोलॉजीज जो ISRO के इस स्पेस mission में बहुत बड़ा योगदान दिया है। जो बहुत ही  महत्वपूर्ण साबित हुआ है। और आज हम  चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरकर इतिहास रच दिया है। और हम यह पहुंचने वाले पहले स्पेस agency बन गए है।

6.Godrej Aerospace और Ankit Aerospace; – अगर बात की जाइये गोदरेज एयरोस्पेस और अंकित एयरोस्पेस ने भी साबित दिया और भारत के स्पेस एजेंसी Chandrayaan-3 moon mission के लिए इंजन एंड थ्रस्टर्स का उत्पादन किया और इसके आलावा मिश्र धातु इस्पात, स्टेनलेस स्टील फास्टनर इत्यदि का सहयोग दिया।

7.Walchandnagar Industries (वालचंदनगर इंडस्ट्रीज) मीडिया रिपोर्ट The conomictimes indiatimes के अनुसार , वालचंदनगर इंडस्ट्रीज कंपनी ने इसरो के  Chandrayaan-3 moon mission के लिए महत्वपूर्ण बूस्टर सेगमेंट S200,फ्लेक्स नोजल कंट्रोल,टैंकेज और S200 फ्लेक्स नोजल हार्डवेयर की आपूर्ति किया।

Chandrayaan1

भारत का पहला chandrayaan mission 22 अक्टूबर 2008 सडीएससी शार, श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया गया था। जिसका उद्देश्य चंद्रमा की सतह से 100 किमी की दुरी पर परिक्रमा करना और चाँद के सतह के बारे में जानकारी इकठा करना था जैसे की रासायनिक, खनिज और भूगर्भिक मानचित्रण लेना। ये मिशन 29 अगस्त 2009 को अंतरिक्ष यान के साथ संचार टूट जाने के बाद इससे समाप्त हो गया।Total Mission cost 365 crore

Chandrayaan2

chandrayaan2  मिशन एक बहुत ही जटिल मिशन था।  ये मिशन 22 जुलाई 2019 को लॉन्च किया गया था। इस मिशन में ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर तीनो शामिल था। इस मिशन का उदेश्य चन्द्रमा  के दक्षिणी ध्रुव  रोवर को भेजकर चाँद की सतह का रासायनिक संरचना,खनिज पहचान, भूकंप विज्ञान  और चन्द्रमा का कमजोर वातावरण का अधययन करने के लिए बनाया गया था। लेकिन 6 सितंबर 2019 को लैंडिंग करते वक्त क्रैश कर गया और ये मिशन यही समाप्त हो गया।                                                                                                                                                                              Total Mission cost: -978 crore.

Chandrayaan3 Mission

Chandrayaan-3 moon mission

Chandrayaan3 Moon मिशन 14 जुलाई 2023 को लॉन्च किया गया था। इसके साथ भी मिशन Chandrayaan2 की तरह  विक्रम नामक एक लैंडर और प्रज्ञान नामक एक रोवर शामिल है। इसका भी काम चाँद  दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र के पास उतरना था। मिशन दो के तरह ही इसका काम चाँद के सतह  पर मौजूद मिनरल्स ,खनिज पहचान, सतह रासायनिक संरचना, और चाँद का वतावरण के बारे में पता लगाना है।  इसके साथ और भी बहुत कुछ जो चाँद की सतह पर उपलबध है उसकी जानकी प्राप्त करना।

और finally भारत ने इतिहास रच दिया Chandrayaan3 मिशन  चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर 23 अगस्त 2023 को पहुंच गया और वहां पर उतरने वाला पहला देश बन गया और इसके साथ ही चन्द्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया।

U.S, Russia, China के बाद अब भारत सॉफ्ट लैंडिंग करने वोला देश बन गया है।

Total Cost of Mission: –   615 Crore

Bharat Heavy Electricals Ltd..फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                     ₹ 37,484.41 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return              105.6%

पिछले तीन  साल का CAGR Return            38.9%

पिछले पांच   साल का CAGR Return           6.5%

 

पिछले एक साल का Profit Growth            9.09%

पिछले तीन  साल का Profit Growth           32.07%

पिछले पांच  साल का Profit Growth           -11.11%

 

पिछले एक साल का Sales Growth             10.15%

पिछले तीन  साल का Sales Growth            2.88%

पिछले पांच  साल का Sales Growth            -4.11%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ ₹ 5,385 Cr. का है।

कंपनी के पास CASH ₹ 6,642.58 Cr का है।

Larsen & Toubro Ltd. फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                           ₹ 3,77,859.46 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return                  43.5%

पिछले तीन  साल का CAGR Return                40.0%

पिछले पांच   साल का CAGR Return              14.9%

 

पिछले एक साल का Profit Growth               -0.39%

पिछले तीन  साल का Profit Growth              5.53%

पिछले पांच  साल का Profit Growth              7.82%

 

पिछले एक साल का Sales Growth                  9.41%

पिछले तीन  साल का Sales Growth                10.28%

पिछले पांच  साल का Sales Growth                8.21%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ 18,151.09 Cr.का है।

कंपनी के पास CASH ₹ 4,569.64 Cr.का है।

Tata Consulting Engineers Limited (TCE) टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड अनलिस्टेड

ये कंपनी महारास्ट के मुंबई में है।

ये दिसंबर 1999 में स्टार्ट किया गया था। ये स्टॉक मार्किट अभी लिस्टेड नहीं है। इसका ट्रेडिंग नहीं होता  है।

For More Information

Facebook page Click here
Facebook group Click here
Telegram channel Click here
YouTube Click here
WhatsApp Click here
Instagram page Click here

 

Mishra Dhatu Nigam Ltd. फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                           ₹ 7,459.88 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return                  115.1%

पिछले तीन  साल का CAGR Return                  22.2%

पिछले पांच   साल का CAGR Return                 23.0%

 

पिछले एक साल का Profit Growth               6.02%

पिछले तीन  साल का Profit Growth              10.53%

पिछले पांच  साल का Profit Growth              6.9%

 

पिछले एक साल का Sales Growth                5.69%

पिछले तीन  साल का Sales Growth               6.53%

पिछले पांच  साल का Sales Growth               2.14%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ ₹ 267.58 Cr.का है।

कंपनी के पास CASH ₹₹ 62.58 Cr..का है।

MTAR Technologies Ltd.फंडामेंटल

मार्केट कैप (MARKET CAP)                              ₹ 7,089.78 Cr.

पिछले एक साल का CAGR Return                      40.0%

पिछले तीन  साल का CAGR Return                     27.1%

पिछले पांच   साल का CAGR Return                  15.5%

 

पिछले एक साल का Profit Growth                    70.95%

पिछले तीन  साल का Profit Growth                   49.23%

पिछले पांच  साल का Profit Growth                  74.59%

 

पिछले एक साल का Sales Growth                    78.05%

पिछले तीन  साल का Sales Growth                   38.94%

पिछले पांच  साल का Sales Growth                   29.63%

 

कंपनी के पास  कर्ज ₹ ₹ 142.79 Cr.का है।

कंपनी के पास CASH ₹ 30.98 Cr…का है।

For More Information

Zomato share prices target 2030 Click here
Tata Elxsi share price target 2030 Click here

 

chandrayaan में निवेश करने वाली कंपनी की Sales और Profit

SALES GROUTH

PROFIT GROUTH

 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

Ankit Aerospace & Godrej Aerospace

Ankit Aerospace & Godrej Aerospace अभी तक स्टॉक मार्किट में लिस्टेड नहीं है। तो इन में भी अभी ट्रडिंग नहीं कर सकते है।

संक्षिप्त विश्लेषण:

BHEL की बड़ी CAGR Return दिखाती है, विशेषकर पिछले एक साल में। लाभ और बिक्री में भी वृद्धि दर्शाई जा रही है।

L&T ने भी पिछले कुछ सालों में अच्छे प्रदर्शन किया है, उनकी CAGR Return और बिक्री में वृद्धि है, हालांकि पिछले एक साल में लाभ थोड़ी कमी दिखाई देती है।

Mishra Dhatu ने भी बिक्री और लाभ में वृद्धि  है, विशेषकर पिछले एक साल में। CAGR Return भी तेज है।

CGR RETURN

बात की जाइये कंपनी के कर्ज की तो BHEL ,L&T ,और Mishra Dhatu का कर्ज अपने कॅश से कम है यानि ये कंपनी जब चाइये तब अपना पेमेंट पूरा कर सकती है।  इसका मतलब ये है ये तीनो कंपनी virtually debt free है।

DEBT FREE

आप  तीनो कंपनी में SIP के द्वारा थोड़े थोड़े पैसे इन्वेस्ट कर सकते है। और एक बड़ा wealth Create कर सकते है।

Note:-आप से कहना चाहुगा आप को भी इन्वेस्टमेंट करने से पहले अपने वित्तीय पेशेवर से सलाह लेना  चाहिए। मै  SEBI register adviser नहीं हू इन्वेस्ट करने से पहले खुद से अच्छे से जांच कर सोच समझ कर इन्वेस्ट करे। और ये आपका खुद का Decision होगा।

FAQ:-

 

chandayaan 3 कब तक काम करेगा ?

Chandrayaan3 Moon मिशन 14 जुलाई 2023 को लॉन्च किया गया था। ये चाँद की सतह पर 14 दिन तक काम करेगा। क्यों की चाँद की दक्षिणी ध्रुव पर Earth के सामान रात और दिन नहीं होता है। वहां earth के 14 दिन चाँद पर  एक दिन के सामान होता है। जैसे ही वहा रात होगा ठण्ड बहुत ज्यादा हो जाइएगा जिससे रोबर और लैंडर काम करना बंद कर देंगे।

Chandrayaan 2 क्यों हुआ फेल हुआ ?

Chandrayaan 2  का फ़ैल होने का सबसे बड़ा कारण टेक्निकल फॉल्ट था।   जब Chandrayaan 2 लैंड कर रहा था तब विक्रम लैंडर फिक्स 55 डिग्री के बजाय 410 डिग्री तक झुक गया था जिससे  चंद्रमा की कक्षा में  स्थापित होने से पहले ही संपर्क से टूट गया। जिससे चन्द्रमा की सतह पर जा कर क्रैश  कर गया।

Zomato share price target 2024,2025 ,2026 ,2027,2028 ,2030 ,2040 ,2045 ,2050, 2055 to 2060.

