tata elxsi share price target 2030

Tata Elxsi share Price 2030 target

tata elxsi  एक भारतीय आईटी कंपनी है।  इसकी स्थापना 1989 में की गई थी और वर्तमान में टाटा समूह का एक हिस्सा है। वर्तमान में कंपनी का मुख्यालय  कर्नाटक  के बेंगलुरु,में स्थित है। tata elxsi share price target 2030 जानने से पहले कंपनी के बारे में जानना बहुत जरुरी है। कंपनी क्या करती है ? ये किस क्षेत्र में कैसे काम करती आईये जानते है।

Tata Elxsi कंपनी क्या करती है :-Tata Elxsi कंपनी विभिन्न क्षेत्रों में सेवाए प्रदान करती है। जैसे की  सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, डिजिटल मानचित्रण, विमान डिज़ाइन और ऑटोमोटिव सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट शामिल हैं। ये अपने कस्टमर को उच्च क्वालिटी का प्रोडक्ट प्रदान करती है।

इसके अलावा ऑटोमोटिव इलेक्ट्रॉनिक्स, स्वास्थ्य देखभाल, परिवहन, मीडिया, ब्रॉडकास्ट और कार्डियोलॉजी उद्योग में भी अपने सेवाए  देती  है। और अन्य  विभिन्न उद्योगों में सेवाएं और समाधान प्रदान करती है।

2023 से लेकर 2030: Tata Elxsi price का संभावित पूर्वानुमान

दोस्तों किसी भी कंपनी के स्टॉक प्राइस कई तत्वों पर निर्भर करता है। इसलिए tata elxsi share price 2030 में कैसा होगा ये कंपनी के वित्तीय नतीजे, बाजार की स्थिति, और मैक्रोएकनॉमिक तत्व पर निर्भर करता है।

  • वित्तीय नतीजे ,
  • बाजार की स्थिति:
  • मैक्रोएकनॉमिक तत्व:-,

कंपनी के Financial रिजल्ट :-

कंपनी के आर्थिक रिजल्ट, उत्पादन, बिक्री, मुनाफा और कारोबारी दिक्कतें  कंपनी के  स्टॉक को  प्रभावित कर सकता है। यदि  कंपनी का रिजल्ट बहुत अच्छा हुआ तो कंपनी में ग्रोथ होगा और साथ ही साथ इन्वेस्टर का भी ग्रोथ होगा और स्टॉक के प्राइस में मूवमेंट दिखाई देगा।

बाजार की स्थिति:

शेयर बाजार के अन्य सेक्टर के शेयर का प्रदर्शन  ,शेयर बाजार के  सामान्य स्थिति में भी किसी भी स्टॉक को ऊपर या नीचे ले जा सकता है। क्यो की शार्ट टर्म में बाजार कभी कभी न्यूज़ पर बहुत ज्यादा volatile होता है। इसलिए बाजार की स्थिति अगर अच्छी है तो सभी स्टॉक भी अच्छा परफॉर्म करते है।

मैक्रोएकनॉमिक तत्व:-

शेयर बाजार में मैक्रोएकनॉमिक का असर बहुत ज्यादा होता है। यदि  मैक्रोएकनॉमिक अच्छा नहीं रहा तो इसका असर सभी सेक्टर या किसी particular sector पर देखने को मिल सकता है। ये राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था, सरकारी नीतिया, समाचार और घटनाएं:और कंपनी संबंधित समाचार, ये सभी मैक्रोएकनॉमिक तत्व किसी भी स्टॉक,या सेक्टर पर प्रभाव डाल सकते है।  ये अच्छा और बुरा दो हो सकता है।

बात करे Tata Elxsi share prices की – पांच साल बाद 2028 की तो ये 21400 के आस पास जा सकता है।

“2028 में Tata Elxsi share price का अनुमान

Tata elxsi share prices 2028

“निवेशकों के लिए: Tata Elxsi share price Target 2030 और 2028 की कीमतें”

tata elxsi share prices 2028 and 2030

“Tata Elxsi शेयर मूल्य 2030: फंडामेंटल विश्लेषण और आकलन”

Tata Elxsi share price की बात की जाइये तो पिछले 1 वर्षों में बिक्री में 27.8% की वृद्धि हुई है,जो इस समय के हिसाब से अच्छे संकेत की तरह दिखती है।

अगर हम बात करे पिछले 3 वर्षों की तो कंपनी ने बहुत अच्छा विकास दिखाया है,लगभग 25 % sales ग्रोथ दिखाया है। तो  संभावना है कि यह अगले कुछ वर्षों में भी उच्च बिक्री और इससे अच्छा कर सकती है।

बात करे पिछले पांच सालो की तो कंपनी corona pandemic होने पर भी कंपनी ने लगभग 17.8 % का सेल्स ग्रोथ दिखाया है। हलाकि ये ग्रोथ कम है लेकिन आने वाले समय में ये आंकड़े बदल सकते है।

क्यों  की  कंपनी का डेब्ट/इक्विटी रेश्यो तो ये बहुत ही attractive लेवल पर है। जो शून्य पर है। इसका मतल है कंपनी को बहुत मजबूती मिल रहा है। जो कंपनी के भविष्य  के लिए बहुत ही अच्छा है।  ये एक अच्छा संकेत है कंपनी का ग्रोथ करने का।

तो आने वाले समय में Tata elxsi share price अपने आज के current prices से लगभग 300% से 400% का Return दे सकता है।

tata elxsi share price target 2030

“तिमाही परिणाम 2 साल का: टाटा एलएक्सी शेयर की नजरें पिछले दो वर्षों में” टाटा एलएक्सी शेयर Result

दिए गए तिमाही विश्लेषण से स्पष्ट होता है tata alxsi का बिक्री 2022 से 2023 तक वृद्धि हुई है,कुल व्यय भी बढ़ते रहे हैं। प्रोव्हाइडिंग कार्य  में भी वृद्धि दिखाइए दे रही है। जिस से इसका ऑपरेटिंग प्रॉफिट भी बढ़ रहा है। ये सामान्य किसी भी कंपनी के लिए अच्छा मन जाता है।

तो आने वाले समय में हम इस कंपनी से और ज्यादा उम्मीद कर सकते है और एक भेहतरीन return दे सकता है। उम्मीद  है आने वाले समय 2030 तक Tata Elaxsi share prices लगभग 27000 से 30000 रहने का उम्मीद है।

“Tata Elxsi शेयर मूल्यों का होल्डिंग पैटर्न 2023”

Tata elxsi share holding pattern

Tata Elaxsi share होल्डिंग पैटर्न में, 2022 से 2023 की अवधि में promotor की होल्डिंग महत्वपूर्ण दिखाइए दे रहा है।  क्यों की लास्ट दो साल में promotor की होल्डिंग में कोई चेंज नहीं आया है  जो की 43.9 % का हिस्सा है जो एक Positive  साइन देता है स्टॉक के लिए  यह एक अच्छा संकेत है शेयर इन्वेस्टर के लिए  promotor को अपने कंपनी में बहुत विस्वाश है .

जब कंपनी ग्रो करेगी तो इन्वेस्टर को भी मुनफा होगा ,इसके साथ ही  37.78%, हिस्सा विदेशी निवेशकों (FII) का हिस्सा 14.22% और  (DII) का हिस्सा 4.08% है,इस से  साबित होता है  की आने वाले समय में Tata Elxsi share prices 2030 में बहुत अच्छा return दे सकता है।

“2025 से 2030: टाटा एलक्सी शेयर Prices”

tata elxsi ka share prices 2025 se 2030 tak

इस टेबल से आप समझ सकते है की टाटा elxsi का शेयर prices आने वाले समय में कैसे बढ़ सकता है। 1st लक्ष्य और 2nd लक्ष्य की बात करे तो 2025 में यह 11000 से 12000 का टारगेट हो सकता है। वर्ष 2026 में 11500 से लेकर ₹13,500 तक आ सकता है। वर्ष 2027 में सबसे पहले ₹13,000 से 18000 का लक्ष्य प्राप्त कर सकता है। वर्ष 2028 में  ₹19,000 से ₹21,500 के बिच रह सकता है। और अंत में, बात करे 2030 की तो पहला टारगेट 23000 का होगा और दूसरा टारगेट 27000 का हो सकता है।

Note:- “Before investing, stock market is the risky place there are risks associated with investing in the stock market. making investment decisions, Ask  your own expert advice before take any decisions, This information is intended for educational purposes only and it is not a investment advice. This is my personal opinion only.

“विश्लेषण(Research) रिपोर्ट: निवेश के लिए अनुसंधान रिपोर्टें”

Tata elxsi share research report

Tata Elxsi के टॉप मजबूतियाँ (strength)
  • कंपनी बिलकुल कर्ज मुक्त है।
  • कंपनी का ROE ट्रैक रिकॉर्ड बहुत अच्छा है जिसमें 36.11% है।
  • कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में प्रतिवर्ष औसत लाभ 43.40% प्रस्तुत किया है जो की बहुत अच्छा है।
  • कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में 25.01% की आय में बढ़ोतरी दिखाया है।
  • कंपनी की स्वस्थ ऑपरेटिंग मार्जिन 30.53% है।

और ज्यादा जानकारी के लिए

Facebook Page Instagram Telegram LinkedIn और YouTube join कर सकते है। 

2025 में टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस कितना होगा?
टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस 2025 में 1100 से लेकर 1200 रहने का अनुमान है जैसा की इसका पास्ट ग्रोथ है ये स्टॉक सबसे अच्छा ग्रोथ कर सकता है।क्यों की लास्ट दो साल का रिकॉर्ड देखा जाइये तो सेल्स ,और प्रॉफीट दोनों बढ़ रहा है।
2030 में टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस कितना होगा?
टाटा एलेक्सी का शेयर प्राइस 2030  में 2300 से लेकर 2700 रहने का अनुमान है बात करे इसके ग्रोथ की तो फिछले पांच साल  की   यह  400%  का return दिया है। इसलिए ये स्टॉक अच्छा इन्वेस्टमेंट स्टॉक हो सकता है।
क्या TATA ELXSI एक अच्छा long term investment है?
हां  TATA ELXSI एक अच्छा long term investment हो सकता है। क्यों की  इसका पास्ट ग्रोथ ट्रैक बहुत अच्छा है। अगर है इसके ग्रोथ की बात करे तो लास्ट पांच साल में लगभग 400% का return बना चूका है। जो अभी भी potential रखता है Multibagger बनने का.
 
आप ये भी जानकारी ले सकते है ?
 
 
 

pf kya hota hai ये भविष्य का सबसे सुरक्षित investment कैसे है?

PF Kya Hota Hai? पीएफ का पैसा ऑनलाइन कैसे निकाले?

 PF का मतलब होता “प्रोवाइडेंट फंड” (Provident Fund) यह भारतीय सरकार द्वारा संचालित एक बचत योजना है।  यदि आप सरकारी या privet किसी भी कंपनी में काम करते है तो आपको जाना बहुत जरुरी है PF Kya Hota Hai और PF Kaise Nikale ताकि आप भविष्य में इसका लाभ ले सके।

इसके  माध्यम से कर्मचारी का कुछ पैसा PF में जमा होता है. जिसे “प्रोवाइडेंट फंड” कहा जाता है.जब कर्मचारी रिटायर होता है तो यह पैसा उससे मिलता है.इसे एक निवेश का तरीका भी कहा जा सकता है.क्यों  की हर साल government आप के पैसे  के ऊपर 7.5% से  8.5% interest देती है.

PF के Most Important नियम(Rules)

1)जब आप जॉब करते है तो pf Account में हर महीना पैसा जमा करना आवश्यक होता है। कम्पनी’ और कर्मचारी दोनों के द्वारा

2)योगदान दर  सामान्यत 12% होता है, जिसमें कम्पनी’ और कर्मचारी दोनों का हिस्सा होता है। हालांकि, कुछ कंपनियों में इस दर को बढ़ा सकती है.

3)हर कर्मचारी को PF अकाउंट खोलवाना अनिवार्य होता है. जिसे UAN (Universal Account Number) कहा जाता है।ये कंपनी द्वारा खोला जाता है.

4)जितना भी पैसा आप के अकाउंट जमा होगा साल के अंत में सरकार द्वारा उस पर interest दिया जाता है. ये 7.5% se लेकर 8.5% हो सकता है.

कंपनी के लिए पीएफ (Provident Fund)अनिवार्य

यदि किसी कंपनी में 20 या 20 से अधिक कर्मचीरी काम कर रहे है तो ऐसी कंपनी pf के दायरे में आती है. ये कम्पनी की ज़िम्मेदारी होतो है की कर्मचारी का PF अकाउंट ओपन कराये और पैसे को जमा कराये।

Salary से कितना प्रतिशत PF कटता  है?

कर्मचारी के salary का 12% पैसा  PF  के लिए कटा जाता है। और कंपनी द्वारा कर्मचारी के salary  का  8.33% पैसा  कर्मचारी के पेंशन योजना, और 3.67% EPF योजना में जमा किया जाता है.इस तरह PF में Total 12%+3.67% =15.67% पैसा आपके PF अकाउंट में जमा होता है और पेंशन योजना में 8.33% पैसा जमा होता है।

कंपनी और कर्मचारी द्वारा ईपीएफ खाते में समान राशि जमा की जाता है. इस टेबल से आप समझ सकते है।

योगदान

योगदान मासिक प्रतिशत

Employer (नियोक्ता)

12%

Employee(कर्मचारी)

12% or 10%

Total

24%

EPF में पैसे जमा करने के महत्वपूर्ण नियम को जाने। 

1)12% PF का पैसा कंपनी को जमा करना होता है  जिसमे में 8.33% पेंशन में जाता है. और 3.67% EPF में जमा होता है. जिस कंपनी में 20 से ज्यादा कर्मचारी काम करते है ये नियम उन कंपनी पर  लागु होता है.

2) 10% PF का  पैसा उन कंपनी में कटा जाता है जिसे में 20 या 20 से कम कर्मचारी काम करते है

3 ) कर्मचारी द्वारा दिया  गया 12% योगदान पूरी तरह से कर्मचारी के भविष्य निधि में जमा किया जाता है. इस तरह कर्मचारी के भविष्य निधि 12%+3.67% =15.67%  जमा किया जाता है.

4 )नियोक्ता यानि कंपनी को अतिरिक्त  ईडीएलआई और ईपीएफ के लिए क्रमशः 1.1% और 0.01% की पैसा जमा करना होता है. इस तरह कुल 13.61%कंपनी पैसा जमा करती है.