दोस्तों आज के डिजिटल युग में, खाने-पीने का अनुभव भी बदल चुका है। इस बदलाव का एक मुख्य कारण है लोगो का लाइफ स्टाइल ,जिसके कारन लोग Zomato का उपयोग बहुत ज्यादा कर रहे है। जिस से Zomato को बहुत फ़ायदा होने वोला है। इसका प्रभाव आने वाले समय में Zomato के shares prices पर देखने को मिल सकता है।

तो आइये जानते है Zomato के Business model और Fundamental के आधार पर Zomato share price target 2024,2025 ,2026 ,2027,2028 ,2030 ,2040 ,2045 ,2050, 2055 to 2060 तक क्या हो सकता है?अगर आप Zomato के Investor है। या इन्वेस्ट करना चाहते है। तो इससे जानना बहुत जरुरी हो जाता है।

Zomato एक नजर में

Zomato की स्थापना सन् 2008 में हुई थी। यह के नये युग का छोटा सा स्टार्टअप था जो आज, यह एक बड़ा नाम है। जो लोगों के लिए फ़ूड डिलीवरी का पहला पसंद बन गया है। और ये मार्किट एकाधिकार बना चूका है।

स्थापना  :-                2008

प्रकार   :-               ऑनलाइन खाद्य प्लेटफ़ॉर्म

सेवाएँ    :-              खाद्य डिलीवरी, रेस्टोरेंट गाइड

विशेषताएँ :-          ऑनलाइन खाद्य आर्डर, भुगतान, रेस्तोरेंट विकल्प

IPO  :-                     हां, वित्तीय बाजार में उपलब्ध

Zomato Business Model (ज़ोमैटो बिजनेस मॉडल )

Zomato एक इंडियन कंपनी है। जो ऑनलाइन भोजन वितरण सेवा देती है। यह कंपनी 2008 में दीपिंदर गोयल और पंकज छड्डा द्वारा स्थापित किया गया था।

Zomato पुरे देश में प्रसिद्ध है। वर्षों से कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में प्रवेश करने में सफल रही है। वर्तमान में यह 10,000 शहरों में 25 देशों में संचालित की ज रही है। जिस में संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़िल, न्यूज़ीलैंड, सिंगापुर और कई  देश शामिल है।

जोमैटो ऑनलाइन खाद्य ऑर्डरिंग,

रेस्टोरेंट बुकिंग

लॉयल्टी प्रोग्राम,

सलाहकार सेवाएँ

और ये गूगल सर्च की तरह ये फ़ूड सर्च की तरह काम कर रहा है। जोमैटो न केवल लोगों को भोजन से जोड़ता है, बल्कि रेस्टोरेंटों के साथ मिलकर एक स्थायी Business को ग्रो करने में मदत करता है

For information

Zomato share prices target analysis

Zomato share price target 2024, or 2025

Zomato के Market कैप को देखा जाइये तो ये लगभग 77000 के पास है। और बात करे इस के अनुपात P/B (Price/book ) 3.88, है , और P/E (price/earning ) 144.79, है। P/B और P/E अनुपातों से पता चलता है कि कंपनी में मजबूती आया है जिसे स्वीकारा जा सकता है। अगर बात की जाइये Zomato share price target 2024, or 2025 को तो यह 105 से 120 के आस पास हो सकता है।

Zomato share price target 2024 or 2025 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2026 or 2027

बात की जाइये Zomato share price target 2026 or 2027 की तो यह तो  यह 150 से 180 के आस पास हो सकता है। क्यों की अगर देखा जाइये कंपनी के

ROE% अनुपात

पिछले पांच साल का ROE%       -52.86%

पिछले तीन  साल का ROE%      -10.6%

पिछले एक  साल का ROE%       0.67%

ROCE % अनुपात

पिछले पांच साल का ROCE %    -40.44%

पिछले तीन  साल का ROCE %    -9.14%

पिछले एक  साल का ROCE %     0.71%

EPS                                        0.62%

EPS, ROE और ROCE अनुपातों को देखा जाइये तो यह उच्चतमीकरण की ओर संकेत कर रहा हैं, जिससे कि कंपनी ने अपने निवेशकों के प्रति आत्म-आश्वासन बढ़ाया है। इसके साथ ही, यह डेटा कंपनी के वित्तीय स्वास्थ्य को मापने में मदद कर कर रहा है।  इससे पता चलता है की आने वाले समय में ये स्टॉक अच्छा परफॉर्म कर सकता है।

Zomato share price target 2026 or 2027 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2028 or 2029

बात की जाइये Zomato share के Sales Growth और Profit Growth की तो यह पिछले 5 वर्षों में अच्छा प्रदर्शन किया है। और कंपनी का Debt/Equity zero है जो किसी भी कंपनी के लिए अच्छा माना जाता  है।

Sales Growth

पिछले पांच साल का Sales Growth 66.22%

पिछले तीन  साल का  Sales Growth  26.3%

पिछले एक साल का Sales Growth 30.36%

Profit Growth

पिछले पांच साल का Profit Growth 28.39%

पिछले तीन  साल का Profit Growth  26.99%

पिछले एक  साल का Profit Growth 110.65%

इस शेयर के सेल्स और प्रॉफिट ग्रोथ  से  पता चलता है की कंपनी अच्छा कर रही है। और Zomato share price target 2028 ,or 2029 में 181 से 210 के बिच हो सकता है।

Zomato share price target 2028 or 2029 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2030 or 2031

Zomato share की सबसे अच्छी बात ये है। कंपनी लगातार सेल्स और प्रॉफिट बढ़ा रही है और साथ ही इसके ऊपर कोई कर्ज नहीं है तो भविष्य ये संभवना बढ़ जाता है की शेयर आने वाले समय में अच्छा ग्रो कर सकता है। और बात करे Zomato share price target 2030, or 2031 की तो यह 240 से 275 के बिच हो सकता है।

For more information

Instagram Page Click here

YouTube channel Click here

Zomato share price target 2030 or 2031 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2032 or 2033 

अगर बात की जाइये Zomato share के Holding pattern   की तो

FII 54.43 %

Public 35. 64 %

DII 9.93%

Promotor 0%

Other 0%

सबसे ज्यादा stake FII और Public का  है। promotor का होल्डिंग शून्य है।  इसके साथ ही  यह कंपनी पूरी तरह से पब्लिक कंपनी है फिर भी ये कंपनी अच्छा परफॉर्म कर रही है।  बात की जाइये Zomato share price target 2032 ,or 2033  की तो यह 317 से 364 के बीच हो सकता है।

Zomato share price target 2032 or 2033 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2034 or 2035  

Zomato share की बात की जाइये तो  कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में 26.99% की अच्छी लाभ वृद्धि दिखाया  है। और  पिछले 3 वर्षों में 26.30% की अच्छी राजस्व वृद्धि दिखाया  है। और साथ ही कंपनी कर्ज मुक्त है इस ये उम्मीद बढ़ जाता है की Zomato share price target 2034,or 2035   में 419 से 482 के बिच हो सकता है।

Zomato share price target 2034 or 2035 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2036 or 2037   

Zomato कंपनी debt free होने के साथ साथ कंपनी का Cash Conversion Cycle 8.91 days का है जो अच्छा संकेत है। जो आने वाले समय में Zomato का शेयर और बेहत कर सकता है। बात की जाइये Zomato share price target 2036 ,or 2037 की तो यह 554 और 667 के बिच हो सकता है।

Zomato share price target 2036 or 2037 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2038 or 2039 

 बात की जाइये कंपनी के Healthy liquidity position with current ratio की तो है। ये 9.33. और PE अनुपात 144.79 है. जो की बहुत ज्यादा है

इससे यह स्पष्ट होता है कि बाजार की दृष्टि से कंपनी में लोगो का विस्वास है। और कंपनी ग्रो कर सकता है। इससे पता चलता है की आने वाले समय Zomato share price target 2038, or 2039 के लिए 732 से 842 के बिच हो सकता है।

Zomato share price target 2038 or 2039 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2040 or 2041 

अगर बात की जाइये कंपनी के लास्ट चार Quarterly Result की तो Net Sales, Operating Profit, Profit After Tax, ये तीनो हो बढ़ रहा है।

Net Sales

JUN 2022 1,132cr            

SEP 2022 1,177.90cr      

MAR 2023 1,206.80cr    

JUN 2023 1,420cr

Operating Profit

JUN 2022          -269 cr    

SEP 2022         -140.70cr

MAR 2023         4.10cr                     

JUN 2023          113cr

 Profit After Tax

JUN 2022         -138cr

SEP 2022        11.70cr                      

MAR 2023       181.70cr                  

JUN 2023         276cr

 Net Sales, Operating Profit, Profit After Tax तीनो प्रत्येक साल बढ़ रहा है और बात करे Zomato share price target 2040, or 2041 की तो ये 969 से लेकर 1114 हो सकता है।  

Zomato share price target 2040 or 2041 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2042 or 2043 

बात की जाइये कंपनी के Profit & Loss की तो कंपनी ने अपना Net Sales, Operating Profit, Profit Before Tax,और Net Profit बढ़या है।

अगर बात करे Net Profit की तो  कंपनी प्रॉफिट में आ गया है। लास्ट Quarterly रिजल्ट में कंपनी ने 116.9 cr का net प्रॉफिट दिखाया है। आने वाले समय में कंपनी ग्रो कर सकता है और Zomato share price target 2042 ,or 2043  का 1281 से लेकर 1473 हो सकता है।

Zomato share price target 2042 or 2043 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2044 or 2045 

Net Sales, Operating Profit, Profit Before Tax,और Net Profit  कंपनी ने बढ़या है। लेकिन इसके साथ ही कंपनी का Total Liabilities 2019 में  3,489.21cr था और आज 21,928.30cr हो गया है जो किसी भी कंपनी के लिए ठीक नहीं है।  अगर आने वाले समय में कंपनी से कंट्रोल करती है तो  Zomato share price target 2044, or 2045 का 1694 से लेकर 1948 हो सकता है।

Zomato share price target 2044 or 2045 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Zomato share price target 2045 or 2050

Zomato के शेयर एक अच्छा इन्वेस्टमेंट ऑप्शन हो सकता है अगर इसके मैनजमेंट और का सेल्स ग्रोथ अच्छा है और आगे भी उम्मींद है अच्छा होने की और फंडामेंटल अनैलिसिस के आधार Zomato share price target 2045, or 2050 का पहला टारगेट –1948 और दूसरा टारगेट 3918 हो सकता है।

Zomato share price target 2045 or 2050 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

Note:- “Before investing, stock market is the very risky place there are risks associated with investing in the stock market. making investment decisions, Ask your own expert advice before take any decisions, This information is intended for educational purposes only and it is not a investment advice. This is my personal opinion only.

Zomato share’s Strengths (मजबूतियाँ)

  • कंपनी ने last के तीन सालों में 26.99% की अच्छी मुनाफा में (profit growth) वृद्धि दिखाई है।
  • कंपनी ने last के तीन सालों में 26.30 % की अच्छी आय में (Revenue growth) वृद्धि दिखाई है।
  • कंपनी पर कोई कर्ज नहीं है ये debt free.कंपनी है।
  • कंपनी का प्रभावी नकदी परिवर्तन चक्र 8.91 दिनों का है।
  • कंपनी की वर्तमान Healthy liquidity position with current ratio (करेंट रेशियो) 9.33 है।

Zomato share’s Limitations (सीमाएँ)

  • कंपनी के पिछले 3 वर्षों का ROCE -9.14% है जिसे  कंपनी को इससे ठीक करने की जरूरत है।
  • कंपनी के पिछले 3 वर्षों का ROE -10.60% इस पर भी कंपनी को फोकस करने की जरूरत है।
  • कंपनी के पिछले 5 वर्षों में EBITDA मार्जिन -71.40% की निम्नतमी है।
  • कंपनी का PE अनुपात 144.79% है जी की अभी बहुत ज्यादा है।
  • कंपनी का EV/EBITDA अनुपात 114.14 है। जो बहुत महंगे रेट पर है।

वार्षिक रिपोर्ट्स

वार्षिक रिपोर्ट्स 2023

वार्षिक रिपोर्ट्स 2022

रेटिंग एवं अनुसंधान रिपोर्ट(Ratings & Research Reports)

Research IDBI Capital

Conclusion (निष्कर्ष)

Zomato एक नई स्टार्ट कंपनी है और ये लगातार अपने आय और प्रॉफिट मार्जिन को बढ़ा रहा है। लेटेस्ट quarterly रिपोर्ट के अनुसार कंपनी अब नेट प्रॉफिट में आ गया है।  जिस से इसके शेयर में उछाल आया है और आने वाले समय में Zomato के अपने घाटे को कम करने में लगी है।  और एक प्लानिंग के तहद फ़ूड डिलीवरी मार्किट के साथ साथ अन्य फिल्ल्ड में काम करने की कोशिस कर रहा है। जैसे की अभी अभी Zomato ने Blinkit को Acquired किया है।

दूसरी ओर, Zomato खाद्य वितरण में बाजार में अग्रणी स्थान पर बन रहा है, इससे प्रबंधन के प्रयासों का संकेत मिलता है कि यह कंपनी का सफल विकास करने का उद्देश्य है।

और इससे Zomato share price target 2050, or 2060 तक लगभग 3900 से लेकर 15000 तक का सफर ताइये कर सकता है।  लेकिन इस्सके लिए कम्पनी को और उसके  मैनेजमेंट को बहुत ज्यादा  मेहनत करना पर सकता है। 

You can also read:-

Tata Elxsi share prices target 2030

Sip Kya hota hai.