PF Kaise Nikale?आईये जानते है PF निकले का Best तरीका और पीएफ ऑनलाइन आवेदन

कोई भी व्यक्ति अपने EPF अकाउंट में जमा राशि आंशिक या पूरी तरह से निकाल सकता है. जब कोई व्यक्ति रिटायर हो जाता है , या लगातार दो महीने तक जॉब नहीं कर पता है , कोई मेडिकल emergency हो शादी हो ,या फिर कोई home लोन हो तो उस परिस्थिती में अपना PF निकाल सकता है.PF ऑनलाइन या ऑफलाइन easily निकाल सकते है. PF Kaise Nikale का पूरा प्रोसेस समझने के लिए इस लेख को आगे पढ़े।

pf kya hota hai जाने pf निकालने का बेस्ट तरीका

online सबसे Best तरीका pf निकालने का।(pf withdrawal online)

online सबसे Best तरीका pf निकालने का।

ऑनलाइन pf का पैसा निकाले के लिए सबसे पहले आपका UAN नंबर एक्टिवेट होना चाहिए और आपका KYC complete होना चाहिए। तब जाकर आप आसानी से ऑनलाइन pf निकाल  सकते है.

आइये समझते है stepwise PF Kaise Nikale?

1st :-EPFO के वेबसाइट UAN नंबर और पासवर्ड के साथ login करे

2nd :-ऑनलाइन तब पर क्लिक करे और Claim  के ऑप्शन पर जाइये।

3rd :-उसके बाद FORM 31,19,10C & 10D आपके सामने खुल जाइएगा फिर बैंक अकाउंट के last  4 अंक को दर्ज करे। और verify करे।

4th :-हस्ताक्षर का एक पेज ओपन होगा  YES करे और आगे बढे.

5th :-Proceed for Online Claim बटन पे क्लीक करे

6th :-फिर एक नया पेज आयेगा जिसमे में PF Advance (Form 31)’चुने।

7th:-इस नई पेज पर आपको अपना जिस उद्देश्य के लिए अग्रिम की आवश्यकता है उसे भरना होगा,Adress और कैंसिल चेक बुक स्कैन कॉपी अपलोड करना होगा।

8th:-verification पे टिक करे और Get Aadhar OTP पर क्लीक करे.

9th :-जब आप के मोबाइल पे OTP आजयेगा इसके बाद OTP को इंटर करे इंटर करे के फोम को समिट करे. इसके बाद दस से पन्दरह दिन में आप का पैसा आप के अकाउंट में आ जाता है.

 अधिक जानकारी के लिए Free PDF फाइल को डाउनलोड करे.

Download PDF

ऑफलाइन तरीका PF निकालने का। 

 

Offline PF कैसे Nikale ?

 

ऑफलाइन pf Nikale के लिए सबसे पहले आपको COMPOSITE CLAIM FORM (AADHAAR) की जरुरत पड़ेगा ,आप इससे EPFO के official वेबसाइट से जा कर डाउन लोड कर सकते है.

इस कम्पोजिट क्लेम फॉर्म आधार द्वारा आप अपना पूरा विवरण देते है, जैसे की बैंक अकाउंट ,UAN नंबर और आपका पर्सनल डिटेल्स भरकर नजदीकी EPFO के कार्यालय में जमा करे।

यदि आपका समंध पिछली कंपनी से ठीक नहीं तो ये COMPOSITE CLAIM FORM (AADHAAR)द्वारा आप का pf आसानी से निकला जा सकता है. इसके लिए आप को पिछली कम्पनी में जाने को कोई जरूरत नहीं है.

इस सुबिधा का लाभ लेने के लिए आप का UAN नंबर activate होना बहुत जरुरी होता है. और आपका आधार आप के UAN से लिंक होना चाहिए।
अगर आप का UAN और आधार लिंक नहीं है तो आप ऑफलाइन पैसे नहीं निकल पाइयगे।
ज्यादा जानकारी के लिए आप EPFO के प्रोटॉल को देखे।

PF अकाउंट से पैसे कब Nikal सकते है?

EPF से पूरा पैसा  तभी निकला’ जा सकता है जब कर्मचारी का उम्र  55 साल का हो गया हो और वह रिटायर हो गया हो.या कोई मेडिकल इमरजेंसी हो,सादी हो, कोई home लोन हो,या बच्चो के उच्च शिक्षा के लिए पैसे की जरूरत हो. तभी कोई कर्मचारी EPF से पैसे निकाल सकता है.

EPFO (Employees’ Provident Fund Organization) का एक नियम है जिसमे आप रिटायर के एक साल पहले आप अपना 90% PF का पैसा निकल सकते है.

अगर आप रिटायर से पहले ही बेरोजगार हो गाइये है और आप के पास नौकरी  नहीं तो आप अपने pf का पैसा निकल सकते है. बेरोजगरी के एक महीने बाद आप 75% पैसा pf से Nikal सकते है.बकया राशि जब आपका जब लग जाता है तब आप के pf अकॉउंट में भजे दिया जाता है.

कब और कैसे? Kitna PF निकाल सकते है जाने।

 

PF nikalne ka Rules

इस लेख में आप समझगें पुराना पीएफ कैसे निकाले?

For Requirements

(आवश्यकताओं के लिए)

Total working days

(कुल कार्यदिन)

Requirement Amount

(आवश्यकताएँ राशि)

 

 

Remarks

(टिप्पणियां)

 

यदि आपको को घर खरीदना हो और घर निर्माण करना हो

पांच साल तक लगातार जॉब करते होना चाहिए।

जो राशि आप निकला चाहते हो वह आपके सैलरी का 36 गुना या 24 गुना’हो सकता है.

24  गुना -जब आप प्रॉपटी ख़रीदते है।

36 गुना जब आप प्रॉपटी ख़रीदते और बनवाते है।

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है। 

होम लोन का क़िस्त पेमेंट

तीन साल तक कर्मचरी को लगातार जॉब में होना चाहिए

कुल जमा राशि का 90% निकाल सकते है.

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है। 

घर का repair करना हो।

जब कर्मचारी का घर बना होगा उस Date के बाद कर्मचारी लगतार 5 साल तक जॉब में होना चाहिए

आपके सैलरी का 12 गुना पैसे ही  निकल सकते है.

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है।

मेडिकल इमरजेंसी के लिए

कार्यदिन का शर्त नहीं है. कर्मचारी का सैलरी का 6 गुना पैसा

या pf खाते में ब्याज का पैसा +कर्मचारी का जमा पैसादोनों में जो कम होगा वह राशि निकली जा सकती है.

पैसे निकले का आवेदन अधिकार केवल pf खाताधारक और उसके पति /पत्नी का होता है।

बच्चो का शादी के लिए

कर्मचारी को 7 साल तक लगातार जॉब में होना चाहिए। ब्याज का पैसा +कर्मचारी का जमा पैसा का 50% निकाल सकते है.

pf अकाउंट होल्डर और उसके भाई बहन पैसे निकाल सकते है.

 

EPF भविष्य का सबसे सुरक्षित investment कैसे है?

EPF (Employee Provident Fund) भारतीय सरकार द्वारा दी जाने वाली एक वित्तीय सुविधा है जो भारतीय कर्मचारियों को भविष्य के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है। ये सुविधा सरकारी और गैर सरकारी कंपनी में काम कर रहे लोगो को दी जाती है। यह भविष्य के लिए एक सुरक्षित निवेश विकल्प माना जाता है। क्यों की इसका उद्देश्य र्मचारियों को भविष्य के लिए निधि प्रदान करना होता है।


EPF के लाभ:

1. सुरक्षित निवेश:- यह सुरक्षित निवेश का विकल्प माना जाता है क्यों की इस निवेश में भारतीय Government direct involve रहती है. जिस से PF का पैसा सुरक्षित माना जाता है

2. ब्याज: PF पर प्रत्येक साल interest मिलता है जो 7.5% या 8.5% इसके आस पास हो सकता है। जिस से निवेश का मूल्य बढ़ता है।


3. अधिकरणीयता: EPF में निवेश किए कुल पैसे एक निश्चित समय अंतराल में ही निकाल सकते है। जिसे आप का निवेश सुरक्षित हो जाता हैऔर लम्बे समय में बड़ा अमाउंट मिलता है। यह एक लंबे समय वितरण योजना है जिससे धीरे-धीरे धन का निकाला जा सकता है।

4. कर लाभ: EPF में निवेश करने पर कुछ कर लाभ मिल सकता है यह आयकर कानून के अंतर्गत आने वाले कुछ छूट के साथ आता है।

याद रखें कि EPF को भविष्य के लिए सुरक्षित निवेश विकल्प माना जाता है, लेकिन ये आप के वित्तीय लक्ष्यों,निवेश की अवधि और रिस्क पर depend करता है।

 

For More information 

Mobile se Pf kaise nikale Stepwise smjhe pf kaise nikale

FAQ

1.क्या हम ईपीएफ ऑफलाइन निकाल सकते हैं?

हाँ आप EPF से अपना पैसा ऑफलाइन  निकाल  सकते है इसके लिए आपको अपने नजदीकी EPFO के ऑफिस में जाना पड़ेगा।
वहां पे आप आधार और गैर आधार विधि द्वारा PF Nikale का आवेदन कर सकते है।

2.पीएफ का पूरा पैसा कैसे निकाल सकते हैं?

PF Nikalne के लिए सबसे पहले ऑनलाइन EPFO के वेबसाइट से लॉगिन करना होगा  फिर ऑनलाइन सर्विसेज पेज  पे जा कर One Member-One EPF Account (Transfer Request) को select करे.
अगर आप दो महीने से ज्यादा दिन तक बेरोजगार है तो फॉर्म 19 भरकर पूरा PF निकले का आवेदन दे सकते है. इसे किये 10 से 15 दिन का टाइम लग सकता है.
अगर आप का सभी document ठीक है तो आसानी से पैसा आप के आकउंट में आ जाइएगा। 

3.पीएफ का पैसा कितने दिन में आ जाता है?

pf Nikalne का आवेदन करने के बाद 15 से 20  दिन में आप का पैसा आप के अकाउंट में आ जाता है। कोई मेडिकल इमरजेंसी हो तो advance PF के लिए अप्लाई कर सके है

4.साल में कितनी बार पीएफ निकाल सकते हैं?

अपने बच्चो की पढ़ाई के लिए केवल 3 बार पैसे निकल सकते है। अगर घर या प्रॉपटी ले रहे है तो सिर्फ एक बार pf nikal सकते है।

5.नौकरी छोड़ने से पहले मैं अपना पीएफ कैसे निकाल सकता हूं?

हां जब आप नौकरी छोड़ रहे हो
उससे पहले आप Pf Nikal सकते  हो या फिर अपने Pf में जमा राशि को नई कंपनी स्थानांतरित करने के लिए आवेदन कर सकते है। या आप ऑनलाइन फॉर्म 19 भर कर पैसे withdrawal के लिए अप्लाई कर सकते है।

SIP Kya Hai?

 

SIP Kya Hai? in Hindi

परिचय (Introduction)

क्या आप एक ऐसा बेहतर निवेश उपाय ढूंढ़ रहे हैं जो आपकी आय को बढ़ाने के साथ-साथ आपकी निवेश को भी सुरक्षित बनाए रखे? अगर हां, तो SIP आपके लिए एक सुनहरा मौका दे सकता है। SIP (Systematic Investment Plan) एक ऐसी निवेश है जो नियमित रूप से निवेशकों को अपनी आय का कुछ हिस्सा निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है।आज के technology की इस दुनिया में बहुत से ऐसे लोग जो अपने पैसे को निवेश तो करना चाहते है लेकिन उनको पता नहीं है।की पैसे को कैसे निवेश किया जाइये। और कहा निवेश किया जाइये तो आइये आज हम जानते है एक नये निवेश का तरीका जिसका नाम है SIP है।आखिर SIP Kya Hai? यह कैसे काम करता है?

क्या आपको पता है की आप अपनी आय को save करते हुए आप अपनी investment स्टार्ट कर सकते है. और अपनी सपनो को पूरा कर सकते है अगर हां, तो आपके लिए SIP (सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) एक बेहद उपयोगी निवेश विकल्प हो सकता है।SIP एक investment strategy है जहां पर आप एक नियमित अंतराल पर निवेश करते है. यह आपको छोटे amount और बड़े amount से इन्वेस्ट करने का मौका देता है. यहां आप weekly, Monthly, Quarterly या फिर Yearly इन्वेस्ट कर सकते है.

SIP Kya Hai?  विस्तार से जानिए”

बहुत से लोगो को पता नहीं होगा की SIP Kya Hai? और यह कैसे काम करता है?ये सवाल सभी नये इन्वेस्ट के मन में आता है.SIP का मतलब होता है systematic investment plan इसके माध्यम से Asset Management Company (AMC) अपना फण्ड लॉन्च करती है और छोटे और बड़े  निवेश उस फण्ड में निवेश करते है.SIP के माध्यम से Asset Management Company (AMC) आम जनता,छोटे और बड़े निवेशको का पैसा स्टॉक मार्किट में अपने फण्ड के माध्यम से इन्वेस्ट करती है और उनके पैसे को manage करती है.और  फण्ड को  मैनेज करने  लिए एक नॉर्मल चार्ज  लेती है.,जिसे आप कमिशन  भी बोल सकते हो.इस तरह SIP काम करता है. अलग अलग Asset Management Company (AMC) और फण्ड का चार्जेज अलग अलग हो सकता है।

Top Asset Management Company (AMC) जिसमे आप SIP कर सकते है।

1 एसबीआई फण्ड व्यवस्थापक (SBI फंड)

2 हेडज फंड व्यवस्थापक (HDFC फंड)

3 आइसीआईसीआई प्रूडेंशियल फंड व्यवस्थापक (ICICI प्रूडेंशियल फंड)

4 आडिटलवाइजर फंड व्यवस्थापक (Aditya Birla सनलाइफ फंड)

5 कोटक महिंद्रा फंड व्यवस्थापक (Kotak Mahindra फंड)

6 टाटा व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड व्यवस्थापक (Tata व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड)

7 एचडीएफसी स्टैंडर्ड चार्टर्ड फंड व्यवस्थापक (HDFC स्टैंडर्ड चार्टर्ड फंड)

8 कानन व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड व्यवस्थापक (Kotak व्यापारिक वित्तीय सेवा फंड)

9 डीएचएफसी प्रूडेंशियल फंड व्यवस्थापक (DHFL प्रूडेंशियल फंड)

10 एक्सल फंड व्यवस्थापक (Axis फंड)

यहां AMC का लिंक है जहा पे आप जा कर इनके बारे में ज्यादा Information ले सकते है..

https://www.sbimf.com/mutual-fund/equity-mutual-funds

https://www.hdfcfund.com/

SIP Kya Hai? जाने कैसे अपनी आर्थिक और वित्तीय लक्ष्य को पा सकते है SIP द्वारा।

SIP में इन्वेस्ट करने के 5 Most लोकप्रिय तरीका

 Regular SIP (नियमित एसआईपी)

नियमित एसआईपी के द्वारा जब आप SIP करते है तो आप को लम्बे समय तक या एक निचित समय तक SIP कर सकते है. आप नियमित रूप से Weakly monthly, या Yearly SIP कर सकते है. जो भी फण्ड का आप चुनाव करते है उस फण्ड में एक निचित राशि इन्वेस्ट करते है।

1.Regular SIP (नियमित एसआईपी) द्वारा जिनते पैसे का sip ओपन किया है बाद में अमाउंट चेंज नहीं कर सकते है. आपको लगातर उतने’ पैसे निवेस्ट करने पड़ेगे। ये amount per month, per weak, या फिर yearly हो सकता है.