FAQ:-

ज़ोमैटो कितने शहरों में काम करता है?

Zomato आज लगभग 25 देश और 10000 से ज्यादा city में काम कर रहा है। इस की इसकी स्थापना 2008 में दीपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा ने की थी। जा आज इंडिया के साथ साथ ग्लोबल मार्किट में भी अच्छा perform कर रही है।

जोमैटो में डिलीवरी बॉय की सैलरी कितनी है?

Zomato में आप काम करते है तो एक आर्डर पर  आप को  20 से 30 रूपए मिलते है। इसी तरह डिलिवरी बॉय एक week में  5 से 6 हजार और महीने का 20 से 30 हजार आसानी से कमा सकता है।  इसके लिए आपको बड़े शहर में आसानी से कमा सकते है।

जोमैटो किसकी कंपनी है?

जोमैटो के संस्थापक हैं।दीपिंदर गोयल है। इस की इसकी स्थापना 2008 में दीपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा ने की थी। जो आज शेयर मार्किट में लिस्टेंड है।  जिसका मार्किट कैप 753.00B INR है।

tata elxsi share price target 2030

Tata Elxsi share Price 2030 target

tata elxsi  एक भारतीय आईटी कंपनी है।  इसकी स्थापना 1989 में की गई थी और वर्तमान में टाटा समूह का एक हिस्सा है। वर्तमान में कंपनी का मुख्यालय  कर्नाटक  के बेंगलुरु,में स्थित है। tata elxsi share price target 2030 जानने से पहले कंपनी के बारे में जानना बहुत जरुरी है। कंपनी क्या करती है ? ये किस क्षेत्र में कैसे काम करती आईये जानते है।

Tata Elxsi कंपनी क्या करती है :-Tata Elxsi कंपनी विभिन्न क्षेत्रों में सेवाए प्रदान करती है। जैसे की  सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, डिजिटल मानचित्रण, विमान डिज़ाइन और ऑटोमोटिव सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट शामिल हैं। ये अपने कस्टमर को उच्च क्वालिटी का प्रोडक्ट प्रदान करती है।

इसके अलावा ऑटोमोटिव इलेक्ट्रॉनिक्स, स्वास्थ्य देखभाल, परिवहन, मीडिया, ब्रॉडकास्ट और कार्डियोलॉजी उद्योग में भी अपने सेवाए  देती  है। और अन्य  विभिन्न उद्योगों में सेवाएं और समाधान प्रदान करती है।

2023 से लेकर 2030: Tata Elxsi price का संभावित पूर्वानुमान

दोस्तों किसी भी कंपनी के स्टॉक प्राइस कई तत्वों पर निर्भर करता है। इसलिए tata elxsi share price 2030 में कैसा होगा ये कंपनी के वित्तीय नतीजे, बाजार की स्थिति, और मैक्रोएकनॉमिक तत्व पर निर्भर करता है।

  • वित्तीय नतीजे ,
  • बाजार की स्थिति:
  • मैक्रोएकनॉमिक तत्व:-,

कंपनी के Financial रिजल्ट :-

कंपनी के आर्थिक रिजल्ट, उत्पादन, बिक्री, मुनाफा और कारोबारी दिक्कतें  कंपनी के  स्टॉक को  प्रभावित कर सकता है। यदि  कंपनी का रिजल्ट बहुत अच्छा हुआ तो कंपनी में ग्रोथ होगा और साथ ही साथ इन्वेस्टर का भी ग्रोथ होगा और स्टॉक के प्राइस में मूवमेंट दिखाई देगा।

बाजार की स्थिति:

शेयर बाजार के अन्य सेक्टर के शेयर का प्रदर्शन  ,शेयर बाजार के  सामान्य स्थिति में भी किसी भी स्टॉक को ऊपर या नीचे ले जा सकता है। क्यो की शार्ट टर्म में बाजार कभी कभी न्यूज़ पर बहुत ज्यादा volatile होता है। इसलिए बाजार की स्थिति अगर अच्छी है तो सभी स्टॉक भी अच्छा परफॉर्म करते है।

मैक्रोएकनॉमिक तत्व:-

शेयर बाजार में मैक्रोएकनॉमिक का असर बहुत ज्यादा होता है। यदि  मैक्रोएकनॉमिक अच्छा नहीं रहा तो इसका असर सभी सेक्टर या किसी particular sector पर देखने को मिल सकता है। ये राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था, सरकारी नीतिया, समाचार और घटनाएं:और कंपनी संबंधित समाचार, ये सभी मैक्रोएकनॉमिक तत्व किसी भी स्टॉक,या सेक्टर पर प्रभाव डाल सकते है।  ये अच्छा और बुरा दो हो सकता है।

बात करे Tata Elxsi share prices की – पांच साल बाद 2028 की तो ये 21400 के आस पास जा सकता है।

“2028 में Tata Elxsi share price का अनुमान

Tata elxsi share prices 2028

“निवेशकों के लिए: Tata Elxsi share price Target 2030 और 2028 की कीमतें”

tata elxsi share prices 2028 and 2030

“Tata Elxsi शेयर मूल्य 2030: फंडामेंटल विश्लेषण और आकलन”

Tata Elxsi share price की बात की जाइये तो पिछले 1 वर्षों में बिक्री में 27.8% की वृद्धि हुई है,जो इस समय के हिसाब से अच्छे संकेत की तरह दिखती है।

अगर हम बात करे पिछले 3 वर्षों की तो कंपनी ने बहुत अच्छा विकास दिखाया है,लगभग 25 % sales ग्रोथ दिखाया है। तो  संभावना है कि यह अगले कुछ वर्षों में भी उच्च बिक्री और इससे अच्छा कर सकती है।

बात करे पिछले पांच सालो की तो कंपनी corona pandemic होने पर भी कंपनी ने लगभग 17.8 % का सेल्स ग्रोथ दिखाया है। हलाकि ये ग्रोथ कम है लेकिन आने वाले समय में ये आंकड़े बदल सकते है।

क्यों  की  कंपनी का डेब्ट/इक्विटी रेश्यो तो ये बहुत ही attractive लेवल पर है। जो शून्य पर है। इसका मतल है कंपनी को बहुत मजबूती मिल रहा है। जो कंपनी के भविष्य  के लिए बहुत ही अच्छा है।  ये एक अच्छा संकेत है कंपनी का ग्रोथ करने का।

तो आने वाले समय में Tata elxsi share price अपने आज के current prices से लगभग 300% से 400% का Return दे सकता है।

tata elxsi share price target 2030

“तिमाही परिणाम 2 साल का: टाटा एलएक्सी शेयर की नजरें पिछले दो वर्षों में” टाटा एलएक्सी शेयर Result

दिए गए तिमाही विश्लेषण से स्पष्ट होता है tata alxsi का बिक्री 2022 से 2023 तक वृद्धि हुई है,कुल व्यय भी बढ़ते रहे हैं। प्रोव्हाइडिंग कार्य  में भी वृद्धि दिखाइए दे रही है। जिस से इसका ऑपरेटिंग प्रॉफिट भी बढ़ रहा है। ये सामान्य किसी भी कंपनी के लिए अच्छा मन जाता है।

तो आने वाले समय में हम इस कंपनी से और ज्यादा उम्मीद कर सकते है और एक भेहतरीन return दे सकता है। उम्मीद  है आने वाले समय 2030 तक Tata Elaxsi share prices लगभग 27000 से 30000 रहने का उम्मीद है।

“Tata Elxsi शेयर मूल्यों का होल्डिंग पैटर्न 2023”

Tata elxsi share holding pattern

Tata Elaxsi share होल्डिंग पैटर्न में, 2022 से 2023 की अवधि में promotor की होल्डिंग महत्वपूर्ण दिखाइए दे रहा है।  क्यों की लास्ट दो साल में promotor की होल्डिंग में कोई चेंज नहीं आया है  जो की 43.9 % का हिस्सा है जो एक Positive  साइन देता है स्टॉक के लिए  यह एक अच्छा संकेत है शेयर इन्वेस्टर के लिए  promotor को अपने कंपनी में बहुत विस्वाश है .

जब कंपनी ग्रो करेगी तो इन्वेस्टर को भी मुनफा होगा ,इसके साथ ही  37.78%, हिस्सा विदेशी निवेशकों (FII) का हिस्सा 14.22% और  (DII) का हिस्सा 4.08% है,इस से  साबित होता है  की आने वाले समय में Tata Elxsi share prices 2030 में बहुत अच्छा return दे सकता है।

“2025 से 2030: टाटा एलक्सी शेयर Prices”

tata elxsi ka share prices 2025 se 2030 tak

इस टेबल से आप समझ सकते है की टाटा elxsi का शेयर prices आने वाले समय में कैसे बढ़ सकता है। 1st लक्ष्य और 2nd लक्ष्य की बात करे तो 2025 में यह 11000 से 12000 का टारगेट हो सकता है। वर्ष 2026 में 11500 से लेकर ₹13,500 तक आ सकता है। वर्ष 2027 में सबसे पहले ₹13,000 से 18000 का लक्ष्य प्राप्त कर सकता है। वर्ष 2028 में  ₹19,000 से ₹21,500 के बिच रह सकता है। और अंत में, बात करे 2030 की तो पहला टारगेट 23000 का होगा और दूसरा टारगेट 27000 का हो सकता है।

Note:- “Before investing, stock market is the risky place there are risks associated with investing in the stock market. making investment decisions, Ask  your own expert advice before take any decisions, This information is intended for educational purposes only and it is not a investment advice. This is my personal opinion only.

“विश्लेषण(Research) रिपोर्ट: निवेश के लिए अनुसंधान रिपोर्टें”

Tata elxsi share research report

Tata Elxsi के टॉप मजबूतियाँ (strength)
  • कंपनी बिलकुल कर्ज मुक्त है।
  • कंपनी का ROE ट्रैक रिकॉर्ड बहुत अच्छा है जिसमें 36.11% है।
  • कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में प्रतिवर्ष औसत लाभ 43.40% प्रस्तुत किया है जो की बहुत अच्छा है।
  • कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में 25.01% की आय में बढ़ोतरी दिखाया है।
  • कंपनी की स्वस्थ ऑपरेटिंग मार्जिन 30.53% है।

और ज्यादा जानकारी के लिए

Facebook Page Instagram Telegram LinkedIn और YouTube join कर सकते है। 

2025 में टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस कितना होगा?
टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस 2025 में 1100 से लेकर 1200 रहने का अनुमान है जैसा की इसका पास्ट ग्रोथ है ये स्टॉक सबसे अच्छा ग्रोथ कर सकता है।क्यों की लास्ट दो साल का रिकॉर्ड देखा जाइये तो सेल्स ,और प्रॉफीट दोनों बढ़ रहा है।
2030 में टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस कितना होगा?
टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस 2030  में 2300 से लेकर 2700 रहने का अनुमान है बात करे इसके ग्रोथ की तो फिछले पांच साल  की   यह  400%  का return दिया है। इसलिए ये स्टॉक अच्छा इन्वेस्टमेंट स्टॉक हो सकता है।
क्या TATA ELXSI एक अच्छा long term investment है?
हां  TATA ELXSI एक अच्छा long term investment हो सकता है। क्यों की  इसका पास्ट ग्रोथ ट्रैक बहुत अच्छा है। अगर है इसके ग्रोथ की बात करे तो लास्ट पांच साल में लगभग 400% का return बना चूका है। जो अभी भी potential रखता है Multibagger बनने का.
 
आप ये भी जानकारी ले सकते है ?
 