2. Flexible SIPS (फ्लेक्सी एसआईपी)

Flexible SIP जब आप करते है तो इसमें आप एक निचित amount से SIP स्टार्ट करते है इस SIP के माध्यम से आप को लगता की अभी SIP में पैसे कम डालने चाहिए तो कम कर सकते है. या बढ़ा सकते है इसलिए इसे Flexible SIP कहा जाता है. इसमें आप का बहुत ज्यादा नियंत्रण होता SIP पर।

3. Top-up SIPS (टॉप-अप एसआईपी)

जब आप टॉप-अप एसआईपी स्टार्ट करते है तो इस SIP के माध्यम से आप को अनुमति दी जाती है की आप अपने SIP के अमाउंट changes कर सकते है. एक निचित समय अंतराल बाद SIP के अमाउंट पैसा जोड़ सकते है। इसे ही Top-up SIP (टॉप-अप एसआईपी) कहा जाता है.

4. Trigger SIPS (ट्रिगर एसआईपी)

Trigger SIP (ट्रिगर एसआईपी) निवेश का एक ऐसा तरीका है जहाँ पे आप मार्किट का Wait करते है. जब NAV एक निचित स्तर पर आता है तब आप इन्वेस्ट करते है. इससे Trigger SIP (ट्रिगर एसआईपी) कहा जाता है.

5. Perpetual SIP (सतत एसआईपी)

Perpetual SIP (सतत एसआईपी) निवेश का एक ऐसा तरीका है जिस में निवेसक जितना चाहे उतने लम्बे समय तक इन्वेस्ट कर सकता है. यह निवेशक तैय करता है की उसको कब sip रोकनी है. जब लगता निवेशक को की अब सिप रोक देना चाहिए तब निवेशक फण्ड हॉउस को निर्देश देकर रोक सकता है.ये 5 पॉइंट से आप समझ गाइये होंगे की SIP Kya Hai? कैसे काम करता है?

SIP के लाभ और हानि 

SIP के 8 Most Important लाभ

1)Rupee cost averaging (रुपये की औसत लागत) की सुबिधाप्रदान करता है: –
इसका मतलब है कि जब आप निवेश करते हैं, तो यह आपको बाजार के माध्यम से निवेश की औसत मूल्य की खरीदारी करने की अनुमति देता है। इससे आपका investment Average हो जाता है. और आपका Return बढ़ हो जाता है.

2)Regular निवेश की आदत: –
यह नियमित investment की आदत को प्रदान करता है. जिससे से आपका इन्वेस्टमेंट बढ़ जाता है और Profit भी बड़ा दिखाइए देता है. और आपको नियमित SIP करते रहने को प्रेरित करता है.  यह नियमितता को बनाए रखने में मदद करता है और वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है।

3)मार्केट वोलेटिलिटी (Market Volatility) को नियंत्रित करना: –
जब आप निवेश करना स्टार्ट करते है तो मार्किट में कई बार Volatility बहुत ज्यादा होता है उस समय पर SIP चलता (Continue) होता है जिसे हम रोकते नहीं है. इससे हमरा पोर्टफोलियो Average हो जाता है. और हमारे इन्वेस्ट पर कोई बड़ा असर नहीं होता है. जिसे मार्केट वोलेटिलिटी (Market Volatility) control में होता है और प्रॉफिट ज्यादा होता है.

4)SIP Easy सुबिधा देता है: –
SIP में’आपको निवेश करने के लिए बड़ी राशि की जरुरत नहीं पड़ती है, बल्कि छोटे-मोटे निवेशों के माध्यम से बचत कर के sip लम्बे समय तक चला सकते है। यह नये छोटे और बड़े निवेशकों के लिए एक आसान और सुलभ निवेश के विकल्प प्रदान करता है. ये आपको flexibility प्रदान करता है, आप चाहे तो weekly, Monthly, yearly SIP स्टार्ट कर सकते है. इससे आप समझ सकते है की SIP kya hai? और कितना आसान है इन्वेस्ट करना

5)निवेश seriousness: –
जब आप एक बार SIP स्टार्ट कर लेते है तो आप अपने पोर्टफोलियो हर दिन बार बार ट्रैक करने की जरूरत नहीं होती है और जो amount का आप SIP स्टार्ट करा रखा है उतने पैसे आपके बैंक अकाउंट से SIP का जो डेट set होगा उस डेट पे Amount कट हो जाइएगा जिस से आपके नियमित निवेश करने की एक आदत सी हो जाती है इससे लम्बे समय में आप को अच्छा Return मिलता है.

6)समय की बचत: –
SIP आपको समय बचत की सुविधा प्रदान करता है। आपको निवेश करने के लिए अलग-अलग टाइम Frame प्रदान करता है. जिसमे आप अपने अनुसार निवेश करते है. आप अपने आय के आधार पे निवेश करते है. और यह आपको समय के साथ स्थिर और नियमित रूप से निवेश की आदत डालने में मदद करता है।

7)आर्थिक सुरक्षा: –
SIP आपको आर्थिक सुरक्षा की सुविधा प्रदान करता है। इसके माध्यम से आपका निवेश विभिन्न सेक्टर में होता है. जो आपके risk को कम कर देता है जीस से आपकी इन्वेस्ट को और आपको एक आर्थिक सुरक्षा प्रदान करता है.

8)लंबे समयावधि में बचत: –
SIP का एक अधिक महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह आपको लंबे समयावधि में बचत करने का अवसर प्रदान करता है। इसके माध्यम से आप धीरे-धीरे निवेश करते हैं और वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करते है. यह आपको लम्बे समय में एक अच्छा Return देता है. जिससे आप अपने Financial प्लान को successful कर सकते है। यह आपको दीर्घकालिक निवेश योजना बनाने में और Financial स्थिरता की सुरक्षा करने में मदद करता है।

SIP के 4 हानिया जिसे जानें

1)बाजार की उछाल: –
निवेश को ये बात पता होना चाहिए किये की जब स्टॉक मार्किट volatile होता है तब आपका फण्ड भी बहुत ज्यादा volatile होता है. जिसे से आप का फण्ड कभी ज्यादा profit तो कभी कम profit तो कभी negative Return दिखाई देता है. एक सामान Return दिखाई नहीं देता है. इसके वजह से आपको नुकसान हो सकता है।

2)निवेशकीय नीतियों की अवहेलना: –
अगर आप अपने नीतियों पर, फण्ड के नियम के अनुसार और आप अपने वित्तीय लक्ष्य अनुसार इन्वेस्ट नहीं करेंगे तो नुकसान होगा.