 
 

Pradhan mantri jeevan jyoti bima yojana

Pradhan mantri jeevan jyoti bima yojana का पूरा गाइड

परिचय

भारत सरकार द्वारा समर्थित एक ऐसी जीवन बीमा योजना है। जो आप आदमी को उसे कठिन परिस्थिति में उसके घर वाले के सहारा दिला सकता है। इसी  सोच के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा वर्ष 2015 में ये योजना लाया गया था। जिसका नाम pradhan mantri jeevan jyoti bima yojana है।

इस योजना का लाभ 18 से 50 वर्ष की आयु वाले व्यक्ति ले सकते है जो भारत के नागरिक हो। जैसा की इसका नाम है pradhan mantri jeevan jyoti bima yojana है। यह एक लाइफ बीमा है जो भारतीय government द्वारा दी जाती है। इस योजना के तहद वार्षिक प्रीमियम ₹436 देना होता है. और अगर किसी कारनवश विमा धारक का मृत्यु हो जाता है। तो उसके परिवार को दो लाख रुपए दे दिए जाते है।

Jeevan jyoti bima yojana पात्रता मानदंड और शर्त

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए व्यक्ति को भारत का नागरिक होना चाहिए
  • आयु 18 से 50 की आयु होनी चाहिए।
  • भारत के किसी सरकारी या गैरसरकारी बैंक में खता होना चाइये या फिर जनधन योजना का बैंक खता होना चाहिए।
  • आप के पास आधार कार्ड होना चाहिए।

Most important शर्त बीमा धारक के लिए 

1 देय  प्रीमियम राशि ₹436 प्रति वर्ष
2 लाइफ कवर नियम मृत्यु कवरेज
3 अधिकतम या न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष से 50 वर्ष
4 अधिकतम कवरेज अवधि 50 वर्ष तक
5  प्रीमियम जमा  करने का दिनांक 25 से 31 मई के बीच

 

jeevan jyoti bima yojana के लिए आसान प्रीमियम भुगतान

Pradhan jeevan jyoti bima yojana पॉलिसी को लेने के लिए आप को 436 रुपए देंगे होंगे जो साल में एक बार देना होता है। इस पॉलिसी को लेने के बाद आप को हर साल मई के महीने में पेमेंट करने पड़ेगे।इस पॉलिसी का 1 वर्ष 1 जून से लेकर 31 मई तक का होता है अगर आप ने पॉलिसी लिया है तो उसे ऑनलाइन ऑटोडेबिट किया है तो 25 से 31 मई के बीच आप के आकउंट से पैसा ऑटो डेबिट हो जाता है।

Jeevan jyoti bima परिवार को सुरक्षित करे

Jeevan Jyoti Bima Yojana in short

Name of Bima pm Jeevan Jyoti bima yojana
Start By Central government of India in 2015
Beneficiary All Citizens of India (Under age 18 to 50)
Aim Providing policy insurance to all citizen of India
Official website www.jansuraksha.gov.in

 

aaiye jante hai pradhan mantri jeevan jyoti bima yojana kya hai?

अपने परिवार के भविष्य को सुरक्षित करे 200000 रुपए मदत के साथ

इस योजना के लिए प्रीमियम 436 रुपए देने होंगे जो साल में एक बार देना होगा ये Amount आपके bank Account से डेबिट किया जाइयेगा जो की बहुत कम है।इतने कम राशि से अपने परिवार के किसी भी सदस्य को 2 लाख तक का बीमा करा सकते है,किसी कारन वश उनकी मृत्यु हो जाती है। तो आपके परिवार को 200000 लाख तक का अमाउंट दिया जाता है.

जीवन ज्योति बीमा योजना में दाखिला प्रक्रिया कैसे करें?


Jeevan jyoti bima को Aapply करने के लिए ऑफलाइन प्रक्रिया हैJeevan jyoti bima yojana में दाखिला करना बहुत आसान है। ये आपके परिवार के भविष्य को सुरक्षित रखने का एक बहुत ही अच्छा रास्ता है। तो आइये जानते है। कैसे इसका आवेदन करे?

  1.  सबसे पहले जो व्यक्ति इस वीमा को लेना चाहते है जनसुरक्षा की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा ।और वहा से सभी जानकारी लेनी चाहिए।
  2. जनसुरक्षा की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर PMJJBY Application Form PDF download करे।
  3. फॉर्म डाउनलोड करने के बाद पूछी गई सभी जानकरी भरे।
  4. फॉर्म भर कर आप अपने नजदीकी बैंक में जाइये जहा पे आपका Bank अकाउंट हो। जिस अकाउंट से आपका पैसा डेबिट होगा, उसमे अकाउंट  में premium   का पैसा  होना चाहिए
  5. उसके बाद जो जरुरी दस्तावेज जमा करे और आप का Jeevan jyoti bima योजना स्टार्ट हो जायेगा। आप आसानी से हर साल मई के महीने में पेमेंट कर सकते है।

jeevan Jyoti Bima Yojana आवेदक के लिए जरुरी दस्तावेज़

  • आधार कार्ड,पेन कार्ड ,
  • चुनाव कार्ड या कोई पहचान पत्र ,
  • मनरेगा कार्ड्स ,
  • ड्राइविंग लाइसेंस,
  • बैंक अकाउंट
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

            इस में आधार कार्ड और कोई एक पहचान कार्ड use कर सकते है।

Jeevan Jyoti Bima Yojana का महत्वपूर्ण उद्देश्य

  • ये योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा वर्ष 2015 में लाया गया था जिसका मैं पहला  उद्देश्य भारत के नीगरिकों को एक आर्थिक मदत देना था।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बीमा योजना लाया जिसका नाम प्रधानमंत्री Jeevan Jyoti Bima Yojana रखा गया इस योजना के तहद गरीब , और आर्थिक कमजोर वर्ग के लोगो के लिए कम खर्चे पे 50 वर्ष तक के लाइफ insurance ले सकते है जिसका सालाना आप को मात्र 436 रूपये प्रीमियम  देने होंगे
  • अगर स्कीम के अंतर्गत पॉलिसी धारक का 18 से 50 वर्ष के बीच मृत्यु हो जाता है तो उसके परिवार को 2 लाख रूपये दिए जाते है. इससे वह अपना अच्छे से जीवन व्यतीत कर सके।

जीवन ज्योति बीमा योजना कब लाभ नहीं मिलेगा।

  • यदि आपने वीमा लिया है। और आप का बैंक अकाउंट बद हो जाता है तो ऐसी स्थिति में आप योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  • जिस बैंक अकाउंट से आपका वीमा ऑटो डेबिट लिंक हुआ है उसमे हर साल मई के महीने में 436 रुपए primum की राशि होनी चाहिए।
  • अगर किसी व्यक्ति का उम्र 55 साल का हो गया हो तो Jeevan Jyoti Bima Yojana का लाभ नहीं मिलेगा।

जीवन ज्योति बीमा योजना के लाभ का खुलासा

  • इस का लाभ देश के नागरिक (इंडियन) जो 18 से 50 वर्ष के है वह ले सकते है।
  • इस योजना के द्वारा लाभार्थी को दो लाख का बीमा प्रदान किया जाता है।
  • इस योजना के सदस्य केवल 436 रूपये सालाना देकर अपना लाइफ insurance करा सकते है.
  • यह योजना आपके और आपके परिवार के साथी होती है, जो आपको हर कदम पर साथ देती है इसे आप नजदीकी बैंक जा कर ऑफलाइन आवेदन कर सकते है।

 

जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए बिना परेशानी के दावा प्रक्रिया

  • यदि किसी व्यक्ति ने Jeevan Jyoti Bima Yojana कराया है। और उसका  मृत्यु हो जाता है 55 साल से पहले तो उसका नॉमिनी इस योजना के तहद क्लैम कर सकता है।
  • लाभार्थी के मृत्यु के बाद पॉलिसी धारक के नॉमिनी को बीमा धारक के बैंक में संपर्क करना चाहिए।
  • पॉलिसी धारक के नॉमिनी को Jeevan Jyoti Bima Yojana क्लैम और discharge रसीद लेनी चाहिए
  • फिर नॉमिनी को क्लैम फॉर्म , discharge रसीद, मृत्यु प्रमाणपत्र,और कैंसिल चेक को जमा करे।

इस तरह बैंक के जो नियम है. उसको फॉलो करे और अपना सारा डॉक्यूमेंट जमा करे और अगले 45 दिन में नॉमिनी को क्लैम का पैसा मिल जाता है।

अगर आप Jeevan Jyoti Bema Yojana से exit हो गये हो तो क्या करे ?

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना किसी कारन से बंद हो गया हो और आप चाहते हो फिर से स्टार्ट करना तो आप आसानी से rejoin कर सकते है इसके लिए आपको एक स्वास्थ्य से संबंधित सर्टिफिकेट जमा करना होगा। जिसे  सेल्फ डिक्लेरेशन सर्टिफिकेट कहा जाता है। जब आप सर्टिफिकेट और primum दोनों का भुकतान  कर देते है तो आसानी से आपका फिर से Jeevan Jyoti Bema Yojana  स्टार्ट हो जाता है।

Jeevan Jyoti Bema Yojana summery

Jeevan Jyoti Bema Yojana एक सरकरी योजना है जो एक रक्षा कवच है,जो हर एक भारतीय परिवार को सुरक्षा प्रदान करती है। जो किसी भविष्य के खतरे में हमें वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

इससे आसानी से आप अपने नजदीकी बैंक में जा कर स्टार्ट कर सकते है।यह बहुत ही फ्लेक्सिबल है और इस योजना को आसानी से ऑफलाइन बैंक में जा कर बीमा कवर ले सकते है.

ये 18 से 50 साल के लोग आसानी बीमा करा सकते है,जिसे primum बहुत ही कम है मात्र 436 रूपये देकर Jeevan Jyoti Bema Yojana का लाभ ले सकते है। इसका क्लैम प्रोसेस बहुत इजी  है। यह बिमा भारत साकार की एक नई पहल है जिस में भारत के उन उच्च निम्न मध्यम वर्ग की श्रेणी के लोगो financial सहायता पहुंचना है।

इस  योजना के द्वारा हम अपने परिवार को खुशहाल और सुरक्षित बना सकते है। जीवन के  मुश्किल यात्रा  में ये  बहुत साथ दे सकता है।

ज्यादा जानकारी के लिए ऑफिसियल वेबसाइट देखे

www.jansuraksha.gov.in

National Toll-Free 1800-180-1111,1800-110-001

FAQ:-

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का क्लेम कैसे करें?

जब पॉलीसी  होल्डर का Death हो जाता है। और उसका age 18 से 55 साल के बिच होता है तब नॉमिनी  बैंक जाकर पालिसी का क्लैम कर सकता है।  बसर्ते की जो व्यक्ति पॉलिसी लिया था। वह पॉलीसी कम से कम 45 दिन पुराना होना चाइये।  पालिसी लेने के 45 दिन बाद ही क्लैम कर सकते है।उससे पहले क्लैम का निपटान नहीं किया जाता है।

जीवन ज्योति बीमा योजना का पैसा कितने दिनों में मिलता है?

जो व्यक्ति PM Jeevan Jyoti Bema Yojana लिया है उनका 200000 रुपए का लाइव कवरेज मिलता है लाभर्थी के मृत्यु के बाद नॉमिनी को बैंक में आकर क्लैम  करना होगा उसके बाद 45 दिन के भीतर नॉमिनी को क्लैम का सारा पैसा मिल जाता है।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए प्रीमियम राशि कितनी है?

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए प्रीमियम राशि 436 रुपए प्रतिवर्ष है जिसे आप 25 से 31 मई के बिच देना होता है। ये आप के बैंक अकाउंट हे ऑटो  डेबिट किया जाता है।

जीवन ज्योति बीमा कितने साल तक होता है?

PM Jeevan Jyoti Bema Yojana 18 से 50 वर्ष  वाले आयु समूह के लोगो के लिए दी जाती है। जिनके पास अपना एक बैंक अकाउंट हो , और इस योजना से लिए अपने बैंक कहते को ऑटो डेबिट के लिए सहमिति देते हो , यह योजना हर साल 1 जून से 31 ,मई तक समय अवधि के लिए होता है. हर वर्ष  आपको 436 रुपए देने होते है। 55  वर्ष  के age तक आपको ये लाइफ कवर करता है।

pf kya hota hai ये भविष्य का सबसे सुरक्षित investment कैसे है?