3)Emergency फण्ड: –
अगर निवेश के पास emergency फण्ड नहीं और तो उसे अचानक आपातकालीन आवश्यकताओं के समय निवेश निरस्त करने की जरूरत हो सकती है।इसके वजह से आपको नुकसान हो सकता है. इसलिए इमरजेंसी फण्ड पहले से रखना चाहिए

4)निवेश उद्देश्य की अस्पष्टता:
समय के साथ निवेशक के लक्ष्य और आवश्यकताएं बदल सकती हैं इस लिए आप को अपना उद्देश्य स्पष्ट होना चाहिए। ताकि आप का जो वित्तीय लक्ष्य पूरा हो सके आप के SIP से।

लम्प सम इन्वेस्टमेंट (Lump Sum Investment) SIP Kya Hai?

इस मेथड में सिंगल payment करते है इसमें एक साथ अपने वित्तीय लक्ष्य के हिसाब और अपने रिस्क के हिसाब से Lump Sum amount invest करते है। इस मेथड में अमाउंट फिक्स नहीं होता है आप के पास जब भी पैसा होता और आप इन्वेस्ट करना चाहते है तो आप इन्वेस्ट कर सकते है

Lump Sum SIP के लाभ और हानि

1)संभवतः उच्च रिटर्न मिल सकता है.
2)मार्किट को टाइम करने की आवश्यकता नहीं है
3)जितना जल्दी हो आप पैसे को काम पे लगा सकते है.
4)इसमें ये भी possible की की आप अपने SIP को लगातर नहीं चला सकते.
5)Return कम मिल सकता है.
6)आप flexible होते है कभी भी पैसे निकले के लिए जिससे आप का निवेशक और Target पूरा नहीं हो पता है.

SIP में Invest करने के दो Powerful एंड easy तरीका

SIP में निवेश दो तरह से कर सकते है.
1) Dement Account से SIP Start करना
2) Without(बिना) Dement से SIP Start करना

Dement Account से SIP Start कैसे करे ?

Dement Account से SIP में निवेश के लिए सबसे पहले आपके पास Dement account खोलना बहुत जरुरी होता है इसके माध्यम से आप SIP स्टार्ट कर सकते है और कभी भी स्टॉप कर सकते है Dement Account से किसी भी म्यूच्यूअल फण्ड में Direct निवेश कर सकते और कभी भी निकाल (Withdraw) सकते है और Dement Account से आप स्टॉक SIP और ट्रेडिंग दोनों कर सकते है.

Example: -Zerodha ,5Paisa, Upstox ये कुछ Discount brokers है जहा पे आप जा कर अपना Dement Account खोल सकते है.
Dement अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले आपको Document Required होगा
*आधार कार्ड (Aadhaar Card)
*पैन कार्ड (PAN Card),
*बैंक Account
*कैंसिल चेक
ये Document के साथ आसानी से आप ऑनलाइन अपना डेमेन्ट अकाउंट खोला सकते है और आसानी से 2 से 3 दिन में आपका अकाउंट खुल जाता है. फिर आप अपने Dement अकाउंट से म्यूच्यूअल फण्ड SIP, stock SIP, और स्टॉक की ट्रेडिंग भी कर सकते है.

डेमेण्ट अकाउंट खोलने के बाद म्यूच्यूअल फण्ड और अपनी SIP निवेश की राशि को चुनें:
एक बार जब खाता खुल जाता है, तो निवेशक को अपने अनुसार SIP फण्ड और amount चुन सकते है । फिर निवेशक अपनी Financial लक्ष्यों को धयान में रख कर अपने आय के आधार पर निवेश करना स्टार्ट कर सकते है ।

Zerodha एक reputed डिस्काउंट ब्रोकर है. जहां पे डेमेन्ट अकॉउंट ओपन करा सकते है: –

https://zerodha.com/?c=MA4243&s=CONSOLE

Without (बिना) Dement अकाउंट से SIP कैसे करे ?

Without (बिना) Dement अकाउंट से SIP करने के लिए आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी म्यूच्यूअल फण्ड के वेबसाइट जाकर अपना SIP  करा सकते है या किसी नजदीकी सब  ब्रोकर के पास जा कर अपना sip स्टार्ट करा सकते है.यहां  पे भी आपको सबसे पहले अकाउंट खोलना होगा इसके लिए  जरुरी Document की जरुरत होगी जैसी की आधार कार्ड,पेन कार्ड,बैंक अकाउंट पासपोर्ट साइज फोटों,
जब आप का अकाउंट खुल जाता है फिर आप अपने फण्ड का चयन करते है उसके बाद अपने रिस्क प्रोफाइल के अनुसार SIP स्टार्ट कर देते  है।और आप किसी experts की सलाह लेकर भी  निवेश स्टार्ट कर सकते है।

मोबाइल App से SIP करे।

बहुत से लोगो को ये पता नहीं है की SIP Kya Hai? क्या मोबाइल App से SIP कर सकते है? मोबाइल APP से SIP कैसे स्टार्ट करते है? इसके लिए सभी ब्रोकर और AMC का मोबाइल App होता जब आपका अकाउंट ओपन हो जाता है तो आप मोबाइल से SIP कर सकते है.मन लो की आप ने डीमेट अकाउंट से SIP स्टार्ट किया
उदाहरण के लिए अपने zerodhaडिस्काउंट ब्रोकर के साथ SIP स्टार्ट किया तो आप को एक App मिलेगा जिसका नाम Zerodha coin है। यहां पर आप सारा Details देख सकते है।आप का फण्ड कैसा perform कर रह है, अपने कितना इन्वेस्ट किया है, आप का SIP का अगला डेट क्या होगा,
ये सभी जानकारी आप को मोबाइल app पे मिल जाती है.

इसी तरह चाइये आप ऑनलाइन या ऑफलाइन SIP करते है आप को उस ब्रोकर का या Asset Management Company (AMC) का App मिल जाता है. जिसे आप आसानी से हैंडल कर सकते है. ये इन्वेस्टमेंट छोटे और बड़े दोनों निवेश के लिए बहुत आसान है अब आप समझ गये होंगे SIP Kya Hai? और कैसे काम करता है.

सही म्यूचुअल फंड का चुनाव 1 दिन करोड़ पति बना सकता है।

SIP स्टार्ट करने से पहले फण्ड का सही चुनाव करना बहुत जरुरी है. आइये जानते है कैसे इसका चुनाव करे सब से पहले आप का वित्तीय (Financial) लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए।अपने आये और financial के आधार पर अपना लक्ष्य सेट करना चाहिए। उसके बाद आप को शॉट टर्म या लॉन्ग के लिए इन्वेस्ट करना है ये पता होना चाहिए। रिस्क प्रोफाइल पता होना चाहिए। आप को कम रिस्क या जायदा रिस्क लेना है. अपने वित्तीय स्थिति देख कर अपनी रिस्क कैपेसिटी के आधार पर प्रोफाइल तय करें। ये सब जानकरी के आधार पे फण्ड का चुनाव कीजिये।

1 )फंड के परफॉर्मेंस को देखे
2 )फंड के नेट एसेट वैल्यू (NAV) देखे
3 )index के return के  साथ तुलना करें
4 )CAGR(compounded annual growth rate) चेक करे
5 )फण्ड मैनेजर को चेक करे उसका EXPRIANCE कैसा है ?और कब से काम कर रहा है?
6 )रेटिंग एजेंसी की रेटिंग जांच करे जिस फण्ड को आप खरीदना चाहते हो
7 )फण्ड का एग्जिट लोड चेक करे 1% या 1% से कम  हो तो अच्छा मन जाता है
8 )Expanse रेश्यो चेक करे ये भी 1 % से कम होना चाहिए
9 )लॉकिंग पेरिड्स चेक करे एक या दो इयर्स से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
10 )शार्प रेशियो-शार्प रेशियो चेक करे जीतना ज्यादा शार्प रेश्यो उतना ज्यादा जोखिम माना  जाता है.जितना कम उतना अच्छा मन जाता  है. शार्प रेश्यो 1 से 2 के बिच में होना चाहिए तो अच्छा मन जाता है.

नियमित रिटर्न के लिए एसआईपी जरुरी।

1)निवेश के लिए टारगेट सेट करे
2)लगातार निवेश करते रहे और अपने टारगेट को फ़ोकस करे
3)लंबे समय तक निवेश करे
4)अपने आवश्कता के अनुसार फण्ड चुने किसी के कहने पे  निवेश न करे पहले आप खुद से जांचे
फिर निर्नय ले। या अपने सलाहकर की मदत ले।
5)निवेश के लिए एक उच्चतम राशि चुने जिसे से आपका वित्तीय प्रॉब्लम शार्ट आउट हो सके.
6)अपने पोर्ट फ़ोलियो के चेक करते रहे जिस फण्ड में आपने  निवेश किया है उस फण्ड को  track करते रहना चाहिए।और ये देखना चाहिए  की इस       फण्ड में सब कुछ ठीक चल रहा है की नहीं।

जानिए SIP का असली राज क्या है? और common गलतफैमी 

निचे के ये 5 point से आप ये भी जान सकते है SIP Kya Hai? और SIP के positive और Negative पॉइंट क्या है?

1 )SIP केवल छोटे निवेशकों के लिए होता है।
वास्तविकता:-SIP में आज बड़े और छूटे निवेशक निवेश करते है यह छोटे और बड़े दोने के लिए सुरक्षित और प्रभावी निवेश का विकल्प है।
2) SIP कम  return देता है।
वास्तविकता:-आज SIP सबसे बेहतर Return दे रहा है अगर आप अच्छे फण्ड का निवेश करते है तो आप को सालाना 20% तक का भी Return  मिल सकता है.और यह fixed deposit ,LIC और अन्य सभी से बेहतर Return  देता है ,बस यहा आप को थोड़ी रिस्क लेनी पर सकती है
3)SIP से आप केवल एक फण्ड में निवेश कर सकते है।
वास्तविकता: SIP से आप अलग अलग सेक्टर में और अलग अलग फण्ड में निवेश कर सकते है। जिस से आप का पोर्टफोलियो Diversified हो जाता है और रिस्क कम  हो जाता  है।
4) SIP में निवेशक के लिए अधिक पैसे की आवश्कता होती है।
वास्तविकता: SIP करने ‘के लिए Minimum 100 रुपये से भी स्टार्ट कर सकते है. इस में छोटे और बड़े निवेश अपने आर्थिक स्थिति के अनुसार SIP कर सकते हैं।
5 SIP करना कठिन है।
SIP में निवेश करना बहुत ही सरल है। Account खोलने से लेकर SIP स्टार्ट करने तक सारा प्रोसेस बहुत आसान है. आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरह से स्टार्ट कर सकते है.

सारांश:Conclusion

अब आप समझ चुके है की SIP Kya Hai? यह कैसे काम करता है। इसके नुकसान, और फायदे, SIP एक आधुनिक और प्रभावशाली Investment का एक तरीका है. जी निवेश को अच्छा Return देता है. यह निवेशकों को नियमित रूप से निवेश करने और अच्छे रिटर्न प्राप्त करने का एक आसान और सुरक्षित तरीका है। जिस से आप अपनी आर्थिक आपूर्ति को को सुरक्षित बना सकते है. इसमें लम्बे समय तक निवेश कर आप बचत कर सकते है. जिस में आप को विभिन्न फंड में इन्वेस्ट का औसर मिलता है और इससे आप का रिस्क कम हो जाता है.
यदि आप सही फण्ड का चुनाव कर या किसी फण्ड मैनेजर’की सलाह पे इन्वेस्ट करते है तो आप अपने सपनो साकार कर सकते है. और करोड़पति बन सकते है. निवेश करने से पहले विभिन्न निवेश विकल्पों की जांच करें और पूरी तरह चेक करें ताकि आप सही फंड चुन सकें निवेश की योजना बनाएं और अपनी वित्तीय लक्ष्यों के अनुसार निवेश करें। तो आप आज ही निवेश करे’ और आप सफलता की ओर एक कदम आगे बढ़ा सकते है।

अंततः, ध्यान देनी की ये बात है की जब भी आप निवेश करे या निवेशक करना चाहते है तो सब से पहले आप अच्छी तरह अध्ययन करे ले या आपने सलाहाकर का सलाह लेकर ही इन्वेस्ट करे क्यों की इस में भी जोखिम है आप को नुकसान भी हो सकता है।

FAQ  लोगो के पूछे गए प्रश्न
4 https://wealthbazzars.com/wp-content/uploads/2023/06/cropped-2-2.png

SIP क्या है ?

SIP का मतलब होता सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान। जिसमें निवेशक नियमित अंतराल पर अपना पैसा लंबे समय तक लगता है और अपने वित्तीय लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए लागातर invest करता है.और फण्ड को होल्ड कर के रखता है जिस से उससे  लम्बे समय में अच्छा Return  मिलता है.
उदाहरण के लिए
1. किसी म्यूच्यूअल फण्ड के फण्ड में SIP कर सकते है.
2. किसी एक स्टॉक में SIP कर सकते है.
3. अपने अनुसाकर दो ,पांच ,या उससे अधिक कंपनी के स्टॉक में बास्केट बनाकर SIP कर सकते है.
बास्केट के लिए Smallcase App उसे कर सकते है https://www.smallcase.com/

SIP के लाभ Hindi me?

SIP (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) एक निवेश करने का तरीका है जो नियमित अंतराल पर निवेश करने का माध्यम प्रदान करती है। यह एक सुरक्षित और सुविधाजनक तरीका है वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए वरदान साबित हो सकता है.
नियमित निवेश:-SIP नियमित इन्वेस्ट करने का मौका देती है। आप नियमित तरीके से इन्वेस्ट कर आप अपने financial लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है.
सावधानीपूर्वक निवेश: -SIP आपको धीरे-धीरे निवेश करने की सलाह देती है। इसके माध्यम से, स्टॉक मार्किट के उच्च और निम्न रहने पर भी  आपका Return अच्छा मिल जाता है.
सामान्यज्ञान और सुविधाजनक: SIP आमतौर पर आसानी से उपलब्ध हो जाता है और निवेशकों को विभिन्न म्यूचुअल फंड्स और स्टॉक के बास्केट में निवेश करने की सुविधा प्रदान करता है।

क्या एसआईपी 5 साल के लिए अच्छा है?

एसआईपी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) की अवधि आपके निवेश के लक्ष्यों और आर्थिक स्थिति पर निर्भर करेगी। अगर आप को लगता की हमरा लक्ष्य पांच साल में पूरा हो जाइएगा तो आप पांच साल के लिए SIP कर सकते है. लेकिन आप को इतने कम समय में compounding का पूरा लाभ नहीं मिलेगा. 10 साल की SIP अच्छा माना जाता है

SIP कितने साल का होता है?