PF Kya Hota Hai? पीएफ का पैसा ऑनलाइन कैसे निकाले?

 PF का मतलब होता “प्रोवाइडेंट फंड” (Provident Fund) यह भारतीय सरकार द्वारा संचालित एक बचत योजना है।  यदि आप सरकारी या privet किसी भी कंपनी में काम करते है तो आपको जाना बहुत जरुरी है PF Kya Hota Hai और PF Kaise Nikale ताकि आप भविष्य में इसका लाभ ले सके।

इसके  माध्यम से कर्मचारी का कुछ पैसा PF में जमा होता है. जिसे “प्रोवाइडेंट फंड” कहा जाता है.जब कर्मचारी रिटायर होता है तो यह पैसा उससे मिलता है.इसे एक निवेश का तरीका भी कहा जा सकता है.क्यों  की हर साल government आप के पैसे  के ऊपर 7.5% से  8.5% interest देती है.

PF के Most Important नियम(Rules)

1)जब आप जॉब करते है तो pf Account में हर महीना पैसा जमा करना आवश्यक होता है। कम्पनी’ और कर्मचारी दोनों के द्वारा

2)योगदान दर  सामान्यत 12% होता है, जिसमें कम्पनी’ और कर्मचारी दोनों का हिस्सा होता है। हालांकि, कुछ कंपनियों में इस दर को बढ़ा सकती है.

3)हर कर्मचारी को PF अकाउंट खोलवाना अनिवार्य होता है. जिसे UAN (Universal Account Number) कहा जाता है।ये कंपनी द्वारा खोला जाता है.

4)जितना भी पैसा आप के अकाउंट जमा होगा साल के अंत में सरकार द्वारा उस पर interest दिया जाता है. ये 7.5% se लेकर 8.5% हो सकता है.

कंपनी के लिए पीएफ (Provident Fund)अनिवार्य

यदि किसी कंपनी में 20 या 20 से अधिक कर्मचीरी काम कर रहे है तो ऐसी कंपनी pf के दायरे में आती है. ये कम्पनी की ज़िम्मेदारी होतो है की कर्मचारी का PF अकाउंट ओपन कराये और पैसे को जमा कराये।

Salary से कितना प्रतिशत PF कटता  है?

कर्मचारी के salary का 12% पैसा  PF  के लिए कटा जाता है। और कंपनी द्वारा कर्मचारी के salary  का  8.33% पैसा  कर्मचारी के पेंशन योजना, और 3.67% EPF योजना में जमा किया जाता है.इस तरह PF में Total 12%+3.67% =15.67% पैसा आपके PF अकाउंट में जमा होता है और पेंशन योजना में 8.33% पैसा जमा होता है।

कंपनी और कर्मचारी द्वारा ईपीएफ खाते में समान राशि जमा की जाता है. इस टेबल से आप समझ सकते है।

योगदान

योगदान मासिक प्रतिशत

Employer (नियोक्ता)

12%

Employee(कर्मचारी)

12% or 10%

Total

24%

EPF में पैसे जमा करने के महत्वपूर्ण नियम को जाने। 

1)12% PF का पैसा कंपनी को जमा करना होता है  जिसमे में 8.33% पेंशन में जाता है. और 3.67% EPF में जमा होता है. जिस कंपनी में 20 से ज्यादा कर्मचारी काम करते है ये नियम उन कंपनी पर  लागु होता है.

2) 10% PF का  पैसा उन कंपनी में कटा जाता है जिसे में 20 या 20 से कम कर्मचारी काम करते है

3 ) कर्मचारी द्वारा दिया  गया 12% योगदान पूरी तरह से कर्मचारी के भविष्य निधि में जमा किया जाता है. इस तरह कर्मचारी के भविष्य निधि 12%+3.67% =15.67%  जमा किया जाता है.

4 )नियोक्ता यानि कंपनी को अतिरिक्त  ईडीएलआई और ईपीएफ के लिए क्रमशः 1.1% और 0.01% की पैसा जमा करना होता है. इस तरह कुल 13.61%कंपनी पैसा जमा करती है.

PF Kaise Nikale?आईये जानते है PF निकले का Best तरीका और पीएफ ऑनलाइन आवेदन

कोई भी व्यक्ति अपने EPF अकाउंट में जमा राशि आंशिक या पूरी तरह से निकाल सकता है. जब कोई व्यक्ति रिटायर हो जाता है , या लगातार दो महीने तक जॉब नहीं कर पता है , कोई मेडिकल emergency हो शादी हो ,या फिर कोई home लोन हो तो उस परिस्थिती में अपना PF निकाल सकता है.PF ऑनलाइन या ऑफलाइन easily निकाल सकते है. PF Kaise Nikale का पूरा प्रोसेस समझने के लिए इस लेख को आगे पढ़े।

pf kya hota hai जाने pf निकालने का बेस्ट तरीका

online सबसे Best तरीका pf निकालने का।(pf withdrawal online)

online सबसे Best तरीका pf निकालने का।

ऑनलाइन pf का पैसा निकाले के लिए सबसे पहले आपका UAN नंबर एक्टिवेट होना चाहिए और आपका KYC complete होना चाहिए। तब जाकर आप आसानी से ऑनलाइन pf निकाल  सकते है.

आइये समझते है stepwise PF Kaise Nikale?

1st :-EPFO के वेबसाइट UAN नंबर और पासवर्ड के साथ login करे

2nd :-ऑनलाइन तब पर क्लिक करे और Claim  के ऑप्शन पर जाइये।

3rd :-उसके बाद FORM 31,19,10C & 10D आपके सामने खुल जाइएगा फिर बैंक अकाउंट के last  4 अंक को दर्ज करे। और verify करे।

4th :-हस्ताक्षर का एक पेज ओपन होगा  YES करे और आगे बढे.

5th :-Proceed for Online Claim बटन पे क्लीक करे

6th :-फिर एक नया पेज आयेगा जिसमे में PF Advance (Form 31)’चुने।

7th:-इस नई पेज पर आपको अपना जिस उद्देश्य के लिए अग्रिम की आवश्यकता है उसे भरना होगा,Adress और कैंसिल चेक बुक स्कैन कॉपी अपलोड करना होगा।

8th:-verification पे टिक करे और Get Aadhar OTP पर क्लीक करे.

9th :-जब आप के मोबाइल पे OTP आजयेगा इसके बाद OTP को इंटर करे इंटर करे के फोम को समिट करे. इसके बाद दस से पन्दरह दिन में आप का पैसा आप के अकाउंट में आ जाता है.

 अधिक जानकारी के लिए Free PDF फाइल को डाउनलोड करे.

Download PDF

ऑफलाइन तरीका PF निकालने का। 

 

Offline PF कैसे Nikale ?

 

ऑफलाइन pf Nikale के लिए सबसे पहले आपको COMPOSITE CLAIM FORM (AADHAAR) की जरुरत पड़ेगा ,आप इससे EPFO के official वेबसाइट से जा कर डाउन लोड कर सकते है.

इस कम्पोजिट क्लेम फॉर्म आधार द्वारा आप अपना पूरा विवरण देते है, जैसे की बैंक अकाउंट ,UAN नंबर और आपका पर्सनल डिटेल्स भरकर नजदीकी EPFO के कार्यालय में जमा करे।

यदि आपका समंध पिछली कंपनी से ठीक नहीं तो ये COMPOSITE CLAIM FORM (AADHAAR)द्वारा आप का pf आसानी से निकला जा सकता है. इसके लिए आप को पिछली कम्पनी में जाने को कोई जरूरत नहीं है.

इस सुबिधा का लाभ लेने के लिए आप का UAN नंबर activate होना बहुत जरुरी होता है. और आपका आधार आप के UAN से लिंक होना चाहिए।
अगर आप का UAN और आधार लिंक नहीं है तो आप ऑफलाइन पैसे नहीं निकल पाइयगे।
ज्यादा जानकारी के लिए आप EPFO के प्रोटॉल को देखे।

PF अकाउंट से पैसे कब Nikal सकते है?

EPF से पूरा पैसा  तभी निकला’ जा सकता है जब कर्मचारी का उम्र  55 साल का हो गया हो और वह रिटायर हो गया हो.या कोई मेडिकल इमरजेंसी हो,सादी हो, कोई home लोन हो,या बच्चो के उच्च शिक्षा के लिए पैसे की जरूरत हो. तभी कोई कर्मचारी EPF से पैसे निकाल सकता है.

EPFO (Employees’ Provident Fund Organization) का एक नियम है जिसमे आप रिटायर के एक साल पहले आप अपना 90% PF का पैसा निकल सकते है.

अगर आप रिटायर से पहले ही बेरोजगार हो गाइये है और आप के पास नौकरी  नहीं तो आप अपने pf का पैसा निकल सकते है. बेरोजगरी के एक महीने बाद आप 75% पैसा pf से Nikal सकते है.बकया राशि जब आपका जब लग जाता है तब आप के pf अकॉउंट में भजे दिया जाता है.

कब और कैसे? Kitna PF निकाल सकते है जाने।

 

PF nikalne ka Rules

इस लेख में आप समझगें पुराना पीएफ कैसे निकाले?

For Requirements

(आवश्यकताओं के लिए)

Total working days

(कुल कार्यदिन)

Requirement Amount

(आवश्यकताएँ राशि)

 

 

Remarks

(टिप्पणियां)

 

यदि आपको को घर खरीदना हो और घर निर्माण करना हो

पांच साल तक लगातार जॉब करते होना चाहिए।

जो राशि आप निकला चाहते हो वह आपके सैलरी का 36 गुना या 24 गुना’हो सकता है.

24  गुना -जब आप प्रॉपटी ख़रीदते है।

36 गुना जब आप प्रॉपटी ख़रीदते और बनवाते है।

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है। 

होम लोन का क़िस्त पेमेंट

तीन साल तक कर्मचरी को लगातार जॉब में होना चाहिए

कुल जमा राशि का 90% निकाल सकते है.

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है। 

घर का repair करना हो।

जब कर्मचारी का घर बना होगा उस Date के बाद कर्मचारी लगतार 5 साल तक जॉब में होना चाहिए

आपके सैलरी का 12 गुना पैसे ही  निकल सकते है.

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है।

मेडिकल इमरजेंसी के लिए

कार्यदिन का शर्त नहीं है. कर्मचारी का सैलरी का 6 गुना पैसा

या pf खाते में ब्याज का पैसा +कर्मचारी का जमा पैसादोनों में जो कम होगा वह राशि निकली जा सकती है.

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है।

बच्चो का शादी के लिए

कर्मचारी को 7 साल तक लगातार जॉब में होना चाहिए। ब्याज का पैसा +कर्मचारी का जमा पैसा का 50% निकाल सकते है.

pf अकाउंट होल्डर और उसके भाई बहन पैसे निकाल सकते है.

 

EPF भविष्य का सबसे सुरक्षित investment कैसे है?

EPF (Employee Provident Fund) भारतीय सरकार द्वारा दी जाने वाली एक वित्तीय सुविधा है जो भारतीय कर्मचारियों को भविष्य के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है। ये सुविधा सरकारी और गैर सरकारी कंपनी में काम कर रहे लोगो को दी जाती है। यह भविष्य के लिए एक सुरक्षित निवेश विकल्प माना जाता है। क्यों की इसका उद्देश्य र्मचारियों को भविष्य के लिए निधि प्रदान करना होता है।


EPF के लाभ:

1. सुरक्षित निवेश:- यह सुरक्षित निवेश का विकल्प माना जाता है क्यों की इस निवेश में भारतीय Government direct involve रहती है. जिस से PF का पैसा सुरक्षित माना जाता है

2. ब्याज: PF पर प्रत्येक साल interest मिलता है जो 7.5% या 8.5% इसके आस पास हो सकता है। जिस से निवेश का मूल्य बढ़ता है।


3. अधिकरणीयता: EPF में निवेश किए कुल पैसे एक निश्चित समय अंतराल में ही निकाल सकते है। जिसे आप का निवेश सुरक्षित हो जाता हैऔर लम्बे समय में बड़ा अमाउंट मिलता है। यह एक लंबे समय वितरण योजना है जिससे धीरे-धीरे धन का निकाला जा सकता है।

4. कर लाभ: EPF में निवेश करने पर कुछ कर लाभ मिल सकता है यह आयकर कानून के अंतर्गत आने वाले कुछ छूट के साथ आता है।

याद रखें कि EPF को भविष्य के लिए सुरक्षित निवेश विकल्प माना जाता है, लेकिन ये आप के वित्तीय लक्ष्यों,निवेश की अवधि और रिस्क पर depend करता है।

 

For More information 

Mobile se Pf kaise nikale Stepwise smjhe pf kaise nikale

FAQ

1.क्या हम ईपीएफ ऑफलाइन निकाल सकते हैं?