SIP (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) की निश्चितअवधि निर्धारित नहीं होती है।निवेशक अपनी पसंद और आवश्यकता के अनुसार एक या अधिक सालों तक SIP जारी रख सकते हैं। अधिकांश  निवेशक लंबे समय तक के लये SIP  करते है क्यों की SIP लंबे समय में मुनाफा देती है.

SIP कब लेना चाहिए?

किसी विशेष काम के लिए पैसे की जरूरत: यदि आपके पास किसी विशेष लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पैसे की आवश्यकता है, जैसे घर खरीदना, शिक्षा के लिए,बच्चो की शादी के लिए ,या आप अपने बचो को पैसे गिफ्ट देने हो तो आपको जल्दी से SIP शुरू करना चाहिए।
दैनिक निवेश की अनुभव : SIP आपको नियमितता का अभ्यास देता है और आपको निवेश करने के लिए अनुभव प्रदान करता है। इसलिए, यदि आप निवेश में अनुभवी नहीं हैं, तो जल्दी से SIP शुरू करने चाहिए।
लम्बे समय के लिए निवेश का प्लान: SIP लम्बे समय में निवेश करने के लिए एक अच्छा  विकल्प होता है। यदि आप लंबी अवधि में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो जल्दी से SIP शुरू करें ताकि आपको लंबी अवधि में बेहतर फायदे हो सके।
बाजार समयावधि: SIP का मुख्य उद्देश्य आप के पैसे को वृद्धि करना. बाजार में लम्बे सयम तक इन्वेस्ट कर के पैसे को compounding करना। इसके लिए SIP करना चाहिए।

क्या मैं एसआईपी में प्रति माह 500 का निवेश कर सकता हूं?

हाँ, आप एसआईपी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में प्रति माह 500 का निवेश कर सकते हैं। आप चाहे तो 100, Wekly, Monthly देकर आप SIP स्टार्ट कर सकते है.

SIP करते समय क्या करना चाहिए?

1.निवेश के लिए लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए।
2.अपने रिस्क प्रोफ़ाइल का आकलन करना चाहिए।
3.निवेश करने का समय अंतराल निर्धारित करना चाहिए ।
4.निवेश राशि का निर्धारण करना चाहिए ।
5.अपने निवेश स्कीम का चयन करना चाहिए और निवेश सलाहकार की मदद लेना चाहिए।
6.नियमित निवेश का पालनकरना चाहिए करें।
7.अपने इन्वेस्टमेंट को की निगरानी करना चाहिए।

क्या मैं 6 महीने तक एसआईपी कर सकता हूं?

हाँ,आप 6 महीने के लिए भी SIP कर सकते है लेकिन इस में आपको कुछ लाभ या हानि हो सकता है. लेकिन SIP में ऐसा माना जाता है अगर आप दो साल से ज्यादा के लिए SIP करते है तो आप को अपने इन्वेस्टमेंट पर 15% से 20% तक का मुनाफा हो सकता है या फिर उसके आस पास का Return मिल सकता है. इस लिए आपके निवेश के लक्ष्य, आर्थिक स्थिति और आपकी वित्तीय योजना के आधार पर निर्धारित करें। लम्बे समय तक।

मैं एसआईपी से पैसे कैसे निकाल सकता हूं?

SIP से पैसे निकला बहुत आसान है , आप जब किसी भी AMC में या डेमेन्ट अकाउंट से SIP करते है। तो आप को एक APP मिलता है जिस से आप आसानी से पैसे निकाल सकते है

एसआईपी में मुझे प्रति माह कितना निवेश करना चाहिए?

SIP से आप को प्रति माह कितना निवेश करना चाहिए?ये आपके के,चार पॉइंट पे डिपेंड करता है.
1. वित्तीय लक्ष्य
2.आर्थिक स्थिति:
3.निवेशकीय प्रोफ़ाइल:
 4.बचत की समयावधि

अगर मैं 20 साल के लिए एसआईपी में 1000 रुपये का निवेश करूं तो क्या होगा?

यदि आप 20 साल के लिए हर माह एसआईपी करते है तो आप को एक बढ़ी हुई राशि मिलेगी. ये राशि आपके फण्ड के performance पे निर्भर करता है की आप किस तरह के फण्ड में SIP किया है.
उदहारण :- आप 1000 रुपए 20 साल तक एक अच्छे फण्ड में SIP करते हो अगर वह फण्ड सालाना 15% का Return देता है तो आपको 20 साल बाद
Rs. 1515955 (15.2 Lakhs) मिल सकता है या इससे भी अधिक मिल सकता है.
Amount Invested Rs. 240000 (2.4 Lakhs)
Wealth Gain Rs.1275955 (12.8 Lakhs)
Expected Amount Rs.1515955 (15.2 Lakhs)
SIP calculate करने के लिए इस लिंक पे क्लिक करे
https://sipcalculator.in/

एसआईपी के नुकसान क्या हैं?

1.निवेश पर मार्केट मूवमेंट का प्रभाव हो सकता है जिसे से आपका फण्ड negative या कम Return दे सकता है
2.किसी किसी फण्ड निवेश की अवधि होती है या लॉकिंग टाइम period होता है. अगर उस टाइम period से पहले फण्ड निकले हो तो आप को कुछ पेनल्टी भी देनी पड़ सकती है
3.स्टॉक मार्किट में negative न्यूज़ होना :-इस से शार्ट टर्म में आप के SIP में लॉस हो सकता लेकिन लम्बे समय में इसका असर कम हो जाता है.
4.अच्छे स्किम में इन्वेस्ट न करना :-यदि आप गलत या असामयिक स्कीम में निवेश करते हैं, तो आपको नुकसान हो सकता है। इस लिए फण्ड लेने से पहले आप अच्छी तरह समझ ले या आपने सलाहकर की सलाह ले. अन्यथा आपको नुकसान हो सकता है.

क्या एसआईपी 5 साल के लिए अच्छा है?

एसआईपी (सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) की अवधि आपके निवेश के लक्ष्यों और आर्थिक स्थिति पर निर्भर करेगी। अगर आप को लगता की हमरा लक्ष्य पांच साल में पूरा हो जाइएगा तो आप पांच साल के लिए SIP कर सकते है. लेकिन आप को इतने कम समय में compounding का पूरा लाभ नहीं मिलेगा. 10 साल की SIP अच्छा मन जाता है.

SIP  से कितना रिटर्न मिलता है?

1.ये आप के निवेश और बाजार की चाल पे निर्भर करता है.
2.आपने कौन सा फण्ड चुना है निवेश के लिए ?
3.निवेश की अवधि क्या है?
4.स्टॉक बाजार की प्रवृत्ति मार्किट कंडीशन क्या है जब आप इन्वेस्ट कर रहे हो?
5.आप की निवेश की मात्रा क्या है?
 
 
For more information about me and my YouTube blog

https://youtu.be/dmXAo6Cnnuo?t=216

शेयर मार्किट से कमाना बहुत आसान है ? Zomato share price target 2024,2025 ,2026 ,2027,2028 ,2030 ,2040 ,2045 ,2050, 2055 to 2060 Tata Motors के शेयरों में कटौती, Maruti Suzuki के स्टॉक में बढ़ोतरी, अगस्त बिक्री डेटा का असर।