हाँ आप EPF से अपना पैसा ऑफलाइन  निकाल  सकते है इसके लिए आपको अपने नजदीकी EPFO के ऑफिस में जाना पड़ेगा।
वहां पे आप आधार और गैर आधार विधि द्वारा PF Nikale का आवेदन कर सकते है।

2.पीएफ का पूरा पैसा कैसे निकाल सकते हैं?

PF Nikalne के लिए सबसे पहले ऑनलाइन EPFO के वेबसाइट से लॉगिन करना होगा  फिर ऑनलाइन सर्विसेज पेज  पे जा कर One Member-One EPF Account (Transfer Request) को select करे.
अगर आप दो महीने से ज्यादा दिन तक बेरोजगार है तो फॉर्म 19 भरकर पूरा PF निकले का आवेदन दे सकते है. इसे किये 10 से 15 दिन का टाइम लग सकता है.
अगर आप का सभी document ठीक है तो आसानी से पैसा आप के आकउंट में आ जाइएगा। 

3.पीएफ का पैसा कितने दिन में आ जाता है?

pf Nikalne का आवेदन करने के बाद 15 से 20  दिन में आप का पैसा आप के अकाउंट में आ जाता है। कोई मेडिकल इमरजेंसी हो तो advance PF के लिए अप्लाई कर सके है

4.साल में कितनी बार पीएफ निकाल सकते हैं?

अपने बच्चो की पढ़ाई के लिए केवल 3 बार पैसे निकल सकते है। अगर घर या प्रॉपटी ले रहे है तो सिर्फ एक बार pf nikal सकते है।

5.नौकरी छोड़ने से पहले मैं अपना पीएफ कैसे निकाल सकता हूं?

हां जब आप नौकरी छोड़ रहे हो
उससे पहले आप Pf Nikal सकते  हो या फिर अपने Pf में जमा राशि को नई कंपनी स्थानांतरित करने के लिए आवेदन कर सकते है। या आप ऑनलाइन फॉर्म 19 भर कर पैसे withdrawal के लिए अप्लाई कर सकते है।

SIP Kya Hai?

 

SIP Kya Hai? in Hindi

परिचय (Introduction)

क्या आप एक ऐसा बेहतर निवेश उपाय ढूंढ़ रहे हैं जो आपकी आय को बढ़ाने के साथ-साथ आपकी निवेश को भी सुरक्षित बनाए रखे? अगर हां, तो SIP आपके लिए एक सुनहरा मौका दे सकता है। SIP (Systematic Investment Plan) एक ऐसी निवेश है जो नियमित रूप से निवेशकों को अपनी आय का कुछ हिस्सा निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है।आज के technology की इस दुनिया में बहुत से ऐसे लोग जो अपने पैसे को निवेश तो करना चाहते है लेकिन उनको पता नहीं है।की पैसे को कैसे निवेश किया जाइये। और कहा निवेश किया जाइये तो आइये आज हम जानते है एक नये निवेश का तरीका जिसका नाम है SIP है।आखिर SIP Kya Hai? यह कैसे काम करता है?

क्या आपको पता है की आप अपनी आय को save करते हुए आप अपनी investment स्टार्ट कर सकते है. और अपनी सपनो को पूरा कर सकते है अगर हां, तो आपके लिए SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) एक बेहद उपयोगी निवेश विकल्प हो सकता है।SIP एक investment strategy है जहां पर आप एक नियमित अंतराल पर निवेश करते है. यह आपको छोटे amount और बड़े amount से इन्वेस्ट करने का मौका देता है. यहां आप weekly, Monthly, Quarterly या फिर Yearly इन्वेस्ट कर सकते है.

SIP Kya Hai?  विस्तार से जानिए”

बहुत से लोगो को पता नहीं होगा की SIP Kya Hai? और यह कैसे काम करता है?ये सवाल सभी नये इन्वेस्ट के मन में आता है.SIP का मतलब होता है systematic investment plan इसके माध्यम से Asset Management Company (AMC) अपना फण्ड लॉन्च करती है और छोटे और बड़े  निवेश उस फण्ड में निवेश करते है.SIP के माध्यम से Asset Management Company (AMC) आम जनता,छोटे और बड़े निवेशको का पैसा स्टॉक मार्किट में अपने फण्ड के माध्यम से इन्वेस्ट करती है और उनके पैसे को manage करती है.और  फण्ड को  मैनेज करने  लिए एक नॉर्मल चार्ज  लेती है.,जिसे आप कमिशन  भी बोल सकते हो.इस तरह SIP काम करता है. अलग अलग Asset Management Company (AMC) और फण्ड का चार्जेज अलग अलग हो सकता है।

Top Asset Management Company (AMC) जिसमे आप SIP कर सकते है।

1 एसबीआई फण्ड व्यवस्थापक (SBI फंड)

2 हेडज फंड व्यवस्थापक (HDFC फंड)

3 आइसीआईसीआई प्रूडेंशियल फंड व्यवस्थापक (ICICI प्रूडेंशियल फंड)

4 आडिटलवाइजर फंड व्यवस्थापक (Aditya Birla सनलाइफ फंड)

5 कोटक महिंद्रा फंड व्यवस्थापक (Kotak Mahindra फंड)

6 टाटा व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड व्यवस्थापक (Tata व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड)

7 एचडीएफसी स्टैंडर्ड चार्टर्ड फंड व्यवस्थापक (HDFC स्टैंडर्ड चार्टर्ड फंड)

8 कानन व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड व्यवस्थापक (Kotak व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड)

9 डीएचएफसी प्रूडेंशियल फंड व्यवस्थापक (DHFL प्रूडेंशियल फंड)

10 एक्सल फंड व्यवस्थापक (Axis फंड)

यहां AMC का लिंक है जहा पे आप जा कर इनके बारे में ज्यादा Information ले सकते है..

https://www.sbimf.com/mutual-fund/equity-mutual-funds

https://www.hdfcfund.com/

SIP Kya Hai? जाने कैसे अपनी आर्थिक और वित्तीय लक्ष्य को पा सकते है SIP द्वारा।

SIP में इन्वेस्ट करने के 5 Most लोकप्रिय तरीका

 Regular SIP (नियमित एसआईपी)

नियमित एसआईपी के द्वारा जब आप SIP करते है तो आप को लम्बे समय तक या एक निचित समय तक SIP कर सकते है. आप नियमित रूप से Weakly monthly, या Yearly SIP कर सकते है. जो भी फण्ड का आप चुनाव करते है उस फण्ड में एक निचित राशि इन्वेस्ट करते है।

1.Regular SIP (नियमित एसआईपी) द्वारा जिनते पैसे का sip ओपन किया है बाद में अमाउंट चेंज नहीं कर सकते है. आपको लगातर उतने’ पैसे निवेस्ट करने पड़ेगे। ये amount per month, per weak, या फिर yearly हो सकता है.

2. Flexible SIPS (फ्लेक्सी एसआईपी)

Flexible SIP जब आप करते है तो इसमें आप एक निचित amount से SIP स्टार्ट करते है इस SIP के माध्यम से आप को लगता की अभी SIP में पैसे कम डालने चाहिए तो कम कर सकते है. या बढ़ा सकते है इसलिए इसे Flexible SIP कहा जाता है. इसमें आप का बहुत ज्यादा नियंत्रण होता SIP पर।

3. Top-up SIPS (टॉप-अप एसआईपी)

जब आप टॉप-अप एसआईपी स्टार्ट करते है तो इस SIP के माध्यम से आप को अनुमति दी जाती है की आप अपने SIP के अमाउंट changes कर सकते है. एक निचित समय अंतराल बाद SIP के अमाउंट पैसा जोड़ सकते है। इसे ही Top-up SIP (टॉप-अप एसआईपी) कहा जाता है.

4. Trigger SIPS (ट्रिगर एसआईपी)

Trigger SIP (ट्रिगर एसआईपी) निवेश का एक ऐसा तरीका है जहाँ पे आप मार्किट का Wait करते है. जब NAV एक निचित स्तर पर आता है तब आप इन्वेस्ट करते है. इससे Trigger SIP (ट्रिगर एसआईपी) कहा जाता है.

5. Perpetual SIP (सतत एसआईपी)

Perpetual SIP (सतत एसआईपी) निवेश का एक ऐसा तरीका है जिस में निवेसक जितना चाहे उतने लम्बे समय तक इन्वेस्ट कर सकता है. यह निवेशक तैय करता है की उसको कब sip रोकनी है. जब लगता निवेशक को की अब सिप रोक देना चाहिए तब निवेशक फण्ड हॉउस को निर्देश देकर रोक सकता है.ये 5 पॉइंट से आप समझ गाइये होंगे की SIP Kya Hai? कैसे काम करता है?

SIP के लाभ और हानि 

SIP के 8 Most Important लाभ

1)Rupee cost averaging (रुपये की औसत लागत) की सुबिधाप्रदान करता है: –
इसका मतलब है कि जब आप निवेश करते हैं, तो यह आपको बाजार के माध्यम से निवेश की औसत मूल्य की खरीदारी करने की अनुमति देता है। इससे आपका investment Average हो जाता है. और आपका Return बढ़ हो जाता है.

2)Regular निवेश की आदत: –
यह नियमित investment की आदत को प्रदान करता है. जिससे से आपका इन्वेस्टमेंट बढ़ जाता है और Profit भी बड़ा दिखाइए देता है. और आपको नियमित SIP करते रहने को प्रेरित करता है.  यह नियमितता को बनाए रखने में मदद करता है और वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है।

3)मार्केट वोलेटिलिटी (Market Volatility) को नियंत्रित करना: –
जब आप निवेश करना स्टार्ट करते है तो मार्किट में कई बार Volatility बहुत ज्यादा होता है उस समय पर SIP चलता (Continue) होता है जिसे हम रोकते नहीं है. इससे हमरा पोर्टफोलियो Average हो जाता है. और हमारे इन्वेस्ट पर कोई बड़ा असर नहीं होता है. जिसे मार्केट वोलेटिलिटी (Market Volatility) control में होता है और प्रॉफिट ज्यादा होता है.

4)SIP Easy सुबिधा देता है: –
SIP में’आपको निवेश करने के लिए बड़ी राशि की जरुरत नहीं पड़ती है, बल्कि छोटे-मोटे निवेशों के माध्यम से बचत कर के sip लम्बे समय तक चला सकते है। यह नये छोटे और बड़े निवेशकों के लिए एक आसान और सुलभ निवेश के विकल्प प्रदान करता है. ये आपको flexibility प्रदान करता है, आप चाहे तो weekly, Monthly, yearly SIP स्टार्ट कर सकते है. इससे आप समझ सकते है की SIP kya hai? और कितना आसान है इन्वेस्ट करना

5)निवेश seriousness: –
जब आप एक बार SIP स्टार्ट कर लेते है तो आप अपने पोर्टफोलियो हर दिन बार बार ट्रैक करने की जरूरत नहीं होती है और जो amount का आप SIP स्टार्ट करा रखा है उतने पैसे आपके बैंक अकाउंट से SIP का जो डेट set होगा उस डेट पे Amount कट हो जाइएगा जिस से आपके नियमित निवेश करने की एक आदत सी हो जाती है इससे लम्बे समय में आप को अच्छा Return मिलता है.

6)समय की बचत: –
SIP आपको समय बचत की सुविधा प्रदान करता है। आपको निवेश करने के लिए अलग-अलग टाइम Frame प्रदान करता है. जिसमे आप अपने अनुसार निवेश करते है. आप अपने आय के आधार पे निवेश करते है. और यह आपको समय के साथ स्थिर और नियमित रूप से निवेश की आदत डालने में मदद करता है।

7)आर्थिक सुरक्षा: –
SIP आपको आर्थिक सुरक्षा की सुविधा प्रदान करता है। इसके माध्यम से आपका निवेश विभिन्न सेक्टर में होता है. जो आपके risk को कम कर देता है जीस से आपकी इन्वेस्ट को और आपको एक आर्थिक सुरक्षा प्रदान करता है.

8)लंबे समयावधि में बचत: –
SIP का एक अधिक महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह आपको लंबे समयावधि में बचत करने का अवसर प्रदान करता है। इसके माध्यम से आप धीरे-धीरे निवेश करते हैं और वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करते है. यह आपको लम्बे समय में एक अच्छा Return देता है. जिससे आप अपने Financial प्लान को successful कर सकते है। यह आपको दीर्घकालिक निवेश योजना बनाने में और Financial स्थिरता की सुरक्षा करने में मदद करता है।

SIP के 4 हानिया जिसे जानें

1)बाजार की उछाल: –
निवेश को ये बात पता होना चाहिए किये की जब स्टॉक मार्किट volatile होता है तब आपका फण्ड भी बहुत ज्यादा volatile होता है. जिसे से आप का फण्ड कभी ज्यादा profit तो कभी कम profit तो कभी negative Return दिखाई देता है. एक सामान Return दिखाई नहीं देता है. इसके वजह से आपको नुकसान हो सकता है।

2)निवेशकीय नीतियों की अवहेलना: –
अगर आप अपने नीतियों पर, फण्ड के नियम के अनुसार और आप अपने वित्तीय लक्ष्य अनुसार इन्वेस्ट नहीं करेंगे तो नुकसान होगा.

3)Emergency फण्ड: –
अगर निवेश के पास emergency फण्ड नहीं और तो उसे अचानक आपातकालीन आवश्यकताओं के समय निवेश निरस्त करने की जरूरत हो सकती है।इसके वजह से आपको नुकसान हो सकता है. इसलिए इमरजेंसी फण्ड पहले से रखना चाहिए

4)निवेश उद्देश्य की अस्पष्टता:
समय के साथ निवेशक के लक्ष्य और आवश्यकताएं बदल सकती हैं इस लिए आप को अपना उद्देश्य स्पष्ट होना चाहिए। ताकि आप का जो वित्तीय लक्ष्य पूरा हो सके आप के SIP से।

लम्प सम इन्वेस्टमेंट (Lump Sum Investment) SIP Kya Hai?

इस मेथड में सिंगल payment करते है इसमें एक साथ अपने वित्तीय लक्ष्य के हिसाब और अपने रिस्क के हिसाब से Lump Sum amount invest करते है। इस मेथड में अमाउंट फिक्स नहीं होता है आप के पास जब भी पैसा होता और आप इन्वेस्ट करना चाहते है तो आप इन्वेस्ट कर सकते है

Lump Sum SIP के लाभ और हानि

1)संभवतः उच्च रिटर्न मिल सकता है.
2)मार्किट को टाइम करने की आवश्यकता नहीं है
3)जितना जल्दी हो आप पैसे को काम पे लगा सकते है.
4)इसमें ये भी possible की की आप अपने SIP को लगातर नहीं चला सकते.
5)Return कम मिल सकता है.
6)आप flexible होते है कभी भी पैसे निकले के लिए जिससे आप का निवेशक और Target पूरा नहीं हो पता है.

SIP में Invest करने के दो Powerful एंड easy तरीका

SIP में निवेश दो तरह से कर सकते है.
1) Dement Account से SIP Start करना
2) Without(बिना) Dement से SIP Start करना

Dement Account से SIP Start कैसे करे ?

Dement Account से SIP में निवेश के लिए सबसे पहले आपके पास Dement account खोलना बहुत जरुरी होता है इसके माध्यम से आप SIP स्टार्ट कर सकते है और कभी भी स्टॉप कर सकते है Dement Account से किसी भी म्यूच्यूअल फण्ड में Direct निवेश कर सकते और कभी भी निकाल (Withdraw) सकते है और Dement Account से आप स्टॉक SIP और ट्रेडिंग दोनों कर सकते है.

Example: -Zerodha ,5Paisa, Upstox ये कुछ Discount brokers है जहा पे आप जा कर अपना Dement Account खोल सकते है.
Dement अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले आपको Document Required होगा
*आधार कार्ड (Aadhaar Card)
*पैन कार्ड (PAN Card),
*बैंक Account
*कैंसिल चेक
ये Document के साथ आसानी से आप ऑनलाइन अपना डेमेन्ट अकाउंट खोला सकते है और आसानी से 2 से 3 दिन में आपका अकाउंट खुल जाता है. फिर आप अपने Dement अकाउंट से म्यूच्यूअल फण्ड SIP, stock SIP, और स्टॉक की ट्रेडिंग भी कर सकते है.

डेमेण्ट अकाउंट खोलने के बाद म्यूच्यूअल फण्ड और अपनी SIP निवेश की राशि को चुनें:
एक बार जब खाता खुल जाता है, तो निवेशक को अपने अनुसार SIP फण्ड और amount चुन सकते है । फिर निवेशक अपनी Financial लक्ष्यों को धयान में रख कर अपने आय के आधार पर निवेश करना स्टार्ट कर सकते है ।

Zerodha एक reputed डिस्काउंट ब्रोकर है. जहां पे डेमेन्ट अकॉउंट ओपन करा सकते है: –

https://zerodha.com/?c=MA4243&s=CONSOLE

Without (बिना) Dement अकाउंट से SIP कैसे करे ?

Without (बिना) Dement अकाउंट से SIP करने के लिए आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी म्यूच्यूअल फण्ड के वेबसाइट जाकर अपना SIP  करा सकते है या किसी नजदीकी सब  ब्रोकर के पास जा कर अपना sip स्टार्ट करा सकते है.यहां  पे भी आपको सबसे पहले अकाउंट खोलना होगा इसके लिए  जरुरी Document की जरुरत होगी जैसी की आधार कार्ड,पेन कार्ड,बैंक अकाउंट पासपोर्ट साइज फोटों,
जब आप का अकाउंट खुल जाता है फिर आप अपने फण्ड का चयन करते है उसके बाद अपने रिस्क प्रोफाइल के अनुसार SIP स्टार्ट कर देते  है।और आप किसी experts की सलाह लेकर भी  निवेश स्टार्ट कर सकते है।

मोबाइल App से SIP करे।

बहुत से लोगो को ये पता नहीं है की SIP Kya Hai? क्या मोबाइल App से SIP कर सकते है? मोबाइल APP से SIP कैसे स्टार्ट करते है? इसके लिए सभी ब्रोकर और AMC का मोबाइल App होता जब आपका अकाउंट ओपन हो जाता है तो आप मोबाइल से SIP कर सकते है.मन लो की आप ने डीमेट अकाउंट से SIP स्टार्ट किया
उदाहरण के लिए अपने zerodhaडिस्काउंट ब्रोकर के साथ SIP स्टार्ट किया तो आप को एक App मिलेगा जिसका नाम Zerodha coin है। यहां पर आप सारा Details देख सकते है।आप का फण्ड कैसा perform कर रह है, अपने कितना इन्वेस्ट किया है, आप का SIP का अगला डेट क्या होगा,
ये सभी जानकारी आप को मोबाइल app पे मिल जाती है.

इसी तरह चाइये आप ऑनलाइन या ऑफलाइन SIP करते है आप को उस ब्रोकर का या Asset Management Company (AMC) का App मिल जाता है. जिसे आप आसानी से हैंडल कर सकते है. ये इन्वेस्टमेंट छोटे और बड़े दोनों निवेश के लिए बहुत आसान है अब आप समझ गये होंगे SIP Kya Hai? और कैसे काम करता है.

सही म्यूचुअल फंड का चुनाव 1 दिन करोड़ पति बना सकता है।

SIP स्टार्ट करने से पहले फण्ड का सही चुनाव करना बहुत जरुरी है. आइये जानते है कैसे इसका चुनाव करे सब से पहले आप का वित्तीय (Financial) लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए।अपने आये और financial के आधार पर अपना लक्ष्य सेट करना चाहिए। उसके बाद आप को शॉट टर्म या लॉन्ग के लिए इन्वेस्ट करना है ये पता होना चाहिए। रिस्क प्रोफाइल पता होना चाहिए। आप को कम रिस्क या जायदा रिस्क लेना है. अपने वित्तीय स्थिति देख कर अपनी रिस्क कैपेसिटी के आधार पर प्रोफाइल तय करें। ये सब जानकरी के आधार पे फण्ड का चुनाव कीजिये।

1 )फंड के परफॉर्मेंस को देखे
2 )फंड के नेट एसेट वैल्यू (NAV) देखे
3 )index के return के  साथ तुलना करें
4 )CAGR(compounded annual growth rate) चेक करे
5 )फण्ड मैनेजर को चेक करे उसका EXPRIANCE कैसा है ?और कब से काम कर रहा है?
6 )रेटिंग एजेंसी की रेटिंग जांच करे जिस फण्ड को आप खरीदना चाहते हो
7 )फण्ड का एग्जिट लोड चेक करे 1% या 1% से कम  हो तो अच्छा मन जाता है
8 )Expanse रेश्यो चेक करे ये भी 1 % से कम होना चाहिए
9 )लॉकिंग पेरिड्स चेक करे एक या दो इयर्स से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
10 )शार्प रेशियो-शार्प रेशियो चेक करे जीतना ज्यादा शार्प रेश्यो उतना ज्यादा जोखिम माना  जाता है.जितना कम उतना अच्छा मन जाता  है. शार्प रेश्यो 1 से 2 के बिच में होना चाहिए तो अच्छा मन जाता है.

नियमित रिटर्न के लिए एसआईपी जरुरी।

1)निवेश के लिए टारगेट सेट करे
2)लगातार निवेश करते रहे और अपने टारगेट को फ़ोकस करे
3)लंबे समय तक निवेश करे
4)अपने आवश्कता के अनुसार फण्ड चुने किसी के कहने पे  निवेश न करे पहले आप खुद से जांचे
फिर निर्नय ले। या अपने सलाहकर की मदत ले।
5)निवेश के लिए एक उच्चतम राशि चुने जिसे से आपका वित्तीय प्रॉब्लम शार्ट आउट हो सके.
6)अपने पोर्ट फ़ोलियो के चेक करते रहे जिस फण्ड में आपने  निवेश किया है उस फण्ड को  track करते रहना चाहिए।और ये देखना चाहिए  की इस       फण्ड में सब कुछ ठीक चल रहा है की नहीं।

जानिए SIP का असली राज क्या है? और common गलतफैमी 

निचे के ये 5 point से आप ये भी जान सकते है SIP Kya Hai? और SIP के positive और Negative पॉइंट क्या है?

1 )SIP केवल छोटे निवेशकों के लिए होता है।
वास्तविकता:-SIP में आज बड़े और छूटे निवेशक निवेश करते है यह छोटे और बड़े दोने के लिए सुरक्षित और प्रभावी निवेश का विकल्प है।
2) SIP कम  return देता है।
वास्तविकता:-आज SIP सबसे बेहतर Return दे रहा है अगर आप अच्छे फण्ड का निवेश करते है तो आप को सालाना 20% तक का भी Return  मिल सकता है.और यह fixed deposit ,LIC और अन्य सभी से बेहतर Return  देता है ,बस यहा आप को थोड़ी रिस्क लेनी पर सकती है
3)SIP से आप केवल एक फण्ड में निवेश कर सकते है।
वास्तविकता: SIP से आप अलग अलग सेक्टर में और अलग अलग फण्ड में निवेश कर सकते है। जिस से आप का पोर्टफोलियो Diversified हो जाता है और रिस्क कम  हो जाता  है।
4) SIP में निवेशक के लिए अधिक पैसे की आवश्कता होती है।
वास्तविकता: SIP करने ‘के लिए Minimum 100 रुपये से भी स्टार्ट कर सकते है. इस में छोटे और बड़े निवेश अपने आर्थिक स्थिति के अनुसार SIP कर सकते हैं।
5 SIP करना कठिन है।
SIP में निवेश करना बहुत ही सरल है। Account खोलने से लेकर SIP स्टार्ट करने तक सारा प्रोसेस बहुत आसान है. आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरह से स्टार्ट कर सकते है.

सारांश:Conclusion

अब आप समझ चुके है की SIP Kya Hai? यह कैसे काम करता है। इसके नुकसान, और फायदे, SIP एक आधुनिक और प्रभावशाली Investment का एक तरीका है. जी निवेश को अच्छा Return देता है. यह निवेशकों को नियमित रूप से निवेश करने और अच्छे रिटर्न प्राप्त करने का एक आसान और सुरक्षित तरीका है। जिस से आप अपनी आर्थिक आपूर्ति को को सुरक्षित बना सकते है. इसमें लम्बे समय तक निवेश कर आप बचत कर सकते है. जिस में आप को विभिन्न फंड में इन्वेस्ट का औसर मिलता है और इससे आप का रिस्क कम हो जाता है.
यदि आप सही फण्ड का चुनाव कर या किसी फण्ड मैनेजर’की सलाह पे इन्वेस्ट करते है तो आप अपने सपनो साकार कर सकते है. और करोड़पति बन सकते है. निवेश करने से पहले विभिन्न निवेश विकल्पों की जांच करें और पूरी तरह चेक करें ताकि आप सही फंड चुन सकें निवेश की योजना बनाएं और अपनी वित्तीय लक्ष्यों के अनुसार निवेश करें। तो आप आज ही निवेश करे’ और आप सफलता की ओर एक कदम आगे बढ़ा सकते है।

अंततः, ध्यान देनी की ये बात है की जब भी आप निवेश करे या निवेशक करना चाहते है तो सब से पहले आप अच्छी तरह अध्ययन करे ले या आपने सलाहाकर का सलाह लेकर ही इन्वेस्ट करे क्यों की इस में भी जोखिम है आप को नुकसान भी हो सकता है।

FAQ  लोगो के पूछे गए प्रश्न
4 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

SIP क्या है ?

SIP का मतलब होता सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान। जिसमें निवेशक नियमित अंतराल पर अपना पैसा लंबे समय तक लगता है और अपने वित्तीय लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए लागातर invest करता है.और फण्ड को होल्ड कर के रखता है जिस से उससे  लम्बे समय में अच्छा Return  मिलता है.
उदाहरण के लिए
1. किसी म्यूच्यूअल फण्ड के फण्ड में SIP कर सकते है.
2. किसी एक स्टॉक में SIP कर सकते है.
3. अपने अनुसाकर दो ,पांच ,या उससे अधिक कंपनी के स्टॉक में बास्केट बनाकर SIP कर सकते है.
बास्केट के लिए Smallcase App उसे कर सकते है https://www.smallcase.com/

SIP के लाभ Hindi me?

SIP (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) एक निवेश करने का तरीका है जो नियमित अंतराल पर निवेश करने का माध्यम प्रदान करती है। यह एक सुरक्षित और सुविधाजनक तरीका है वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए वरदान साबित हो सकता है.
नियमित निवेश:-SIP नियमित इन्वेस्ट करने का मौका देती है। आप नियमित तरीके से इन्वेस्ट कर आप अपने financial लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है.
सावधानीपूर्वक निवेश: -SIP आपको धीरे-धीरे निवेश करने की सलाह देती है। इसके माध्यम से, स्टॉक मार्किट के उच्च और निम्न रहने पर भी  आपका Return अच्छा मिल जाता है.
सामान्यज्ञान और सुविधाजनक: SIP आमतौर पर आसानी से उपलब्ध हो जाता है और निवेशकों को विभिन्न म्यूचुअल फंड्स और स्टॉक के बास्केट में निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है।

क्या एसआईपी 5 साल के लिए अच्छा है?

एसआईपी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) की अवधि आपके निवेश के लक्ष्यों और आर्थिक स्थिति पर निर्भर करेगी। अगर आप को लगता की हमरा लक्ष्य पांच साल में पूरा हो जाइएगा तो आप पांच साल के लिए SIP कर सकते है. लेकिन आप को इतने कम समय में compounding का पूरा लाभ नहीं मिलेगा. 10 साल की SIP अच्छा माना जाता है

SIP कितने साल का होता है?

SIP (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) की निश्चितअवधि निर्धारित नहीं होती है।निवेशक अपनी पसंद और आवश्यकता के अनुसार एक या अधिक सालों तक SIP जारी रख सकते हैं। अधिकांश  निवेशक लंबे समय तक के लये SIP  करते है क्यों की SIP लंबे समय में मुनाफा देती है.

SIP कब लेना चाहिए?

किसी विशेष काम के लिए पैसे की जरूरत: यदि आपके पास किसी विशेष लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पैसे की आवश्यकता है, जैसे घर खरीदना, शिक्षा के लिए,बच्चो की शादी के लिए ,या आप अपने बचो को पैसे गिफ्ट देने हो तो आपको जल्दी से SIP शुरू करना चाहिए।
दैनिक निवेश की अनुभव : SIP आपको नियमितता का अभ्यास देता है और आपको निवेश करने के लिए अनुभव प्रदान करता है। इसलिए, यदि आप निवेश में अनुभवी नहीं हैं, तो जल्दी से SIP शुरू करने चाहिए।
लम्बे समय के लिए निवेश का प्लान: SIP लम्बे समय में निवेश करने के लिए एक अच्छा  विकल्प होता है। यदि आप लंबी अवधि में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो जल्दी से SIP शुरू करें ताकि आपको लंबी अवधि में बेहतर फायदे हो सके।
बाजार समयावधि: SIP का मुख्य उद्देश्य आप के पैसे को वृद्धि करना. बाजार में लम्बे सयम तक इन्वेस्ट कर के पैसे को compounding करना। इसके लिए SIP करना चाहिए।

क्या मैं एसआईपी में प्रति माह 500 का निवेश कर सकता हूं?

हाँ, आप एसआईपी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में प्रति माह 500 का निवेश कर सकते हैं। आप चाहे तो 100, Wekly, Monthly देकर आप SIP स्टार्ट कर सकते है.

SIP करते समय क्या करना चाहिए?

1.निवेश के लिए लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए।
2.अपने रिस्क प्रोफ़ाइल का आकलन करना चाहिए।
3.निवेश करने का समय अंतराल निर्धारित करना चाहिए ।
4.निवेश राशि का निर्धारण करना चाहिए ।
5.अपने निवेश स्कीम का चयन करना चाहिए और निवेश सलाहकार की मदद लेना चाहिए।
6.नियमित निवेश का पालनकरना चाहिए करें।
7.अपने इन्वेस्टमेंट को की निगरानी करना चाहिए।

क्या मैं 6 महीने तक एसआईपी कर सकता हूं?

हाँ,आप 6 महीने के लिए भी SIP कर सकते है लेकिन इस में आपको कुछ लाभ या हानि हो सकता है. लेकिन SIP में ऐसा माना जाता है अगर आप दो साल से ज्यादा के लिए SIP करते है तो आप को अपने इन्वेस्टमेंट पर 15% से 20% तक का मुनाफा हो सकता है या फिर उसके आस पास का Return मिल सकता है. इस लिए आपके निवेश के लक्ष्य, आर्थिक स्थिति और आपकी वित्तीय योजना के आधार पर निर्धारित करें। लम्बे समय तक।

मैं एसआईपी से पैसे कैसे निकाल सकता हूं?

SIP से पैसे निकला बहुत आसान है , आप जब किसी भी AMC में या डेमेन्ट अकाउंट से SIP करते है। तो आप को एक APP मिलता है जिस से आप आसानी से पैसे निकाल सकते है

एसआईपी में मुझे प्रति माह कितना निवेश करना चाहिए?

SIP से आप को प्रति माह कितना निवेश करना चाहिए?ये आपके के,चार पॉइंट पे डिपेंड करता है.
1. वित्तीय लक्ष्य
2.आर्थिक स्थिति:
3.निवेशकीय प्रोफ़ाइल:
 4.बचत की समयावधि

अगर मैं 20 साल के लिए एसआईपी में 1000 रुपये का निवेश करूं तो क्या होगा?

यदि आप 20 साल के लिए हर माह एसआईपी करते है तो आप को एक बढ़ी हुई राशि मिलेगी. ये राशि आपके फण्ड के performance पे निर्भर करता है की आप किस तरह के फण्ड में SIP किया है.
उदहारण :- आप 1000 रुपए 20 साल तक एक अच्छे फण्ड में SIP करते हो अगर वह फण्ड सालाना 15% का Return देता है तो आपको 20 साल बाद
Rs. 1515955 (15.2 Lakhs) मिल सकता है या इससे भी अधिक मिल सकता है.
Amount Invested Rs. 240000 (2.4 Lakhs)
Wealth Gain Rs.1275955 (12.8 Lakhs)
Expected Amount Rs.1515955 (15.2 Lakhs)
SIP calculate करने के लिए इस लिंक पे क्लिक करे
https://sipcalculator.in/

एसआईपी के नुकसान क्या हैं?

1.निवेश पर मार्केट मूवमेंट का प्रभाव हो सकता है जिसे से आपका फण्ड negative या कम Return दे सकता है
2.किसी किसी फण्ड निवेश की अवधि होती है या लॉकिंग टाइम period होता है. अगर उस टाइम period से पहले फण्ड निकले हो तो आप को कुछ पेनल्टी भी देनी पड़ सकती है
3.स्टॉक मार्किट में negative न्यूज़ होना :-इस से शार्ट टर्म में आप के SIP में लॉस हो सकता लेकिन लम्बे समय में इसका असर कम हो जाता है.
4.अच्छे स्किम में इन्वेस्ट न करना :-यदि आप गलत या असामयिक स्कीम में निवेश करते हैं, तो आपको नुकसान हो सकता है। इस लिए फण्ड लेने से पहले आप अच्छी तरह समझ ले या आपने सलाहकर की सलाह ले. अन्यथा आपको नुकसान हो सकता है.

क्या एसआईपी 5 साल के लिए अच्छा है?

एसआईपी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) की अवधि आपके निवेश के लक्ष्यों और आर्थिक स्थिति पर निर्भर करेगी। अगर आप को लगता की हमरा लक्ष्य पांच साल में पूरा हो जाइएगा तो आप पांच साल के लिए SIP कर सकते है. लेकिन आप को इतने कम समय में compounding का पूरा लाभ नहीं मिलेगा. 10 साल की SIP अच्छा मन जाता है.

SIP  से कितना रिटर्न मिलता है?

1.ये आप के निवेश और बाजार की चाल पे निर्भर करता है.
2.आपने कौन सा फण्ड चुना है निवेश के लिए ?
3.निवेश की अवधि क्या है?
4.स्टॉक बाजार की प्रवृत्ति मार्किट कंडीशन क्या है जब आप इन्वेस्ट कर रहे हो?
5.आप की निवेश की मात्रा क्या है?
 
 
For more information about me and my YouTube blog

https://youtu.be/dmXAo6Cnnuo?t=216

शेयर मार्किट से कमाना बहुत आसान है ? Zomato share price target 2024,2025 ,2026 ,2027,2028 ,2030 ,2040 ,2045 ,2050, 2055 to 2060 Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी, अगस्त बिक्री डेटा का असर।